मंगलवार, 15 अप्रैल 2014

सूरत को 'स्मार्ट सिटी' बनाएगी माइक्रोसॉफ्ट



सूरत। दुनिया की दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन ने भारत में पहली 'स्मार्ट सिटी' बनाने के लिए सूरत शहर को चुना है। कंपनी ने 'सिटी नेक्स्ट'़ पहल पिछले साल लांच की थी। सिटी नेक्स्ट पहल के तहत माइक्रोसॉफ्ट क्लाउड टेक्नोलॉजी, मोबाइल एप्लीकेशन, डाटा ऐनालिटिक्स और सोशल नेटवर्क को एक साथ मिलाकर नागरिक सेवाओं को रियल टाइम में डाटा उपलब्ध कराना चाहती है।
सिस्टम को इस तरह विकसित किया जाएगा कि सूचना प्रौद्योगिकी की मदद से प्राकृतिक आपदा के दौरान हालात अच्छे से संभालने का काम कर सके। सूरत नगर निगम के उपायुक्त सीवाय भट्ट ने इसका उदाहरण देते हुए बताया कि अगर किसी को शहर में डॉक्टर का पता लगाना हो तो, वह आसानी से माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाए गए मोबाइल एप की मदद से यह जानकारी जुटा सकेगा। यह प्रोजेक्ट मई के अंत तक शुरू होगा।
विज्ञान केंद्र में आभासी दुनिया बनाने में भी माइक्रोसॉफ्ट सूरत नगर पालिका की मदद करेगा। इसमें एक आभासी दीवार भी बनाई जाएगी। नगर निगम के आयुक्त मनोज दास का कहना है कि यह प्रोजेक्ट सूरत को देश की पहली स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के लिए तैयार किया जाएगा। दास का कहना है कि नगर निकाय आभासी दुनिया और असली दुनिया के बीच सभी पहलुओं को जोड़ने की योजना बना रहा है।
आसान हो जाएंगे काम
माइक्रोसॉफ्ट की टीम सूरत नगर निगम के सभी विभागों में ई-गवर्नेस की स्थिति देखने आ चुकी है, ताकि इस प्रोजेक्ट को ज्यादा उपयोगी बनाया जा सके। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में टाउन प्लानिंग डिपार्टमेंट का काम और भी आसान हो जाएगा। फिलहाल डेवलपर टीपी डिपार्टमेंट में लगातार आ रहे हैं, ताकि उनका प्लान जल्द मंजूर हो जाए। योजना के डायरेक्टर जीवन पटेल का कहना है कि जब तक नया एप बनता है, एक वास्तुकार ऑनलाइन योजना पेश कर सकता है और प्रगति पर नजर रख सकता है। इससे दोनों तरफ से समय, पैसे और ऊर्जा की बचत होगी। sabhar :http://www.jagran.com/

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कोरोनावायरस / महामारी से लड़ने में रोबोट्स की मदद लेगा भारत, यह संक्रमितों तक खाना-दवा पहुंचाएंगे, टेम्परेचर और सैंपल लेने का काम भी करेंगे

दैनिक भास्कर Apr 06, 2020, 02:05 PM IST नई दिल्ली..  कोरोना से लड़ने के लिए चीन समेत दुनियाभर के कई देश रोबोट्स की मदद ले रहे हैं। यह ...