Loading...

सोमवार, 31 मार्च 2014

भटकती आत्मा का रहस्य

0


25 सालों से किसकी आत्मा भटकती है इस चॉल में?

चॉल के आस-पास भटकता है भूत




चॉल के आस-पास भटकता है भूत


भूत प्रेतों के बारे में यह कहा जाता है कि यह सुनसान जगहों पर रहते हैं। लेकिन घटना को पढ़कर आपका यह भ्रम दूर हो जाएगा। क्योंकि यह भूत सुनसान में नहीं बल्कि एक चॉल के आस-पास भटकता है जहां दिन भर लोगों की चहल-पहल बनी रहती है।

मुंबई का भूतहा चॉल

मुंबई का भूतहा चॉल

यह चॉल है मायानगरी मुंबई में माहिम के कैनोसा प्राइमरी स्कूल के पास स्थित डिसूजा चॉल। कहा जाता है कि इस चॉल के आस-पास एक भूतनी की आत्मा भटकती है।

कौन है यह भूतनी

यह भूतनी करीब 25 साल पहले इसी चॉल में रहती थी। एक रात कुएं से पानी लेने के लिए जब आई तो गलती से कुएं में गिर गई। और कुएं में डूबकर इसकी मौत हो गई। अब इस कुएं को बंद कर दिया गया है।

जब दिख जाती है यह भूतनी

कहते हैं रात के समय जब भी कोई इस कुएं के आस-पास से गुजरता है तो उसे भूतनी दिख जाती है। लेकिन यह किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाती है। चॉल मालिक रिचर्ड हर दिन कुएं के पास फल और फूल चढ़ाते हैं ताकि आत्मा शांत रहे।

ममी का रहस्यः मरने के बाद भी बढ़ रहे हैं नाखून और बाल


जिंदा है या मुर्दा बढ़ रहे हैं नाखून और बाल

मरने के बाद भी किसी व्यक्ति के नाखून और बाल बढ़ रहें हों यह सुनकर आप एक बार चौंक जरुर जाएंगे। वह भी तब जबकि, उस व्यक्ति की मौत करीब 550 साल पहले हो चुकी हो। लेकिन चौंकाने वाला यह रहस्य भारत के ही हिमाचल राज्य में मौजूद है।

किसकी है यह ममी

किसकी है यह ममी

स्थानीय लोग इस ममी के प्रति अपार श्रद्घा रखते हैं। कहते हैं कि यह ममी एक साधु की है। कहते हैं उन दिनों इस गांव में बिच्छूओं का आतंक था। साधु ने गांव वालें से कहा कि आप लोग मुझे जमीन में दफना दो। इससे बिच्छूओं का आतंक खत्म हो जाएगा।

गीयू में 550 साल पुरानी ममी

हिमाचल के स्पीती जिले के गांव गीयू में 550 साल पुरानी एक ममी है। स्थानीय लोगों का मानना है कि इस ममी के बाल और नाखून बढ़ते रहते हैं। हालांकि चिकित्सा विज्ञान इस सच से इंकार करता है।

कैसे मिली यह ममी

कैसे मिली यह ममी

साधु की बात मानकर गांव वालों ने साधु को जमीन में दफना दिया। इसके बाद बिच्छू गायब हो गए। साधु का भी कुछ पता नहीं चला। इंडो तिब्बतियन बोर्डर पुलिस द्वारा की जा रही खुदाई में यह ममी प्राप्त हुई। इसके बाद से ममी को संभलकर रखा गया है और लोग इसकी पूजा करते हैं।

कहते हैं भारत के इस चर्च में तीन भूतों का बसेरा है

चर्च में ही अपना घर बनाए बैठे हैं भूत

चर्च में ही अपना घर बनाए बैठे हैं भूत

आपने सुना होगा कि भूत प्रेत भगवान से डरते हैं। जहां पर ईश्वर का ध्यान किया जाता है उस जगह के आस-पास भूत भटकने का साहस भी नहीं कर पाते हैं।

लेकिन तीन ऐसे भूत हैं जो बेखौफ चर्च में ही अपना घर बनाए बैठे हैं। यह चर्च भारत के गोवा शहर में स्थित है। अगर आप गोवा घूमने गए होंगे तो शायद आपने इस चर्च के दर्शन भी किए होंगे।

राजाओं की आत्मा भटकती है

गोवा स्थित इस चर्च का नाम है थ्री किंग्स चर्च। लोगों का मानना है कि इस चर्च में तीन राजाओं की आत्मा भटकती है। और कई बार चर्च में आए लोगों को इनकी मौजूदगी का एहसास भी होता है।

इस तरह तीनों राजा बन गए भूत

यहां के कुछ लोग बात बताते हैं कि किसी समय यहां तीन पुर्तगाली राजा हुआ करते थे। इनमें वर्चस्व को लेकर अक्सर लड़ाई होती रहती थी। एक बार होल्गेर नाम के एक राजा ने अन्य दोनों राजाओं को इस चर्च में आमंत्रित किया और धोखे से जहर देकर मार दिया।

जब लोगों को होल्गेर की इस करतूत का पता चला तो इनके महल को घेर लिया। जनता के आक्रोश को देखकर तीसरे राजा ने आत्महत्या कर ली। तीनों राजाओं के शव को इसी चर्च में दफना दिया गया। इसके बाद से ही इस चर्च में भूतों का निवास माना जाता है।

sabhar :http://www.amarujala.com/


0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting