सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

March 30, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अतीन्द्रिय ज्ञान से दिखाई देती हैं भविष्य की घटनाएं

आप भविष्य को दर्पण की तरह देख सकते हैं
हम सभी की चाहत रहती है कि जीवन में आने वाली घटनाओं को जान सकें। इसके लिए ज्योतिषी एवं भविष्यवक्ता से संपर्क करते हैं। लेकिन विज्ञान कहता है कि हम सभी भविष्य और भूत की घटनाओं को दर्पण की तरह देख सकते हैं। मानव के अंदर एक ऐसा जीन छुपा रहता है, जिससे उसे भावी घटनाओं का पता चल सकता है।

लेकिन व्यावहारिक रूप से वह पता नहीं कर पाता। अब वैज्ञानिकों ने यह रहस्य खोल लिया है। मानव अपने मस्तिष्क के जरिये भविष्य की घटनाओं का पता आसानी से लगा सकता है। आम तौर पर हमें आज और अभी या अपने आसपास की घटनाओं की ही जानकारी होती है। आने वाले या बीत गए समय की अथवा दूरदराज की घटनाओं का पता नहीं चलता, लेकिन कोई विलक्षण शक्ति है, जो व्यक्ति को समय और दूरी की सीमाओं का अतिक्रमण करते हुए उपयोगी सूचनाएं देती है।

विल्हेम वॉन लिवनीज नामक वैज्ञानिक का कहना है हर व्यक्ति में यह संभावना छिपी पड़ी है कि वह कभी-कभार चमक उठने वाली इस क्षमता को विकसित कर पूर्वाभास को सामान्य बुद्धि की तरह अपने व्यक्तित्व का हिस्सा बना लेता है। इस तरह की क्षमता अर्जित कर सकता है, जब चाहे दर्पण की तरह अतीत …

लव हार्मोन' लेने से सेक्स लाइफ में स्पाइस आ जाता है

अक्सर लोग सेक्स संतुष्टि पाने के लिए कई उपाय अपनाते हैं लेकिन एक नई रिसर्च के मुताबिक, अब आप आराम से सेक्स के दौरान ऑर्गेज्म पा सकते हैँ।प्रका‌शित शोध के अनुसार, 'लव हार्मोन' लेने से सेक्स लाइफ में स्पाइस आ जाता है। एक जर्मन शोध के मुताबिक, ऑक्सीटोसिन का डोस न केवल पुरुषों बल्कि महिलाओं की सेक्स लाइफ में भी जान डाल देता करता है।लाइव साइंस में छपी रिपोर्ट के अनुसार, शोध के दौरा 29 जोड़ों को ऑक्सीटोसिन या प्लेसिबो का स्प्रे दिया। बाद में उन्हें उनसे कई सवाल पूछे गए। जिसमें उन्हें अपनी सेक्सुअल डिजायर और अपने पार्टनर के प्रति अपनी सेक्स इच्छाओं के बारे में में बताना था।सर्वे के नतीजे के अनुसार जिन लोगों ने सेक्स के पहले ऑक्सीटोन लिया था उनका ऑर्गेज्म ज्यादा सुखद था। सेक्‍स के बाद वे ज्यादा खुश और संतुष्ट थे।यह असर पुरुषों और महिलाओं दोनों पर बराबर पाया गया। कुछ महिलाओं ने यहां तक कहा कि उन्हें अपने पार्टनर से ज्यादा सहानुभूति हो गई थी।सर्वे के परिणाम वैसे तो दिलचस्प थे लेकिन शोधकर्ताओं के अनुसार, हार्मोन का प्रभाव उम्मीद से कम था क्योंकि सेक्स के दौरान ऑक्सीटोन का निर्माण वैसे भी …

मजाक नहीं हकीकत! दंपति का दावा, आधे घंटे तक दिखा यूएफओ

शूट कर रहे थे जानवर
देर रात बॉर्डर के पास स्थित जंगलों में एक दंपति जिन्हें जानवरों को रात में शूट करना पसंद है, दूर जंगलों में गए थे।

जानवरों को रात में कैमरे के अंदर कैद करने के लिए निकले दंपति उस जंगल के मशहूर जानवरों को रात को घूमते हुए शूट करने पहुंचे थे।

तस्वीरों के अलावा उन्होंने जानवरों की गतिविधियों को भी वीडियो शूट करने का सोचा। वहां पहुंचकर उन्होंने कैमरे और वीडियो कैमरे को एक जगह पर सेट कर दिया।

दिखा एक हिरन और.. रात में जंगलों में अकेला घूमना घातक हो सकता है। इसकी वजह कुछ और नहीं ‌बल्कि जंगलों के घातक जानवर होते हैं।

इसलिए शैटल दंपति ने खुद को एक सुरक्षित जगह बंद करके कैमरों को एक ‌जगह सेट कर दिया।

तभी उन्होंने देखा कि कैमरे के पास एक हिरन टहलता हुआ चला आ रहा था। शैटल दंपति को लगा कि कहीं हिरन कैमरे के साथ कोई छेड़-छाड़ न करे और तभी पीछे कहीं से लाइट आनी शुरू हो गई।

धीरे- धीरे यही लाइट बढ़ती चली गई और किसी बड़ी चीज का आकार लेने लगी। उसके बाद तो शैटील दंपति को कुछ ऐसा दिखा जिसका उन्हें भरोसा ही नहीं था।


यूएफओ ही था वो शैटल दंपति का कहना है कि दोनों को किसी कार की हेडलाइट जैसी …

दीवार करेगी बात

वाशिंगटन। इंटरनेट के आदी लोगों के लिए अब नई तकनीक किसी वरदान से कम नहीं। दिन-रात ऑनलाइन रहने वाले लोगों के लिए अब घर की सारी दीवारें ही किसी स्क्त्रीन की तरह काम करेंगी। इन दीवारों पर आप ऑनलाइन स्क्त्रीन की तरह काम कर सकते हैं। इस वॉल पर फेसबुक अपडेट से लेकर आदमकद आकार में मित्रों से लाइव चैटिंग भी होगी। एक स्पैनिश डिजाइन एजेंसी थिंक बिग फैक्टरी के निदेशक क्यूरस मॉन्स ने बताया कि इस ओपनआर्च प्रणाली का हार्डवेयर पूरी तरह से बनकर तैयार है लेकिन सॉफ्टवेयर पर चालीस फीसद काम ही पूरा हुआ है। यह स्पेनिश एजेंसी ही इस पूरे प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। अपने घर की इस डिजिटल दीवार को ऑनलाइन गतिविधियों के लिए आप कहीं से भी नियंत्रित कर सकते हैं। बोल कर या किसी शारीरिक गतिविधि से आप अपने निर्देशों को नियंत्रित कर सकते हैं। घर की हर चीज को संचार माध्यम के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि इस सबको चलाने के लिए घर में एक व्यक्ति की मौजूदगी जरूरी होगी। घर के किसी भी कोने से स्काइप को शुरू करते ही आप इस तकनीक की मदद से हाथ के इशारे से घर की बत्तियां जला-बुझा सकते हैं। किसी घरेलू उपकरण को ऑन कर सक…

पेड़ देंगे रोशनी और दीवारों पर होंगे बगीचे

लंदन। शोधकर्ताओं ने भविष्य के शहरों की परिकल्पना कुछ इस तरह की है। ये शहर रात के अंधेरे में खुद ब खुद जगमगाने लगेंगे। पेड़ स्ट्रीट लाइट्स का काम करेंगे और घरों की दीवारों पर बगीचे तैयार किए जा सकेंगे। लंदन के गार्डन ब्रिज प्रोजेक्ट पर काम कर रही एक कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में यह बात कही है। इंजीनियरिंग और डिजाइन परामर्श कंपनी अरुप के विशेषाों के मुताबिक, भविष्य के शहरों में सर्दी के मौसम में फुटपाथ गर्म हो जाएंगे। सड़कों पर जाम लगने की सूरत में ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम (जीपीएस) खुद ब खुद लोगों को नया रास्ता सुझाने लगेगा। कंपनी ने अपनी रिपोर्ट सिटीज अलाइव में भविष्य के शहरों का डिजाइन तैयार किया है। लंदन के गार्डन ब्रिज प्रोजेक्ट के तहत यह कंपनी टेम्स नदी के आर-पार एक फुटपाथ बनाएगी, जिसपर घास और पेड़ उगाए जाएंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, इन शहरों में नागरिकों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए हरियाली को ज्यादा महत्व दिया जाएगा। मौजूदा बुनियादी ढांचों का बड़ी सूझबूझ से इस्तेमाल किया जाएगा। अखबार द टाइम्स के मुताबिक, रिपोर्ट में अनुवांशिक रूप से परिवर्तित पेड़ों के इस्तेमाल की बात कही गई है जो…

नताशा सिक्का का हॉट फोटोशूट

मॉडल और अभिनेत्री नताशा सिक्का का फैशन एंड लाइफस्टाइल एशिया मैगजीन के लिए फोटोशूट Photo Credits: newz66















sabhar :http://www.samaylive.com/



भविष्य की पीढ़ियां जिस दुनिया में रहेंगी वे हर लिहाज़ से ज़्यादा कनेक्टेड होंगी

भविष्य की पीढ़ियां जिस दुनिया में रहेंगी वे हर लिहाज़ से ज़्यादा कनेक्टेड (जुड़ी हुई) होंगी. लेखक टेड विलियम्स पूछते हैं कि क्या ये एक जुड़ी हुई दुनिया यानी कनेक्टेड वर्ल्ड कैसे हमारे समाज और हमें बदल देगी. "तर्कशील व्यक्ति दुनिया के हिसाब से खुद को ढाल लेता है जबकि अविवेकी व्यक्ति दुनिया को अपने हिसाब से ढालने की कोशिश करता है. इसलिए जितनी भी तरक्की है वह अविवेकी मनुष्य पर निर्भर है." जॉर्ज बर्नार्ड शॉ
भले ही हम उन्हें तब महसूस नहीं कर पाते हैं जब वे घटित हो रहे होते हैं.तकनीक के हर बड़े क़दम ने मानव समाज को व्यापक रूप में बदला है. इसलिए ही हम जानते हैं कि वे बड़े तकनीकी बदलाव थे. निजी विचार और समूह जेबीएस हेल्डेन के ब्रह्मांड के बारे में दिए गए प्रसिद्ध वक्तव्य में कहा जाए तो, 'भविष्य आपकी कल्पना से अलग नहीं होगा बल्कि जितनी आप कल्पना कर सकते हैं उससे बहुत अलग होगा.' हम सामाजिक प्राणी हैं लेकिन भिन्न होने के ख़तरे तब से कम हुए हैं जब से व्यक्तिवाद हमारे समाज और स्वयं हम में बड़ी ताक़त बनता चला गया है. भविष्य की दुनिया ज़्यादा कनेक्टेड होगी नवीन तकनीक एक बड़ा कारण ह…

हैरी पॉटर की अदृश्य घड़ी बनेगी हकीकत और पढ़ें

भारतीय मूल के एक वैज्ञानिक ने हैरी पॉटर फिल्मों की शैली की अदृश्य घड़ी को साकार रूप देने में महत्वपूर्ण कदम उठाया है। उन्होंने धातु की एक ऐसी पट्टी तैयार की है जो प्रकाश को नई दिशा में मोड़ देती है। काल्पनिक अदृश्य घड़ियों के पीछे वह सिद्धांत काम करता है कि किसी वस्तु के आसपास प्रकाश को रोकने और उसे नई दिशा में मोड़ देने से वह वस्तु आंखों के लिए अदृश्य हो जाती है। हॉलीवुड फिल्मों में यह काफी आसान तकनीक लग सकती है लेकिन असल जिंदगी में इसे तैयार करना काफी मुश्किल है क्योंकि प्रकृति में मौजूद किसी भी पदार्थ में वह गुण मौजूद नहीं है, जो प्रकाश को एक विशेष दिशा में मोड़ दे। यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट्रल फ्लोरिडा में सहायक प्रोफेसर देबाशीष चंद्रा ने इसे सच कर दिखाया है। उन्होंने इस काम को पूरा करने के लिए एक कृत्रिम नैनो ढांचा तैयार किया है जिसे मेटामटीरियल्स नाम दिया गया है। चंद्रा और अन्य नैनो तकनीक विशेषज्ञों ने धातु की कई परतों वाली एक 3डी पट्टी तैयार की है। उन्होंने इस काम को नैनो ट्रांसफर प्रिंटिंग से पूरा किया है जिसका इस्तेमाल प्रकाश के प्रसार को रोकने के लिए किया जाता है। चंद्रा ने बताया कि ह…

