Loading...

शुक्रवार, 22 अगस्त 2014

ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी

0

ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी

उदयपुर. शहर में पिछले 25 साल से साधु बनकर रह रहा एक शख्स मूिर्त तस्कर और लड़कियों का सप्लायर निकला। सुखेर थाना पुलिस और स्पेशल सेल ने गुरुवार को उसे कैलाशपुरी में श्री जैन श्वेतांबर मंदिर स्थित आश्रम से गिरफ्तार कर  लिया। आरोपी के आश्रम से 48 प्राचीन मूर्तियां बरामद की गई हैं। इसके अलावा एक एयरगन, नकली कार्बाइन और लड़कियों के कपड़े व मेकअप की सामग्री भी मिली है। सुखेर एसएचओ हरेन्द्र सिंह ने बताया कि आरोपी बाबा मूलत: इन्द्रगंज, ग्वालियर का रहने वाला है। इसका असली नाम नरेन्द्र (60) पुत्र गुमान मल बच्छावत (जैन) है।

यहां खुद को रत्नम बच्छावत, रत्नसूरी बाबा और अद्भुत बाबा के नाम से भी प्रचारित कर रखा था। मूर्ति चोरी कर विदेशों में तस्करी करवाता था। प्राचीन मूर्तियों के चोरी के मामले में आरोपी नरेन्द्र को आईपीसी की धारा 379,411 और पुरातत्व वस्तु संरक्षण अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया है। आरोपी को 28 अगस्त तक रिमांड पर भेज दिया है। इसके खिलाफ सुखेर, अंबामाता, भूपालपुरा थानों सहित उदयपुर में सात आपराधिक मामले दर्ज हैं। इन्द्रगंज, ग्वालियर में भी यह वांटेड है। मूर्ति चोरी के मामले में दिल्ली में भी एफआईआर दर्ज है। साथ रहने वाली महिला जूली अभी फरार है। माना जा रहा है कि ये महिला लड़कियों को लाती थी।

भेष साधु का, कारनामे काले

लड़कियों की तस्करी का शक

खुफिया पुलिस के अनुसार ग्रामीणों की सूचना और प्रारंभिक सबूतों से लड़कियों की तस्करी होने का भी शक है। आरोपी के यहां आने वाली अधिकांश लड़कियां बांसवाड़ा जिले की हैं। यहां इनकी अश्लील क्लिपिंग बनाई जाती थी। इस रैकेट में जूली नाम की महिला का नाम आ रहा है।

आश्रम में शानोशौकत की चीजें

25 साल पहले जब यहां आया था तब रात गुजारने के लिए जगह नहीं होने से ग्रामीणों ने इसे यहां एक रात रहने दिया। इसके बाद उसी देवस्थान विभाग के प्राचीन श्री जैन मंदिर पर इसने कब्जा कर अद्भुतगिरी आश्रम बना लिया। इस आलीशान आश्रम में एेशोआराम की सारी चीजें मिली। बाबा महंगे मोबाइल का कलेक्शन रखता था और 10 कुत्ते पाल रखे थे। आश्रम के ऊपर 28 सौ वर्ष प्राचीन श्री जैन श्वेतांबर अद्भुत जी तीर्थ लिखा है। इसी नाम से सेवा संस्थान बनाया हुआ है। आश्रम जीर्णोद्धार के नाम से करोड़ाें रुपए का चंदा भी उठाया। उपसरपंच अशोक कुमार ने बताया कि बाबा के कई अफसरों और रसूखदारों से संपर्क थे। तभी इसके खिलाफ अब तक कार्रवाई नहीं की।

दो एयरगन व आईपेड भी मिला

आश्रम से डबल डोर का फ्रीज, सूटकेस, दीवान मिले। महिलाआें के वस्त्र और प्रसाधनयुक्त सामान भी मिले। हिसाब के रजिस्टर, अंगूठा लगा खाली स्टांप, एफआईआर की कॉपी,  ताम्रपत्र, खंजर और दो एयरगन मिली, जिनमें एक नकली कार्बाइन थी। मंदिर पर देवस्थान की ओर से माना गमेती के नाम से चौकीदार लगा हुआ था उससे पूछताछ की जा रही है।

ग्वालियर में नहीं मिला रिकॉर्ड, बाबा ने सिंधिया परिवार से नाता बता बनाए भक्त

मूर्ति तस्करी के मामले में पकड़े गए साधु बने नरेंद्र ने सिंधिया घराने से नाता बताने वाला पोस्टर लगाकर प्रचार किया। मारवाड़ क्षेत्र से अनुयायी बना लिए। हर रोज करीब 20 लोग मंदिर में पूजा के लिए आने लगे। यह भी प्रचारित किया कि ग्वालियर के दीवान राय बहादुर सोहनराव सिंधिया उसके पिता थे। खुद को राजनीति से जुड़ा हुआ भी बताता था। पुलिसनेबताया कि आरोपी जिले और संभाग के प्राचीन मंदिरों में जाकर रैकी करता था। इसके बाद उदयपुर में काम करने वाले यूपी, बिहारी मजदूरों से चोरी करवाता और बख्शीश देता था। और मौका लगते ही विदेशों में तस्करी के लिए भेज देता था।

बड़े तस्करों से संबंध का शक

पुलिस को शक है कि आरोपी के कुख्यात मूर्ति तस्करों से भी तार जुड़े हो सकते हैं। आरोपी प्राचीन मंदिरों में पहले रैकी करता था। फिर मजदूरों को पैसे देकर मूर्ति चोरी करवाता। मूर्तियों को पहले आश्रम फिर मौका मिलते ही विदेश भेज देता था। आरोपी पर उदयपुर में मारपीट-धोखाधड़ी से जुड़े सात आपराधिक मामले दर्ज हैं। ग्वालियर में भी यह वांटेड है। मूर्ति चोरी मामले में दिल्ली में भी उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज है।

नरेंद्र का रिकॉर्ड तलाशने के लिए उदयपुर पुलिस ने इंदरगंज थाने की पुलिस से संपर्क किया था लेकिन यहां पर उसका रिकॉर्ड नहीं मिला। टीआई इंदरगंज अमर सिंह के अनुसार उदयपुर के पुलिस अफसरों ने बताया था कि नरेंद्र 1973 में एक युवती को बहला फुसलाकर ले गया था। इस आधार पर उसका रिकॉर्ड तलाश किया गया था लेकिन फिलहाल इसका रिकॉर्ड नहीं मिला है।
 ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी

ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी

ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी

ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी


ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी

ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी


आरोपी बाबा को था कुत्ते पालने का शौक। आश्रम के बाहर मिले जो लग अलग नसल के कुत्ते।

ये है 'अद्भुत बाबा', 25 साल से साधु बन कर रहा था लड़की सप्लाई और तस्करी

(आरोपी बाबा के आश्रम के कमरे में लगा मिला एलसीडी।)

sabhar :http://www.bhaskar.com/



0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting