सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

September 15, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कैसे चुनें मनपसंद लड़की, इन मामलों में आसाराम से भी चार कदम आगे था गद्दाफी

नाबालिग लड़की से दुष्कर्म करने के आरोप में गिरफ्तार  संत आसाराम के हर दिन नया खुलासा सामने आ रहा है। उनके निजी सचिव ने आरोप लगाया है कि आसाराम सत्संग के दौरान  टॉर्च की रोशनी मारकर और या फल फेंक कर लड़कियों और महिलाओं का चुनाव करते थे। वह हमेशा 15 से 35 साल उम्र की लड़कियों और महिलाओं को शिकार बनाते थे। भारत के आसाराम की तरह ही लीबिया का तानाशाह भी लड़कियों को ऐसे ही चुनता था।  यह दावा फ्रेंच पत्रकार एनिक कोजिन ने अपनी किताब 'प्रे: इन गद्दाफीज हरम' में किया है। इस किताब में गद्दाफी की सेक्स लाइफ से जुड़े कुछ अनछुए पहलुओं को उजागर किया गया है। अपनी ही जनता द्वारा मारा गया लीबिया का तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी सेक्स का भूखा भेड़िया था। वह नाबालिग लड़कियों के अलावा 13 साल से कम उम्र के लड़कों को भी अपनी हवस शिकार का बनाता था। एक लड़की के हवाले से कोजिन लिखती हैं कि कैसे 15 वर्षीय लड़की सोराया (काल्पनिक नाम) को स्कूल से उठाकर गद्दाफी के बिस्तर तक पहुंचा दिया गया। सोराया ने बताया कि साल 2004 में गद्दाफी किसी कार्यक्रम में शिरकत करने उसके स्कूल आया था। उसके स्वागत के लिए लड़की ने फूलों…

अमेरिका की चकाचौंध का नंगा सच, गंदे नालों में कुछ यूं बिता रहे हैं जिंदगी

लास वेगास अपनी रोशनी के लिए दुनिया में मशहूर है। मगर इस चकाचौंध के पीछे कुछ लोग अंधेरे में जीवन बिता रहे हैं। यहां की 200 मील लंबी अंडरग्राउंड फ्लड टनल्स, अब करीब एक हजार लोगों का घर बन चुकी है। इनमें रहने वाले लोग वे हैं जो अपना सब कुछ जुआं खेलते हुए गंवा चुके हैं। इनके पास न छत बची है न पैसे। इनमें से कुछ लोग दिन के वक्त काम भी करते हैं। ये लोगों द्वारा डंप किये हुए डबल बेड और सोफा लगाकर इस अंधेरी सुरंग को रहने लायक बना चुके हैं। किसी ने कारपेट लगाया तो किसी ने दीवार पर ग्राफिटी बना ली है। यहां साधारण जिंदगी बसर कर रहे इन लोगों पर फिल्म भी बन चुकी है। इस पर ओ ब्रायन ने ‘बीनीथ द नियोन’ नामक एक किताब भी लिखी है।  


sabhar : bhaskar.com

ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

पौराणिक काल की एक कहानी में नचिकेता और यमराज का प्रसंग मिलता है। कथा के मुताबिक, ऋषि बाजश्रवा ने अपने पुत्र नचिकेता को गुस्से में यमराज को सौंप दिया। यमराज ने नचिकेता को यमलोक से जाने के लिए कहा, लेकिन नचिकेता ने जाने से मना किया। नचिकेता ने यमराज से तीन वर मांगे, जिसमें एक वरदान में उन्होंने पूछा कि इंसान की मृत्यु क्यों होती है। इस कठिन सवाल का जवाब भी यमराज नहीं देना चाहते थे, लेकिन बालक नचिकेता की जिद करने पर उन्होंने यह गूढ़ रहस्य खोला।

पौराणिक काल की यह कहानी मौत के बाद इंसान की मृत्युलोक पर वापसी की कोई राह नहीं दिखाती है। जो जन्मा है वह एक दिन जरूर मरेगा। बाइबल में ईसा मसीह अपनी मौत के दो दिन बाद दोबारा जी उठे थे। लोगों का कहना है कि वे ईश्वर के पुत्र थे ना कि कोई आम इंसान। इसके बावजूद हमारे आसपास कुछ ऐसी घटनाएं देखने और सुनने को मिलती हैं, जिसमें कई लोग मरने के बाद पुन: जी उठे।

हाल ही में एक वेबसाइट ने दस ऐसी कहानियों की सूची जारी की है। इसमें इंसान मरने के बाद फिर से जिंदा हो गया। कई मामले ऐसे थे, जिनमें मृत व्यक्ति अंतिम संस्कार के आखिरी पलों में जी उठा। आइए नजर डालते हैं ऐसी…

डॉक्‍टर का अदभुत कारनामा: फिर से उगाई कटी हुई उंगली

डेलरे बीच (मायामी) : अमेरिका के फ्लोरिडा प्रांत के सुदूर दक्षिणी महानगर मायामी के डेरले बीच में एक चिकित्सक ने चिकित्सा के क्षेत्र में अनोखा कारनामा कर दिखाया है। चिकित्सक यूगेनियो रॉड्रिग्ज ने एक अनोखी पद्धति का उपयोग कर एक मनुष्य के हाथ की कट गई उंगली को फिर से सफलतापूर्वक उगा दिया। 

एक अमेरिकी समाचार चैनल ने रॉड्रिग्ज के हवाले से बताया कि 33 वर्षीय पॉल हेल्पर्न अपनी कटी हुई उंगली एक चैन लगे पॉलीथीन में रखकर उनके पास उपचार के लिए आया। हेल्पर्न की बीमा कंपनी चाहती थी कि उसकी बची हुई उंगली भी काट दी जाए, जबकि रॉड्रिग्ज उसकी उंगली फिर से उगाने के लिए एक नई पद्धति का इस्तेमाल करना चाहते थे। 

अपने घोड़े को खाना खिलाते हुए हेल्पर्न के घोड़े ने उनकी उंगली ही चबा ली थी। रॉड्रिग्ज ने बताया कि हेल्पर्न जल्द से जल्द से अपनी उंगली का उपचार चाहता था। रॉड्रिग्ज ने बिना किसी चीरफाड़ के हेल्पर्न की उंगली को फिर से उगाने की बात कही। 

रॉड्रिग्ज ने बताया कि वास्तव में इस पद्धति का इससे पहले कभी प्रयोग नहीं किया गया। रॉड्रिग्ज ने सुअर के मूत्राशय के ऊतकों के इस्तेमाल से हेल्पर्न की कटी हुई उंगली का नमूना …

अपने ही ख़िलाफ़ सीबीआई जांच की मांग!

छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव सुनिल कुमार ने अपने ही ख़िलाफ़ सीबीआई जांच की मांग की है. उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह को इस आशय का पत्र लिखा है. सुनिल कुमार के इस पत्र की राजनीतिक और प्रशासनिक महकमे में ख़ूब चर्चा है.
असल में कोरबा के एक राजनीतिक कार्यकर्ता ने छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव सुनिल कुमार, अपर मुख्य सचिव डीएस मिश्रा और राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान की प्रबंध संचालक रहीं आर संगीता के ख़िलाफ़ कथित भ्रष्टाचार की शिकायत की थी. केंद्र के मुख्य सतर्कता आयुक्त से की गई इस शिकायत में आरोप लगाया गया था कि राज्य में फ़र्नीचर और क्लिक करेंसाइकिल की ख़रीदारी में कथित रुप से घोटाला हुआ है. शिकायत में इन अफ़सरों पर उन सामानों को अधिक क़ीमत पर ख़रीदने के आरोप लगाए गए थे. अब इस शिकायत को लेकर राज्य के मुख्य सचिव सुनिल कुमार ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर कहा है कि वे राज्य के सर्वोच्च प्रशासनिक पद पर बैठे हैं, ऐसे में उनके ख़िलाफ़ की गई शिकायत की जांच ठीक से नहीं हो पाएगी. राज्य के कम से कम 11 आईएएस अफसरों के खिलाफ पहले से ही शिकायतें रही हैं और उनके मामलों की जांच चल रही है उन्होंने कहा…

