शनिवार, 3 अगस्त 2013

फोन जो आवाज सुनकर करेगा बात

गूगल के स्वामित्व वाली मोटोरोला ने एक ऐसा फोन लॉन्च किया है जो 'ऑलवेज लिसनिंग' यानी हमेशा फोन मालिक की आवाज के इशारों पर काम करता है।

'मोटो एक्स' नाम से लॉन्च हुआ ये फोन 'टच स्क्रीन' वाला फोन नहीं है बल्कि सुनकर कमांड लेता है।

इस फोन का निर्माण अमेरिका में किया जाएगा। इसे उपभोक्ताओं की जरूरतों के अनुकूल बनाने के लिए इसमें तमाम विकल्प दिए गए हैं।

इंटरनेट के क्षेत्र में शीर्ष कंपनी गूगल ने पिछले साल मोटोरोला को 12।5 अरब डॉलर में खरीद लिया था। उसके बाद से मोटोरोला ने ये पहला उत्पाद पेश किया है।

मोबाइल फोन उद्योग के विश्लेषकों का कहना है कि मोटो एक्स के बाजार में आने से एंड्राएड ऑपरेटिंग सिस्टम के बाजार पर असर पड़ेगा क्योंकि कई दूसरे फोन निर्माता गूगल के इस ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं और वो मुनाफे के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

मोटो एक्स का हार्डवेयर अमेरिका के टेक्सास में एक नए प्लांट में बनाया जाएगा। कई कंपनियां अब 'मेड इन यूएसए' को भुनाने की दिशा में काम कर रही हैं और मोटोरोला भी अब उनमें शामिल हो गई है।

नया अनुभव
पिछले साल मई में मोटोरोला का स्वामित्व गूगल के पास आने के बाद से मोटो एक्स पहला ऐसा फोन है जिसे कंपनी ने पूरी तरह खुद डिजाइन किया है।

हालांकि गूगल के नियंत्रण में आने के बाद मोटोरोला ने कुछ अन्य हैंडसेट बाजार में उतारे हैं लेकिन उन पर पहले से ही काम चल रहा था।

मतलब ये कि मोटो एक्स एक ऐसा फोन है जिसे गूगल की मोबाइल फोन को लेकर बाजार रणनीति के संकेतक के रूप में देखा जा रहा है।

मार्केट इंटेलिजेंस फर्म आईडीसी के मोबाइल फोन विश्लेषक फ्रांसिस्को जरोनिमो का कहना है कि कंपनी ने फोन की नियंत्रण प्रणाली की मूलभूत अवधारणा को बदलने की कोशिश की है।

"बोलकर फोन को कमांड देना एक अलग अनुभव है। यूजर्स को इसमें बड़ा स्क्रीन मिलता है, वॉयस कंट्रोल है। इसलिए उपभोक्ता अगर इसकी ओर आकर्षित होते हैं तो उसकी सबसे बड़ी वजह होगी मौजूदा स्मार्ट फोन से अलग नया अनुभव। मेरे हिसाब से ये अगले साल के सबसे बड़े मोबाइल ट्रेंड में से एक होगा।"

जरोनिमो बताते हैं, "वॉयस कमांड सिस्टम वाले दूसरे फोन में पहले एक बटन दबाना होता है फिर आप कमांड दे सकते हैं। लेकिन इस ऑपरेटिंग सिस्टम में आपको पहले सिर्फ ये बोलना होगा - 'ओके गूगल नाउ...' और फिर अपना कमांड देना होगा, फोन कमांड के अनुसार काम करने लगेगा। ये वाकई बेहद आसान होगा।"

phone will work on voice command of user
गूगल बनाम सैमसंग
सैमसंग गूगल के एंड्रॉएड ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करने वाली सबसे प्रभावी कंपनी है, लेकिन अब इस नए फोन से होने वाली संभावित प्रतिस्पर्धा को लेकर दोनों कंपनियों के बीच तनाव बढ़ सकता है।

जरोनिमो कहते हैं, "एंड्रॉएड ऑपरेटिंग सिस्टम का पूरी दुनिया में होने वाले इस्तेमाल का 60 फीसदी अकेले सैमसंग करती है। एक तरह से गूगल और सैमसंग कारोबारी हित को देखते हुए एक-दूसरे पर निर्भर हैं।"

