सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

November 24, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मुखमैथुन की ही जिद बना दिया मुंह के कैंसर का मरीज

अहमदाबाद। शहर में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां रहने वाले एक धनाढ्य परिवार का युवक मुंंह के कैंसर की बीमारी से पीड़ित हो गया है। चिकित्सकों के बताए अनुसार उसे यह कैंसर मुखमैथुन के चलते हुआ है। चिकित्सकों ने जब युवक से पूछताछ की तो युवक ने बताया कि उसकी पत्नी हमेशा उससे मुखमैथुन की ही जिद करती थी।

यह घटना उन लोगों के लिए सबक है, जो अब तक सिर्फ यही सोचते हैं कि कैंसर बीड़ी-तंबाकू-सिगरेट या शराब के सेवन से ही होता है। वर्तमान समय में जिस तरह शारीरिक संबंधों के दौरान मुखमैथुन का प्रवत्ति बढ़ रही है, वह पूरे समाज के लिए एक चिंता का विषय है। अहमदाबाद के पॉश इलाके में रहने वाले प्रतीक शाह (परिवर्तित नाम) कुछ दिन पहले अचानक ही मुंह की एक अज्ञात बीमारी से पीड़ित हो गए। चिकित्सकों ने जब जांच की तो पाया कि उन्हें भी यह मामला शंकास्पद लगा। इसके बाद कैंसर स्पेशलिस्ट ने जांच की तो पता चला कि प्रतीक के मुंह में कैंसर हो चुका है।कैंसर स्पेशलिस्ट ने इसके तमाम कारणों की जांच की तो पाया कि इस कैंसर की वजह सिगरेट या शराब नहीं थी। जब उन्होंने प्रतीक से इस बारे में खुलकर बात करने की समझाइश दी त…

भारतवंशी सत्या नडेला करेगा दुनिया पर राज, बनेगा 8800 अरब का 'मालिक'!

माइक्रोसॉफ्ट के मौजूदा सीईओ स्टीव बॉल्मर रिटायर होना चाहते हैं।माइक्रोसॉफ्ट के मौजूदा सीईओ स्टीव बॉल्मर ने दो माह पहले कहा था कि वे 2014 में पद छोड़ देंगे। कंपनी एक साल के भीतर नया सीईओ अपॉइंट कर ले। इसलिए माइक्रोसॉफ्ट की सर्च कमेटी नए सीईओ की तलाश में है। कमेटी दुनिया भर में अलग अलग सेक्टर्स के सीईओ के संपर्क में है। माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ के पद की दौड़ में भारतवंशी सत्या नडेला आगे चल रहे हैं। फोर्ड मोटर कंपनी के सीईओ एलन मुलाली का नाम भी चर्चा में है। शुक्रवार को ब्लूमबर्ग ने इस संबंध में नंबंरिंग जारी की। ब्लूमबर्ग के मुताबिक कंपनी इन दोनों के नाम पर प्रमुखता से विचार कर रही है सत्या नादेला माइक्रोसॉफ्ट में 21 सालों से कार्यरत शीर्ष पदस्थ भारतवंशी हैं । कंपनी के क्लाउड और एंटरप्राइज समूह के लीडर हैं । इनकी टीम ऑनलाइन/मोबाइल कंप्यूटिंग के क्षेत्र में संघर्ष कर रही है।सत्य नाडेला की उम्मीदवारी की बात इसलिए भी हो रही है कि उन्हें बिजनेस क्लाइंट के साथ डीलिंग का पुराना अनुभव है। एक और गौर करने की बात है कि यही वो शख्स हैं जो कंपनी की आय में सबसे बड़ी भूमिका निभाते हैं। इन्हीं की बदौलत क…

गुड़हल रोगों की अचूक दवा

गुड़हल एक सामान्य पौधा है। जिसके फूल बहुत उपयोगी होते हैं आयुर्वेद में इसे कई रोगों में रामबाण दवा माना गया है। भारतीय पारंपरिक चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद के अनुसार सफेद गुड़हल की जड़ों को पीस कर कई दवाएं बनाई जाती हैं। मेक्सिको में गुड़हल के सूखे फूलों को उबालकर बनाया गया पेय एगुआ डे जमाई का अपने रंग और तीखे स्वाद के लिये काफी लोकप्रिय है। आयुर्वेद में इस फूल के कई प्रयोग बताएं गए हैं।
 मुंह के छाले में गुड़हल के पत्ते चबाने से लाभ होता है।गुड़हल का शर्बत दिल और दिमाग को शक्ति प्रदान करता है तथा बुखार व प्रदर में भी लाभकारी होता है। यह शर्बत बनाने के लिए गुड़हल के सौ फूल लेकर कांच के पात्र में डालकर इसमें 20 नीबू का रस डालें व ढक दें। रात भर बंद रखने के बाद सुबह इसे हाथ से मसलकर कपड़े से इस रस को छान लें। इसमें 80 ग्राम मिश्री, 20 ग्राम गुले गाजबान का अर्क, 20 ग्राम अनार का रस, 20 ग्राम संतरे का रस मिलाकर मंद आंच पर पका लें।मैथीदाना, गुड़हल और बेर की पत्तियां पीसकर पेस्ट बना लें। इसे 15 मिनट तक बालों में लगाएं। इससे आपके बालों की जड़ें मजबूत होंगी और स्वस्थ भी।मैथीदाना, गुड़हल और बेर की…

3डी प्रिंटर छापेगा पकवान

बर्सिलोना स्टार्टअप नेचुरल मशीन एक ऐसा 3डी प्रिंटर का प्रोटोटाइप है जो मनचाहा डिश बना सकता है. इसे फूडिनी ने विकसित किया है. इससे चॉकलेट, कुकीज़ आदि इंस्टेंट खाद्य पदार्थ बनाया जा सकता है. तकनीकी रूप से यह प्रिंटिंग नहीं है. एक पाइप के मार्फ़त इससे कई तरह की खाने की चीज़ें बनाई जा सकती हैं. इसमें छह अलग-अलग तत्वों के लिए हौज़ पाइप लगे होते हैं. इससे डिज़ाइन किए गए डिश का निर्माण होता है. अंतरिक्षयात्रियों को भोजन मुहैया कराने के लिए नासा भी इस तरह के प्रोटोटाइप का परीक्षण कर रहा है.सियोभान एंड्र्यूज़ ने एक ऐसा टच स्क्रीन चॉपिंग ब्लॉक बनाया है जो टुकड़ों के आकार के आधार पर आपको बता देता है कि खाने वालों की तय संख्या के लिए पर्याप्त है. इसे 'गेटइटडाउनऑनपेपर' प्रतियोगिता में पुरस्कार भी मिल चुका है. इसका विकास शार्प लेबोरेटरीज़ ऑफ़ यूरोप एंड ह्यूमन इनवेंट द्वारा प्रायोजित था. टफेंड ग्लास से बना यह चॉप सिंक आपकी ऑनलाइन ख़रीदारी लिस्ट में से रेसिपी सुझा सकता है और सुपर मार्केट को ऑर्डर भी भेज सकता है. 2013 के इलेक्ट्रोलक्स डिज़ाइन लैब प्रतियोगिता में न्यूट्रिमा फ़ूड एनॉलिसिस मैट क…

मार्कोस रॉड्रिग्ज पेंटोजा :जिसे बाप ने बेचा और भेड़ियों सांपो ने बचाया

मार्कोस को याद है वह बहुत छोटे थे, क़रीब छह या सात साल के, जब उनके पिता ने उन्हें एक किसान को बेच दिया था. वह किसान उन्हें एक बूढ़े चरवाहे की मदद करने के लिए सिएरा मोरेना के पहाड़ों में ले गया. जल्द ही उस बूढ़े व्यक्ति की मौत हो गई और मार्कोस अकेला रह गए. कई सालों तक अपनी सौतेली मां से पिटने के डर से मार्कोस ने भी इंसानों की संगत के बजाए पहाड़ों में एकांत में रहने की ठान ली और वहां से जाने की कोई कोशिश नहीं की. मरने से पहले उस बूढ़े चरवाहे ने एक बात मार्कोस को ज़रूर सीखा दी थी की कभी भी भूखे मत रहो. मार्कोस लकड़ियों और पत्तियों का जाल बना कर ख़रग़ोश और तीतरों का शिकार करना सीख चुके थे.मार्कोस के अनुसार "जानवरों ने मुझे सिखाया की क्या खाना है. जो कुछ भी वह खाते थे, मैं भी वही खाता था. जंगलीसुअर  ज़मीन के नीचे दबे हुए कंद खाते थे. सुअर उनका पता लगा पाते थे क्योंकि उनको उसकी गंध आ जाती थी. जब सुअर कंद-मूल के लिए ज़मीन खोदते थे तो मैं उन्हें पत्थर मार कर भगा देता था और सुअर वहां से भाग जाते थे और मैं कंद चुरा लेता था." मार्कोस ने कहा कि बहुत से जानवरों के साथ उनके एक तरह के ख़ा…

