सोमवार, 12 सितंबर 2011

प्रयोगशाला में हुआ कृत्रिम मस्तिष्क कोशिका का निर्माण

वैज्ञानिकों ने पहली बार मस्तिष्क कोशिका की तरह कार्य करने वाली कृत्रिम प्रणाली का निर्माण किया है | यह एक प्रकार का तंत्रिकाओं के बीच का जोड़े है , जिससे होकर विभिन्य तरंग या रासायनिक सन्देश एक तंत्रिका से दुसरे तक गुजरते है | वैज्ञानिको ने इसी जोड़े का निर्माण किया है | इसे मस्तिष्क कोशिका कहा जा सकता है | यूनिवर्सिटी आफ कैलिफोर्निया वितर्बी स्कूल ऑफ इंजीनियरिग के प्रोफ़ेसर एलिस पारकर और चोंग बो झु ने कृत्रिम कोशिका का निर्माण करने के लिए तंत्रिकाओ को जोड़ने वाली डिजाइन को नैनों टेक्नालाजी के साथ जोड़ा |यह आने वाले दशकों में कृत्रिम मस्तिष्क का निर्माण के लिए पहली सीढ़ी है |

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

कोरोना में सफलता की कहानी:15 हजार से शुरू किया था कारोबार, IT कंपनी खड़ी की, अब अमेरिका के 3.5 लाख करोड़ टर्नओवर वाले ग्रुप में शामिल

(गीतेश द्विवेदी) कोविड दौर में आईटी सेक्टर से बड़ी खबर आई है। इंदौर की आईटी कंपनी नार्थआउट को अमेरिका के बड़े ग्रुप एचआईजी की सहयोगी कंपनी ईज ...