गुरुवार, 8 दिसंबर 2011

42 साल पहले बनाई थी भविष्य की कार, अब आई दुनिया के सामने




नई टेक्नोलॉजी प्रदर्शित करने के लिए कार निर्माता कॉन्सेप्ट कार बनाते हैं। इनमें से कुछ का निर्माण शुरू हो जाता है और कुछ पैक कर रख दी जाती हैं। कुछ भी हो दुनिया को भविष्य की एक झलक देखने को मिल जाती है।



ऐसी ही एक कार है ‘होल्डेन्स हरीकेन’। 42 साल पहले मेलबर्न में इसे प्रदर्शित किया गया था, अब एक बार फिर मेलबर्न मोटर शो में इसे देखा जा सकता है। इसमें जो टेक्नोलॉजी दिखाई गई थीं, वे आज कारों के लिए स्टैंडर्ड मानक बन गई हैं। इसमें डिजिटल डिस्प्ले, मैग्नेटिक जीपीएस सिस्टम, रियर-व्यू सीसीटीवी कैमरा और हाइड्रोलिक दरवाजे लगे हैं। हाइड्रोलिक प्लेट्स के जरिए पूरी छत ऊपर उठ जाती है।



जनरल मोटर्स का एक सब डिवीजन था होल्डेन। उन्होंने इस कार का इंजन भी भविष्य के लिहाज से बनाया था। इसमें 259 एचपी का 4.2 लीटर होल्डेन वी8 इंजन लगाया गया था।



कार में कम्फरट्रॉन एयर कंडीशनिंग सिस्टम और ऑटो-सीक रेडियो लगा था, जिसे बटन घुमाकर ट्यून नहीं करना पड़ता था। पाथफाइंडर जीपीएस सिस्टम में चमकता हुआ तीर ड्राइवर को बताता था कि किस तरफ मुड़ना है और एक बजर आने वाले दोराहे की चेतावनी देता था। sabhar: bhaskar.com
 
 
 
 
 
 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

कोरोना में सफलता की कहानी:15 हजार से शुरू किया था कारोबार, IT कंपनी खड़ी की, अब अमेरिका के 3.5 लाख करोड़ टर्नओवर वाले ग्रुप में शामिल

(गीतेश द्विवेदी) कोविड दौर में आईटी सेक्टर से बड़ी खबर आई है। इंदौर की आईटी कंपनी नार्थआउट को अमेरिका के बड़े ग्रुप एचआईजी की सहयोगी कंपनी ईज ...