मैक्सिको में नशीले पदार्थो से जुड़े ड्रग वार और मानव बलि

मैक्सिको में सेंट डेथ– संप्रदाय के अनुयायियों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। इस संप्रदाय के अनुयायी शादी के जोड़े वाली स्त्री के कपाल की पूजा करते हैं। देश में इसके 80 लाख अनुयायी हैं। अमेरिका और कनाडा में भी इसके अनुयायी हैं। नशीले पदार्थो के तस्कर भी गिरफ्तारी से बचने और अधिक से अधिक पैसा बनाने के लिए इस देवी की पूजा करते हैं और मानव बलि देते हैंमैक्सिको के फादर कैरो ने कहा, उन्होंने एक व्यक्ति के लिए पूजा करवाई। वह जिंदा लोगों को टुकड़ों में काटने वाले गिरोह का मुखिया था

ईश्वर और शैतान होते हैं या नहीं इस पर सदियों से विवाद है। लेकिन मैक्सिको के धर्मगुरुओं ने दावा किया है कि मैक्सिको पर शैतान ने हमला कर दिया है। उनका दावा है कि ईश्वर उनसे लड़ रहा है। अब लोगों को भी उनसे लड़ने की जरूरत है।धर्मगुरुओं के अनुसार मैक्सिको में नशीले पदार्थो से जुड़े ड्रग वार और मानव बलि इस हमले की पहचान है। मैक्सिको 2006 से इसकी गिरफ्त में है और आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक इसमें 70,000 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। सड़क किनारे लगभग रोज मिलने वाले स्कूली बच्चों के शव इसके सबूत हैं। व्यस्त सड़कों के…

भविष्य की नयी तकनीक और विज्ञान

ssgoogal photo

googal photo विज्ञान का  सफर  आदि काल से  शुरू  हो गया था |  
जब मनुष्य  कृषि और पत्थर के औंजारो का प्रयोग किया  
विज्ञान ने जहा हमे तकनीको के द्वार खोल कर जीवन को 
सरल एवं  सुगम्य बनाया है परंतु अध्यात्म के विना जीवन मे 
शांती नहीं मिल सकती  कही ना कही विज्ञान और अध्यात्म
एक हो जाते है आगे देखे कैसे तकनीक ने हमारा जीवन आसान कर दिया है 
oKku dk lQj vkfn dky ls gh ‘kq: gks x;k FkkA tc euq”; d`f”k ,oa  iRFkjksa ds vkStkjksa dk iz;ksx djuk ‘kq: dj fn;k FkkA foKku ds dbZ :i gSA ;fn अध्यात्म  dks foKku ls tksM+k tk, rks 
अध्यात्म  fpUru Hkh foKku dks djhc ys tkrk gSA ;ks dgsa fd foKku vkSj अध्यात्म  ,d gh flDds ds nks igyq gSA 
nksuksa dk pje fcUnq ,d gh gSA foKku us thou dks tgka ljy ,oa lqxE; cuk;k gS ogha blds nq:i;ksx ls lekt esa 
vjktdrk Hkh QSyh gSA bl lcds ckctwn foKku dk bl ekuork ds fy, fodkl ds fy, vrqyuh; ;ksxnku gSA 
d`f”k ls ysdj vUrfj{k rd foKku us leL;kvksa dks gy djus dk iz;kl fd;k gSA vkus okys Hkfo”; esa 
ubZ rduhdksa ds vkus ls lekt dSlk gksxk] D;k lekt ds tks fu;e vkt …