शुक्रवार, 11 अप्रैल 2014

अब सूरज की रोशनी से ही तैयार हो जाएंगे सोलर सेल

अब सूरज की रोशनी से ही तैयार हो जाएंगे सोलर सेल

सोलर सेल सूरज से ऊर्जा ग्रहण करते हैं लेकिन क्या हो अगर सूरज के प्रकाश से ही इन सोलर सेल्स को तैयार किया जा सके।

शोधकर्ताओं ने एक ऐसी प्रणाली विकसित कर ली है जिसके जरिये सूरज खुद ब खुद सौर ऊर्जा सामग्री का उत्पादन करेगा। पारंपरिक सिलिकन सेल की तुलना में कम लागत वाले, पहले से ज्यादा पतले इन सेल्स का इस्तेमाल बहुत जल्द ऊर्जा उत्पादन के लिए इमारतों के अंदर कोटिंग के रूप में किया जा सकेगा।
ओरेगन स्टेट यूनिवर्सिटी के केमिकल इंजीनियरों की इस खोज से बहुत ही जल्द सौर ऊर्जा की लागत को कम किया जा सकेगा। इस तकनीक से उत्पादन प्रक्रिया में तेजी भी लाई जा सकेगी और सौर उपकरणों व उन्हें चार्ज करने वाली ऊर्जा दोनों के लिए ही सूरज को साधन बनाया जा सकेगा। यूनिवर्सिटी में केमिकल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर चिह हुंग चांग ने कहा कि यह प्रणाली पर्यावरण के अनुकूल है। इसके जरिये कुछ ही मिनटों में सौर ऊर्जा सामग्री तैयार की जा सकती है जबकि दूसरे प्रक्रियाओं में इसे तैयार करने में 30 मिनट से दो घंटे का समय लगता है। उत्पादन प्रक्रिया में तेजी आने से लागत में कमी आएगी।' इस प्रक्रिया में कॉपर इंडियम डिसेलेनाइड से सौर सामग्री का निर्माण किया गया है। इसके अलावा तांबा, जस्ता, टिन और सल्फाइड के यौगिक का इस्तेमाल भी किया जा सकेगा।sabhar ; bhaskar.com
और पढ़ें: http://hindi.ruvr.ru/news/2014_04_04/270808094/

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कोरोनावायरस / महामारी से लड़ने में रोबोट्स की मदद लेगा भारत, यह संक्रमितों तक खाना-दवा पहुंचाएंगे, टेम्परेचर और सैंपल लेने का काम भी करेंगे

दैनिक भास्कर Apr 06, 2020, 02:05 PM IST नई दिल्ली..  कोरोना से लड़ने के लिए चीन समेत दुनियाभर के कई देश रोबोट्स की मदद ले रहे हैं। यह ...