सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

November 17, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

बादाम और लंबी उम्र

एक शोध के मुताबिक़ बादाम खाने वाले लोग लंबी उम्र जीते हैं

न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ़ मेडिसिन में प्रकाशित शोध के अनुसार उन लोगों को सबसे ज़्यादा फ़ायदा होता है जो रोज़ाना चबाकर-चबाकर बादाम खाते हैं. अमरीकी टीम ने इस शोध में एक लाख 20 हज़ार लोगों पर 30 साल तक नज़र रखी गई.हालांकि ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन का कहना है कि बादाम और लंबी उम्र के बीच के रिश्ते को साबित करने के लिए अभी और ज़्यादा शोध की ज़रूरत होगी. बादाम का सेवन कोलेस्ट्रॉल और सूजन को कम करता है.डाना-फैबर कैंसर इंस्टीट्यूट और ब्रीगम एंड वीमंस हॉस्पिटल के मुख्य शोधकर्ता डॉ. चार्ल्स फक्स ने कहा, "बादाम खाने से हृद्य रोगों से होने वाली मौतों में 28 प्रतिशत की कमी देखी गई है. इसके अतिरिक्त कैंसर से होने वाली मौतों में 11 प्रतिशत तक की कमी देखी गई." ब्रिटिश हृद्य संस्थान में वरिष्ठ आहार विशेषज्ञ विक्टोरिया टेलर कहती हैं, "यह अध्ययन नियमित रूप से बादाम के सेवन और हृद्य रोगों से संभावित मौतों के बीच कमी में एक संबंध स्थापित करता है." sabhar  :http://www.bbc.co.uk

भव्य रॉयल हवेली संत के लिए बनी है

यह ट्राईसिटी की जानी मानी आर्किटेक्ट रेणु खन्ना का घर है जोकि किसी हवेली के मॉडिफाइड रूप से कम नहीं।









घर की डिजाइनिंग करते हुए लाइटनिंग के खर्च के बारे में सोचा। इसलिए सोलर पॉवर, रेन वॉटर हॉर्वेस्टिंग सिस्टम और वॉटर हीटर को यूज किया। ताकि शाम 6 बजे तक घर में कोई लाइट न जलानी पड़े। घर के सामने पहाड़ साफ नजर आता है। यह नजारा घर के हर कोने से दिख सके चाहे वो गेस्ट का कमरा हो, किचन हो या फिर बेडरूम। इसलिए खिड़कियों को बड़ा बनाया। सब कुछ बहते हुए पानी की तरह बनाया। नेचुरल लाइट पर फोकस करते हुए छतों की डिजाइनिंग की।’

रेणु श्री रविशंकर की फॉलोअर है। उन्होंने अपने गुरू जी के लिए घर में एक खास रूम बनाया है। उसे नीले रंग का इफैक्ट दिया है। यह इसलिए क्योंकि नीला रंग भगवान शिव का प्रतीक है। दीवार पर मोर और उस पर ब्लू लाइटनिंग इस्तेमाल की है।

घर में वास्तु के मुताबिक भी कुछ डिजाइनिंग की गई है। इस पर रेणु बताती हैं, ‘ यहां वास्तु के हर आस्पेक्ट को जोड़ा है। रंगों से लेकर पंच तत्वों को। हर इंसान पंच तत्व से बना है। जल, अग्नि, वायु, धरती और आकाश। घर के कमरों को मैंने इन पांचों तत्वों से जोड़ा है। किसी कम…

कहीं स्मार्ट टीवी आपकी ‘जासूसी’ तो नहीं कर रहा?

इलेक्ट्रॉनिक सामान बनाने वाली कंपनी एलजी पर इंग्लैंड के एक आईटी कंसल्टेंट ने जासूसी करने का आरोप लगाया है।

उनका कहना है कि प्राइवेसी सेटिंग को एक्टिवेट करने के बावजूद एलजी के स्मार्ट टीवी लोगों की टीवी देखने की आदत के बारे में कंपनी को विस्तृत जानकारी भेजते हैं। एलजी इन आरोपों की जांच कर रही है।

हल के आईटी कंसल्टेंट जैसन हंटले ने एक ब्लॉग में लिखा है कि आप कौन से चैनल देख रहे हैं, इसकी जानकारी स्मार्ट टीवी एलजी को भेजता है।
उनकी जांच में यह भी सामने आया कि स्मार्ट टीवी उससे जुड़े अन्य उपकरणों की जानकारी भी कंपनी को देता है।

