शुक्रवार, 25 नवंबर 2011

पाकिस्‍तान में जमात ने सरे आम किया तिरंगे का अपमान, भारत के खिलाफ उगला जहर

पाकिस्‍तान में जमात ने सरे आम किया तिरंगे का अपमान, भारत के खिलाफ उगला जहर




इस्‍लामाबाद. पाकिस्‍तान में सरकार ने आतंकियों को भारत के अपमान की खुली छूट दे रखी है। मुंबई हमलों के आरोपी पाकिस्‍तान स्थित आतंकी संगठन जमात-उद-दावा भारत को सबसे तरजीही देश (मोस्‍ट फेवर्ड नेशन-एमएफएन) का दर्जा दिए जाने के पाकिस्‍तानी सरकार के फैसले के विरोध में लगातार रैली कर रहा है।
पाकिस्‍तान के कई शहरों में आयोजित की गई रैलियों को संबोधित करते हुए जमात के नेताओं ने मंच से खुलेआम भारत के खिलाफ जहर उगला। प्रदर्शनकारियों ने भारत विरोधी नारे लगाए, तिरंगे जलाए और भारत के राष्‍ट्रीय ध्‍वज को जूतों से कुचला। पुलिस मूकदर्शक बनकर तमाशा देखती रही। 
 
स्‍थानीय अखबारों के मुताबिक जमात के नेताओं ने कहा, ‘भारत को एमएफएन का दर्जा देना हजारों बेगुनाह कश्‍मीरियों की शहादत का अपमान है। भारत में निर्दोष कश्‍मीरी मुसलमान मारे गए और ऐतिहासिक बाबरी मस्जिद ढहा दी गई। ऐसे में पाकिस्‍तान को भारत के साथ सिर्फ नफरत, बदला और बुलेट का रिश्‍ता रखना चाहिए।’
 
हैरत की बात है कि उसी आतंकी संगठन ने यह रैली पाकिस्‍तानी सरकार की नाक के नीचे किया, जिसे 2008 में हुए मुंबई हमले का जिम्‍मेदार बताया जा रहा है। यह रैली ऐसे समय हुई जब इस आतंकी हमले को तीन साल पूरे होने जा रहे हैं। ऐसी खबर है कि लाहौर में हुई इस रैली में हिस्‍सा लेने के लिए आसपास के गांवों के किसानों को 2 से 5 हजार रुपये देने का लालच तक दिया गया।

गुरुवार को हुई इस रैली में जमात-उद-दावा के समर्थन में पाकिस्‍तान के अन्‍य धार्मिक और राजनीतिक संगठन के सदस्‍यों ने भी हिस्‍सा लिया। रैली में पहुंचने से पहले लोगों ने आजादी चौक से नसीर बाग तक इस्‍तकाम-ए-पाकिस्‍तान कारवां में हिस्‍सा लिया।
 
नसीर बाग में रैली में संबोधित करते हुए जमात के नेता मौलाना अब्‍दुल रहमान मक्‍की ने कहा कि यदि भारत को सबसे पसंदीदा देश का दर्जा देने के फैसले को वापस नहीं लिया गया तो पाकिस्‍तान की अवाम का गुस्‍सा और बढ़ेगा। जमात नेता ने आरोप लगाया कि भारत व्‍यापारियों की आड़ में भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के एजेंटों को पाकिस्‍तान में भेजने की कोशिश में है।
 
जमात के एक अन्‍य नेता अमीर हमजा ने कहा कि जमात प्रमुख हाफिज मोहम्‍मद सईद ने कश्‍मीर के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी को भरोसा‍ दिया है कि जमात-उद-दावा भारत को एमएफएन का दर्जा दिए जाने के किसी भी कदम का विरोध करेगा।
 
रैली में मौजूद जमात के नेताओं ने पाकिस्‍तान में पानी की कमी के लिए भी भारत को ही जिम्‍मेदार ठहराया। हमजा ने कहा, ‘पंजाब की नदियों का पानी रोककर पाकिस्‍तान को बंजर बनाने की इजाजत हम भारत को नहीं देंगे। पाकिस्‍तान के बेवकूफ नेता भारत को इन नदियों का पानी रोकने की इजाजत देकर भारत से महंगे दर पर बिजली खरीदने जा रहे हैं।’    sabhar : bhaskar.com

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

कोरोना में सफलता की कहानी:15 हजार से शुरू किया था कारोबार, IT कंपनी खड़ी की, अब अमेरिका के 3.5 लाख करोड़ टर्नओवर वाले ग्रुप में शामिल

(गीतेश द्विवेदी) कोविड दौर में आईटी सेक्टर से बड़ी खबर आई है। इंदौर की आईटी कंपनी नार्थआउट को अमेरिका के बड़े ग्रुप एचआईजी की सहयोगी कंपनी ईज ...