तस्वीरों में देखें रूसी प्रधानमंत्री व्लादिमीर पुतिन का जिंदादिल अंदाज

मॉस्को. आखिरकार रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और उनकी पत्नी ल्यूदमिला एलेक्सांद्रोव्ना पुतिना के बीच तलाक हो गया। दोनों का विवाह 30 साल पहले हुआ था। उनकी दो बड़ी बेटियां हैं। क्रेमलिन ने तलाक की आधिकारिक पुष्टि कर दी है। पुतिन की आधिकारिक जीवनी में 27 मार्च को ‘विवाहित’ और पत्नी का नाम लिखा था। अब फर्स्ट लेडी का कोई जिक्र नहीं है। केवल दो बेटियों का उल्लेख है।  पुतिन ने पिछले साल जून में टीवी पर एक बयान में यह कह कर चौंका दिया था कि वे तलाक देने वाले हैं। उस समय शादी टूटने का कारण पुतिन की लवर सांसद एलिना कबायेवा को माना जा रहा था। भले ही रूस के शीर्ष नेता पुतिन की उम्र 60 वर्ष हो, लेकिन उनमें आज भी 25 साल के नवजावान-सा जोश दिखाई देता है। वे हमेशा मीडिया में अपने हैरतअंगेज कारनामों के कारण चर्चा में बने रहते हैं। वे कभी ताइक्वांडो में अपने से कई गुना कम उम्र के खिलाड़ियों को पछाड़ते हुए दिखाई देते हैं तो कभी खुले बदन घोड़े पर बैठ कर हवा से भी तेज बातें करते हैं। तलाक होने के बाद मीडिया उन्हें दुनिया का मोस्ट एलिजिबल बैचलर मान रहा है। हम आपको यहां राष्ट्रपति पुतिन की कुछ तस्वीरें द…

प्रेमियों की आवाज बुंलद करने के इरादे से चुनाव लड़ रही हैं सुनीता

नई दिल्ली : दिल्ली संसदीय क्षेत्र से पैंथर्स पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रही सुनीता चौधरी अपने अनोखे चुनावी ‘घोषणा पत्र’ को लेकर लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है। सुनीता का कहना है कि वे अगर चुनाव जीतकर संसद में पहुंचती हैं तो संसद में प्रेमियों की आवाज को बुंलद करेंगी। सुनीता चौधरी दिल्ली की पहली ऑटो चालक के तौर पर भी पहचानी जाती हैं। इससे पहले वे 2012 में उप-राष्ट्रपति के चुनाव में भी नामांकन कर चर्चा में आई थी। ‘लव कमांडोज’ नामक हेल्‍प लाइन भी सुनीता चौधरी प्रेमी जोड़ों को सुरक्षा देने के लिए ‘लव कमांडोज’ नामक हेल्‍प लाइन भी चलाती है।  वह वादा करते हुए कहती हैं कि अगर वह संसद में पहुंची तो शिक्षा में प्रेम का पाठ शामिल करवाएगी ।
घोषणा पत्र में 14 में से 9 वादे प्रेमियों के लिए दिल्ली के प्रेमियों के लिए संसद में आवाज बुलंद करने का इरादा रखने वाली सुनीता चौधरी ने अपना जो चुनावी घोषणा पत्र बनाया है उसमें 14 में से 9 वादे प्रेमी जोड़ों को ध्‍यान में रखकर बनाए हैं । क्‍या खास :  1 प्रेम को कुदरती मानते हुए उसकी रक्षा के लिए ‘राष्ट्रीय प्रेमी अधिकार रक्षा आयोग’ की सथापना की मांग करेंग…

वृद्धावस्था को रोकने आजीवन युवा रहने के लिए कुछ रिसर्च

स्किन सेल्स से बन सकेंगे नए ऑर्गन्स
लंदन 
वैज्ञानिकों ने इंसानी शरीर की त्वचा की कोशिकाओं (स्किन सेल्स) से स्टेम सेल्स तैयार करने से जुड़ी बड़ी उपलब्धि हासिल की है। इन स्टेम स्टेल्स में एंब्रियो या भ्रूण में तब्दील होने की क्षमता है। एक टॉप साइंटिस्ट ने 'द इंडिपेंडेंट' को रविवार को यह जानकारी दी। इस तकनीक का परीक्षण चूहों पर पूरी तरह से कामयाब रहा है और वैज्ञानिक मानते हैं कि यह इंसानों के लिए भी बिलकुल फिट रहेगा। ऐसे में इंसानों में होने वाली असाध्य बीमारियों मसलन पार्किन्सन, हार्ट डिजीज आदि के बेहतर इलाज की संभावनाएं और मजबूत हो चली हैं। दरअसल, इस तकनीक के जरिए बीमारी से ग्रस्त अंगों को मरीज के स्टेम सेल्स के जरिए दोबारा से तैयार किया जा सकता है।

जर्म सेल्स भी किए जा सकते हैं तैयार 
हालांकि, स्किन सेल्स से इंसानी भ्रूण तैयार करने की फिलहाल कोई मंशा नहीं है, लेकिन वैज्ञानिकों का मत है कि ऐसा किया जाना सैद्धांतिक तौर पर मुमकिन है। प्रयोग के दौरान चूहों के भ्रूण तैयार करने में कामयाबी मिलना इस बात का संकेत देते हैं कि इन भ्रूण से किसी खास तरह के टिशू (ऊतक) तैयार किए जा सकते हैं, ज…