ऐसे में मोटो एक्स के बाजार में आने के साथ गूगल की कोशिश ये होगी कि ये सफल साबित हो और अगर ऐसा होता है तो सैमसंग के बाजार पर उसका असर होगा।

शायद इसी चुनौती को भांपते हुए पिछले हफ्ते ही सैमसंग ने घोषणा की कि जल्दी ही वो विशेषज्ञों का एक सम्मेलन आयोजित करेगा जिसमें तमाम सॉफ्टवेयर डेवलपर्स हिस्सा लेंगे।

मोटोरोला का कहना है कि मोटो एक्स को अमेरिका, कनाडा और लैटिन अमेरिका के बाजार में अगस्त के अंत या सितंबर की शुरुआत में उतारा जाएगा।

दो साल के कॉन्ट्रैक्ट डील के तहत खरीदे जाने पर इसकी कीमत होगी 199 डॉलर।

बीती दिनों में ले जाएगा फेसबुक का नया 'री-विजिट पास्ट' फीचर

facebook launch new feature

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने "री-विजिट पास्ट" नाम के नए फीचर को लॉन्च किया है। ये फीचर आपको निश्चित तारीख पर बीते सालों में ले जाकर पुरानी यादों को ताजा कर देगा।

इस ऩए फीचर में आप जान सकते हैं कि एक निश्चित तारीख को बीतों साल में आपके दोस्तों और आपने क्या किया था। ये पुरानी मेमोरी को रिमाइंड करने लिए लाया गया है। इसके साथ ही दाएं हाथ पर उस महीने से संबंधित बड़ी घटनाओं का जिक्र भी होगा।

फेसबुक ने लॉन्च किया नया ग्राफ सर्च

अभी तक ये फीचर सीमित यूजर्स को मुहैया कराया जा रहा है। इस पर फेसबुक के अधिकारियों का कहना है कि अभी ये फीचर कुछ सीमित ग्रुपों में ही मुहैया कराया जा रहा है। ये इसलिए क्योंकि इसके इस्तेमाल को लेकर फेसबुक अभी टेस्टिंग कर रहा है।

सोशल साइट्स के बीच बढ़ती प्रतिस्पर्धा को देखते हुए फेसबुक लगातार नए बदलाव कर रहा है। इससे पहले सर्च ग्राफ जैसे फीचर भी इसमें एड किया गया था। जो लोगों को धीरे धीरे भा रहा है।

इस नए फीचर के बारे में फेसबुक का कहना है कि अगर ये टेस्टिंग सफल रही तो हैश टैग, ग्राफ सर्च के बाद फेसबुक का ये बड़ा बदलाव होगा।  sabhar:http://www.amarujala.com/

समझिए, सेक्स क्षमता घटने के ये 6 इशारे

signs of lower testosterone sex hormone

सेक्स के प्रति अनिच्छा या फिर जल्दी थकान आपकी सेक्स लाइफ के लिए किसी खतरे के अलार्म से कम नहीं है। अमूमन सेक्स लाइफ की इस नाकामी का संबंध पुरुषों में मौजूद टेस्टोस्टेरोन नामक हार्मोन से होता है। 

टेस्टोस्टेरोन पुरुषों में सेक्स की इच्छा पैदा करता है और फर्टिलिटी से इसका संबंध है। शरीर में इसकी कमीं का प्रभाव न सिर्फ सेक्स लाइफ पर पड़ता है बल्कि और भी कई समस्याएं हो सकती हैं। 

जानिए टेस्टोस्टेरोन घटने से यौन क्षमता में होने वाली कमी सेहत से जुड़ी किन समस्याओं के रूप में इशारा करती है।

बहुत अधिक थकान होना
टेस्टोस्टेरोन कम होने का शरीर पर सबसे सामान्य प्रभाव पड़ता है थकान के रूप में। यह हार्मोन जब शरीर में कम होता है तब बिना मेहनत किए भी आपको थकान होती रहेगी, यहां तक कि बहुत थकान से आप अवसाद की स्थिति में पहुंच सकते हैं।

पौरुष में कमी
टेस्टोस्टेरोन घटने के साथ-साथ कई बार पौरुष में कमी आने लगती है। खासतौर पर सेक्स के दौरान इरेक्शन न होने की बड़ी वजह टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होना है। हालांकि दिल के रोग या डायबिटीज के दौरान भी पुरुषों में यह समस्या हो सकती है।

