शुक्रवार, 6 सितंबर 2013

ज्यादा पैसा इंसान को बना देता है पागल !


सैक्रामेटो। सच ही कहा है कि पैसा इंसान को पागल बना देता है, दरअसल धनी व्यक्ति ज्यादा तंगदिल, कंजूस, व्यक्तिवादी, भौतिकवादी बन जाता है। जिससे वह समाज और परिवार से कट जाता है और खुद की रंगीन दुनिया में अकेला रह जाता है। कैलिफोर्निया की बर्कले यूनिवर्सिटी के दो प्रोफेसरों ने अपने शोध में इस बात का खुलासा किया है कि अमीर व्यक्ति तंगदिल, कंजूस होता है और वह वक्त पर दूसरों की मदद करने में विश्वास नहीं रखता। उसके लिए परिवार की थोड़ी बहुत महत्ता तो होती है, लेकिन उसकी परिभाषा से समाज सिरे से गायब हो जाता है। शोध के अनुसार जब इंसान अमीर बन जाता है तो उसे दूसरों की परेशानियां दिखनी बंद हो जाती हैं और वह खुद में व्यस्त हो जाता है।
ग्रेटर गुड साइंस सेंटर के निदेशक और बर्कले यूनिवर्सिटी में मनोविज्ञान के प्रोफेसर दाशे केल्नर और विकासात्मक मनोविज्ञान की प्रोफेसर पैटि्रशिया ग्रीनफील्ड ने अपने शोध के जरिए यह बताया है कि किस तरह से लोगों की नजर अमीर होने पर बदल जाती है। इस शोध के तहत पैट्ररशिया ने मेक्सिको के एक गांव शियापास का 40 साल तक अध्ययन किया और साथ ही उन्होंने गूगल पर कई लाख किताबों का अध्ययन करके यह पता लगाने की कोशिश की किस तरह अमीरी आने से लोगों की शब्दावली भी बदल जाती है।


इस शोध से पता चला कि मेक्सिको के शियापास गांव के लोग जब गरीब थे तो वे सामुदायिक कार्यक्रमों का आयोजन करते थे और उसमें हिस्सेदारी लेते थे। पैटि्रशिया ने कहा कि जब इस गांव के लोग अमीर हो गए तो वहां के लोगों में व्यक्तिवाद की भावना बढने लगी और उनका सामाजिक बंधन धीरे-धीरे कमजोर पड़ने लगा। पैटि्रशिया के मुताबिक अमेरिका में भी यही बदलाव आया है।  sabhar :http://khabar.ibnlive.in.com/

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

कोरोना में सफलता की कहानी:15 हजार से शुरू किया था कारोबार, IT कंपनी खड़ी की, अब अमेरिका के 3.5 लाख करोड़ टर्नओवर वाले ग्रुप में शामिल

(गीतेश द्विवेदी) कोविड दौर में आईटी सेक्टर से बड़ी खबर आई है। इंदौर की आईटी कंपनी नार्थआउट को अमेरिका के बड़े ग्रुप एचआईजी की सहयोगी कंपनी ईज ...