ट्यूनीशिया के लिए बड़ी समस्‍या बनीं सीरिया में 'सेक्स जिहाद' करने वाली लड़कियां

गृहयुद्ध की आग में झुलस रहे सीरिया में अब सेक्स जिहाद ने भी जोर पकड़ लिया है।पड़ोसी देश ट्यूनीशिया की लड़कियां और महिलाएं लड़ाकों की सेक्स जरूरत को पूरा करने के लिए सीरिया जा रही हैं। यह चौंकाने वाला खुलासा ट्यूनीशिया सरकार के गृहमंत्री लोफी बेन ने किया है। उन्होंने नेशनल असेंबली के सदस्यों को बताया कि सीरिया में विद्रोहियों को यौन सुख देने के बाद ट्यूनीशियाई महिलाएं वापस गर्भवती होकर मुल्क लौट आती हैं। एक महिला 20, 30 और 100 मर्दो के साथ सेक्स संबंध बनाती है। इस काम को 'जिहाद अल-निकाह' (सेक्शुअल होली वॉर) के नाम पर वैध करार देने की कोशिश की जा रही है। 
जिहाद अल-निकाह किसी भी महिला को विवाहेत्तर यौन संबंध बनाने और कई पार्टनर के साथ सोने की छूट देता है। हैरानी की बात है कि सुन्नी कट्टरपंथी मुस्लिमों ने भी इसे पवित्र युद्ध के रूप में इजाजत दे दी है। ऐसी कितनी महिलाएं सीरिया में इस मिशन में लगी हुईं हैं, इसका मंत्री बेन ने खुलासा नहीं किया। लेकिन मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, करीब 100 महिलाएं सीरिया में अपनी सेवाएं दे रही हैं। 

मंत्री बेन ने खुलासा किया कि मार्च के उनके मंत्री बनने के…

बेटी को किस करने से परवीन बाबी से रिश्ते तक, हमेशा विवादों में रहे हैं महेश भट्ट

बॉलीवुड के फिल्म निर्माता महेश भट्ट का (20 सितंबर) जन्मदिन है। इनका जन्म 1948 में मुंबई में हुआ था। फिल्म इंडस्ट्री में ये डायरेक्शन के अलावा प्रोडक्शन और स्क्रीन राइटिंग का काम भी करते हैं। ये तो हो गई इनके करियर की बात। लेकिन यहां पर हम आपको बताने जा रहे हैं इनकी जिंदगी के विवादास्पद पहलुओं को। वैसे महेश भट्ट कितने कंट्रोवर्शियल हैं ये बात सभी जानते हैं। फिर चाहें अपनी ही बेटी को किस करने की बात हो या फिर उससे शादी करने की इच्छा। महेश भट्ट गाहे-बगाहे ऐसी ही हरकतों के कारण चर्चा में बने रहते हैं। वैसे भट्ट कैंप की फिल्में भी खूब चर्चा में रहती हैं। अधिककर बोल्ड विषयों पर मसालेदार फिल्में बनाने के कारण बॉक्स ऑफिस पर तो इनकी फिल्में सफल हो जाती हैं लेकिन समीक्षकों से इन्हें ठेंगा ही मिलता है। कुल मिलाकर इस पैकेज के जरिए हम आपको महेश भट्ट से जुड़ी कई कंट्रोवर्सीज से रू-ब-रू कराएंगे जिनकी वजह से ये चर्चा में तो आए लेकिन इनकी फजीहत भी खूब हुई। महेश भट्ट ने उस समय एक बयान देकर सनसनी मचा दी थी जिसमें उन्होंने अपनी ही बेटी पूजा भट्ट से शादी करने की इच्छा जता दी थी। महेश भट्ट ने कहा था कि …

पांच हजार साल से बर्फ के नीचे दबा आदिमानव, जब वैज्ञानिकों के हाथ लगा

वह तकरीबन पांच हजार साल से चिरनिद्रा में सोया हुआ था। इटली के एल्प्स पर्वतों की बर्फ की चादर ओढ़े हुए उसका सारा शरीर प्राकृतिक रूप से ममी बन चुका था। जी हां, 'ओएत्सी द आइसमैन' के नाम मशहूर इस ममी को आज ही के दिन 22 साल पहले 19 सितंबर 1991 को नींद से जगाया था। दो जर्मन पर्यटकों को पर्वत की ओएत्स घाटी पर घूमते हुए वह मिल गया। इस घाटी की ऊंचाई 3210 मीटर थी। अगले दिन उसे निकालने का प्रयास किया गया, लेकिन खराब मौसम ने साथ नहीं दिया। 22 सितंबर को आखिरकार उसे सुरक्षित तरीके से निकाल लिया गया। इन्सब्रुक यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि यह ममी पाषाणयुग का है। उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। पाषाण युग का एक आदमी इतनी 5000 साल लंबी यात्रा करके उनके साथ आधुनिक काल तक चला आया। जैसे इतिहास उनके सामने से गुजर गया हो। 
जेनेटिक रिसर्च के बाद यूरोपिय एकेडमी ऑफ बोल्जानो, जारलांड यूनिवर्सिटी, कील यूनिवर्सिटी और बाकी सहयोगियों ने जून 2013 में बताया कि उन्होंने ओएत्सी के मस्तिष्क के ऊतक के बहुत ही छोटे सैंपल से प्रोटीन और उसका विश्लेषण किया। उनके परीक्षण से उस थ्योरी की पुष्टि हुई कि इस …