इसका मतलब यह हो सकता है कि एलजी ने नियमों का उल्लंघन किया है। इस बारे में ब्रिटेन के सूचना आयुक्त कार्यालय ने कहा है कि वो मामले को देख रहे हैं।
एक प्रवक्ता ने कहा, ''हमें हाल ही में जानकारी मिली है कि गोपनीयता का उल्लंघन किया गया, इसमें 
क्लिक करें एलजी का स्मार्ट टीवी भी शामिल हो सकता है।''

ब्रिटेन के सूचना आयुक्त के कार्यालय ने कहा है कि वह आरोपों की जांच कर रहा है। उसके बाद ही कार्रवाई के बारे में 

फैसला किया जाएगा। जैसन हंटले ने कहा कि जब उन्होंने दक्…

खजाने की खोजः जेसीबी मशीन लेकर खुदाई करने पहुंचे ओम बाबा

डोंडिया खेड़ा में खजाने की खोज में गुरुवार को नया मोड़ आ गया। एएसआई की टीम के खुदाई बंद करने के बाद संत शोभन सरकार के शिष्य ओम बाबा ने खुद मोर्चा संभाल लिया। ओम बाबा खुद जेसीबी मशीन लेकर खुदाई करने पहुंच गए। गौरतलब है कि पिछले दिनों एएसआई की टीम किले में खजाने की खोज के लिए खुदाई बंद कर वापस लौट चुकी है।बृहस्पतिवार सुबह संत शोभन सरकार ने बक्सर आश्रम में विशेष पूजा कर जेसीबी मशीन के साथ किले में खजाने की खुदाई के लिए ओम बाबा को भेज दिया। खुदाई शुरू कराए जाने की खबर से भीड़ के साथ पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस जेसीबी को अपने साथ लेकर जाने लगी तो भीड़ आक्रोशित हो उठी। भीड़ के तेवर बिगड़ते देख बैकफुट पर आई पुलिस ने जेसीबी को किला परिसर में खड़ा करा दिया। एसडीएम विजय शंकर दुबे भी मौके पर पहुंचे और हालात को संभालने की कोशिश की। जिसके बाद ओम बाबा बक्सर आश्रम वापस चले गए। उन्होंने पत्रकारों को बताया कि फोन पर प्रशासन से सहमति मिलने के बाद वे लोग आए थे, लेकिन बाद में प्रशासन मुकर गया।




sabhar : jagaran.com  : bhaskar.com

परामनोविज्ञान द्वारा आत्मा को जाने

अमर उजाला डाट com मे प्रकाशित खबर के मुताबिक  परामनोविज्ञानऔर आत्मा से सम्बन्धित खबर के अनुसार  परामनोविज्ञान का संबंध मनुष्य की उन असामान्य शक्तियों से है, जिनकी व्याख्या अब तक के प्रचलित सामान्य मनोवैज्ञानिक सिद्धांतों से नहीं हो पाती। इन तथाकथित प्राकृति से परे तथा विलक्षण प्रतीत होने वाली घटनाओं या प्रक्रियाओं की व्याख्या में ज्ञात भौतिक तत्वों से भी सहायता नहीं मिलती।

परिचित ज्ञान, विचार संक्रमण, दूरानुभूति, पूर्वाभास, अतींद्रिय ज्ञान, मनोजनित गति या साइकोकाइनेसिस आदि कुछ ऐसी प्रक्रियाएं हैं, जो एक भिन्न कोटि की मानवीय शक्ति तथा अनुभूति की ओर संकेत करती हैं। इन घटनाओं की वैज्ञानिक स्तर पर घोर उपेक्षा की गई है और इन्हें बहुधा जादू-टोने से जोड़कर, गुह्यविद्या का नाम देकर विज्ञान से अलग समझा गया है।

किंतु ये विलक्षण प्रतीत होने वाली घटनाएं घटित होती हैं। वैज्ञानिक उनकी उपेक्षा कर सकते हैं, पर घटनाओं को घटित होने से नहीं रोक सकते। इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि आज भी परामनोविज्ञान को वैज्ञानिक संदेह तथा उपेक्षा की दृष्टि से देखता है। किंतु वास्तव में परामनोविज्ञान न जादू टोना है, न वह गुह्य…

महिला पत्रकार के यौन उत्पीडऩ के आरोप के बाद 'तहलका' के संपादक ने दिया इस्‍तीफा

‘तहलका’ पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल पर महिला पत्रकार के यौन उत्पीडऩ के आरोप का मामला तूल पकड़ने लगा है।तेजपाल ने आरोप स्वीकार कर लिया है। उन्‍होंने मेल भेजकर घटना के लिए माफी मांगी है। साथ ही छह महीने के लिए तहलका के संपादक पद से इस्तीफा दे दिया है। बताया जाता है कि तेजपाल इस महिला के पिता के सहकर्मी रह चुके हैं। पीडि़त तेजपाल की बेटी की सहेली भी है।मामले का खुलासा बुधवार देर रात हुआ। हालांकि घटना 8 से 10 नवंबर के बीच गोवा में हुई। उस वक्त वहां तहलका का ही कार्यक्रम ‘थिंक’ चल रहा था। तहलका की मैनेजिंग एडिटर शोमा चौधरी को लिखे पत्र में तेजपाल ने कहा- ‘बीते कुछ दिन बेहद मुश्किल रहे हैं। मैं इसका पूरा दोष खुद पर लेता हूं। गलत निर्णय और स्थिति को गलत तरीके से समझने की वजह से यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई। यह उसके खिलाफ है, जिसके लिए हम लड़ते रहे हैं। मैं संबंधित पत्रकार से दुर्व्‍यवहार के लिए बिना शर्त माफी मांगता हूं। मैं इसका प्रायश्चित भी करना चाहता हूं।’





तेजपाल के मेल की सूचना कर्मचारियों को दे दी गई है। चौधरी ने कहा कि यह संस्थान का भीतरी मामला है और महिला पत्रकार इस जवाब और माफीनामे …

दिमाग को शार्प बनाने के कुछ तरीके

आप अपने शरीर को फिट और एक्टिव रखने के लिए व्‍यायाम करते है लेकिन अपने मन को स्‍वस्‍थ और दिमाग को तेज बनाएं रखने के लिए क्‍या करते है। किसी पहेली को सुलझाना या अपने नए गैजेट को पूरा छान मारना और उसके हर फीचर्स को जान लेना आपके दिमाग को शार्प बनाता है लेकिन शायद काम पर्याप्‍त नहीं है। हम आपको बताएंगे कुछ ऐसे तरीकों के बारे में जिनसे आप अपने दिमाग को शार्प बना सकते है। कई बार बढ़ती उम्र के कारण या उत्‍तेजना की कमी के कारण मस्तिष्‍क सही तरीके से काम नहीं करता है और हम चीजों को भूल जाते है या ज्‍यादा समय तक ध्‍यान नहीं रखते। बताएं जाने वाले सभी काम मजेदार है और इन्‍हे आपको हर दिन की दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। इसके बाद खुद में आए परिवर्तनों को देख लें

ज़िंदगी में रोबोट आएंगे काम

रोबोट करेंगे मालिश टोयोटा कंपनी ऐसी डिवाइस बना रही है, जो वृद्धों के आने-जाने में मददगार है. इसी तरह टोली क्रॉप ने वायरलेस सेंसर वाली चटाई तैयार की है, जो वृद्ध लोगों के चलने-फिरने के दौरान उन पर निगाह रख सकता है और उन्हें फ़ीडबैक दे सकता है 24 अंगुलियों वाले एक विशेष रोबोट का विकास किया गया है, जो बाल धो सकता है और सिर की मालिश कर सकता है. पैनासोनिक ने जापान के हेयर सैलून में ऐसे रोबोट का इस्तेमाल किया है. वृद्ध लोगों की देखभाल के लिए रोबोट के इस्तेमाल से जुड़े परीक्षण सिंगापुर से लेकर साल्फोर्ड तक सभी जगह किए जा रहे हैं.
बर्मिंघम विश्वविद्यालय की रोबोटिक्स परियोजना स्ट्रैडस को यूरोपीय संघ से 80 लाख यूरो की मदद मिली है. सेक्स के लिए रोबोट अच्छी माने जाने वाली महिला रोबोट एचआरपी-4सी का विकास नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ एडवांस्ड इंडस्ट्रियल साइंस एंड टेक्नोलॉजी (एआईएसटी) ने किया है. रॉक्सी का वज़न 27 किलोग्राम और लंबाई पांच फुट सात इंच है. इसके बाल अलग-अलग रंगों में उपलब्ध हैं, त्वचा का रंग इंसानों की तरह है और वो अपने हाथ-पांवों को इंसानों की तरह मोड़ सकती है. रॉक्सी इलेक्ट्रिक इंजीनियर और …

दस साल का बच्चा दो साल तक करता रहा रेप

ब्रिटेन के लेंड्यूडनो में दस साल का बच्चा इंटरनेट पर पोर्नोग्राफी देखकर सात साल की स्कूलगर्ल से रेप करता रहा। कोर्ट की सुनवाई के दौरान पता चला है कि पोर्नोग्राफी की लत का शिकार यह लड़का, बच्ची को करीब दो सालों तक अपना शिकार बनाता रहा। यहीं न हीं यह स्कूलब्वॉय घंटों अपने घर के कंप्यटर पर पोर्न फिल्में देखता और फिर उन्हीं दृश्यों को लड़की की साथ आजमाता था। बच्चे ने अपने अपराध को स्वीकार किया, हालांकि उसे जेल नहीं भेजा गया। कोर्ट ने पूरे मामले को सुनकर बच्चे को बाल सुधार गृह भेजने का आदेश दे दिया। साथ ही बच्चे को पुलिस रिकॉर्ड में 'सेक्स ओफेंडर' यानी सेक्स से जुड़े अपराधों का आदी होने के तौर पर रजिस्टर्ड किया गया है।कोर्ट में बताया गया था कि बच्चे की इस स्थिति के लिए उसका परिवार भी जिम्मेदार है। बच्चे के परिवार में कोई 'सेक्सुअल बाउंड्रीज' नहीं थी। यहां तक की यह बच्चे ने अपनी मां को भी सेक्स करते हुए देखा था। उसकी मां भी इस बात से भली भांति वाकिफ थी कि उनका बच्चा घंटों बैठकर इंटरनेट पर अश्लील  तस्वीरें देखता था। इसके बावजूद परिवार ने बच्चे को रोकने की कोशिश नहीं की। ऐसे म…

सिर पर उग आए सींग

जानकारी के अनुसार अमरपुर प्रखंड के सलेमपुर गांव के जगदीश कापरी के सिर पर यह सींग निकला है। कापरी ने बताया कि छह महीने पहले सर्दियों के दौरान उन्हें सिर के बीच में सींग विकसित होने का एहसास हुआ। जगदीश के रिश्तेदार राजीव कापरी ने बताया कि सर्दियों में जगदीश की ऊनी टोपी फाड़कर सींग बाहर निकल आया। इसके बाद सबका ध्यान इस ओर गया। जगदीश का कहना है कि उन्हें सींग से कोई विशेष तकलीफ नहीं है। मगर, सिर पर असामान्य रूप से सींग निकलने से वे सहमे हुए हैं। स्थानीय चिकित्सकों से भी समस्या पर बात की गई। सभी पसोपेश में पड़ गए। जगदीश की उम्र के मद्देनजर चिकित्सक शल्य क्त्रिया कर सींग हटाने से भी परहेज कर रहे हैं। इस बाबत सिविल सर्जन डॉ. एनके विद्यार्थी ने बताया कि चिकित्सा विज्ञान में हॉर्न यानी सींग निकलने की बात अभी तक सामने नहीं आई है। कभी-कभी शरीर के किसी हिस्से में मांस का अतिरिक्त हिस्सा निकलने के मामले जरूर सामने आते रहे हैं। मगर, ठोस सींग का निकलना बिल्कुल अनोखा मामला है। जल्द ही मेडिकल टीम भेजकर कापरी की जांच कराई जाएगी। तत्पश्चात उनके इलाज पर विचार किया जाएगा। sabhar : jagaran.com

LTTE का सफाया ऐसे श्रीलंकाई सेना ने किया था

साल 2009 में श्रीलंका से लिट्टे के सफाये के दौरान की तस्वीरें आप आगे की स्लाइड्स में देख सकते हैं। राजपक्षे इन तस्वीरों को भले ही कितना भी झुठला लें, लेकिन ये जाहिर करती हैं कि वहां मानवाधिकारों का किस कदर उल्लंघन किया गया था
























sabhar : bhaskar.com




My Journey to the Land of the 'Majestic Past With Unspoken Pain' !!! : Sonia singh

Every place has a past and future too but some places do have glorious past but no future… I visited one such place recently…….. in Rajasthan, people say it is one among the most haunted places in the world....

Derrick says…..When we talk about haunted places in India, the first name that pops up in mind is the place which has also been listed among the 10 most haunted places in the world, the Bhangarh village which is ruined of a kingdom of Raja Madho Singh, Younger brother of Man Singh, a general of Emperor Akbar’s army in Rajasthan between Jaipur and Delhi. There is a belief that the place is haunted by ghosts ‘after sunset’ and no one dares to go there after the sunset. So, he warned me this place is not for weak hearted…. “Complete explore at your own risk”. I was ready with the million dollar smiles…..


And journey begins... In my childhood I used to enjoy good ghost story. My imagination perked up further when I was told that the incident was a real one and felt envious of those…