याददाश्त संबंधी समस्याएं
टेस्टोस्टेरोन कम होने का संबंध याददाश्त से भी होता है। अगर असका स्तर कम हो जाए तो चीजें याद रखने में दिक्कत हो सकती है या फिर किसी भी काम में आपका ध्यान नहीं लगेगा। योग, मसाज व एक्सरसाइज से इस पर काबू किया जा सकता है।

मूड में बदलाव
टेस्टोस्टेरोन कम होने की वजह से बार-बार मूड बदलने की समस्या भी हो सकती है। कुछ ही क्षण में गुस्सा और कुछ ही मिनटों में हंसी, अगर ऐसी तब्दीली आप अपने व्यवहार में देख रहे हैं तो इसे अपने यौन क्षमता से भी जोड़कर देखे क्योंकि इसकी वजह टेस्टोस्टेरोन का घटता स्तर हो सकता है।

शरीर के बाल झड़ना
सिर के बाल ठीक रहें और मूंछ, दाढ़ी, हाथ या पैर पर बाल झड़ने लगें तो इसकी वजह टेस्टोस्टेरोन का कम स्तर भी हो सकती है। कुछ मामलों में इसका संबंध गंजेपन से भी हो सकता है लेकिन इसके लिए डॉक्टरी परामर्श के बाद ही आप कुछ तय कर सकते हैं।

मोटापा

लगातार मोटापा बढ़ने की वजह टेस्टोस्टेरोन का कम स्तर भी हो सकता है। टेस्टोस्टेरोन कम होने से मांसपेशिया बनने के बजाय कैलोरी जमा हो जाती है जिससे फैट्स बढ़ जाता है। sabhar :http://www.amarujala.com/

बुधवार, 31 जुलाई 2013

पार्टी में तय जगह को छोड़ हिलेरी से अकेले में मिले ओबामा, होने लगीं चर्चाएं

पार्टी में तय जगह को छोड़ हिलेरी से अकेले में मिले ओबामा, होने लगीं चर्चाएं

अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन से व्‍हाइट हाउस में अकेले में मुलाकात की है। ओबामा ने क्लिंटन को भोज पर आमंत्रित किया था लेकिन दोनों ने तय आधिकारिक स्‍थल पर भोज करने के बजाय अकेले में मिलने का फैसला किया।
ओबामा के साथ क्लिंटन की इस मुलाकात के बाद 2016 के राष्‍ट्रपति चुनाव में उनकी उम्‍मीदवारी की चर्चाएं तेज हो गई हैं। इस बारे में व्‍हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्‍ट ने कहा कि यह एक दोस्‍ताना लंच था। चार साल तक एक साथ काम करने के बाद दोनों के लिए साथ बैठकर बातें करने का यह एक मौका था। ओबामा के पिछले कार्यकाल में हिलेरी विदेश मंत्री थीं। ओवल हाउस में तय स्‍थान पर न बैठते हुए अमेरिकी राजनीति के इन दोनों हस्तियों ने खुले में लंच का आनंद लिया। इस साल फरवरी में हिलेरी के पद से हटने से बाद ओबामा ने उन्‍हें पहली बार लंच के लिए आमंत्रित किया था।
 
इससे पहले 2008 के राष्‍ट्रपति चुनाव में पार्टी की तरफ से उम्‍मीदवार बनने के लिए ओबामा और क्लिंटन के बीच जबर्दस्‍त मुकाबला हो चुका है। एक लंबी लड़ाई के बाद हालांकि ओबामा को पार्टी का उम्‍मीदवार बनाया गया। 
पार्टी में तय जगह को छोड़ हिलेरी से अकेले में मिले ओबामा, होने लगीं चर्चाएं

साल 2008 में जीत के बाद क्लिंटन ओबामा के अधीन काम करने को तैयार हो गईं। ओबामा ने उन्‍हें विदेश मंत्रालय की जिम्‍मेदारी सौंपी, जो अमेरिका का एक सबसे ताकतवर मंत्रालय माना जाता है। 
हिलेरी क्लिंटन मंगलवार को उप राष्‍ट्रपति जो बिडेन के साथ नाश्‍ता करने वाली हैं। ताजा सर्वेक्षणों के मुताबिक 65 वर्षीया हिलेरी अब भी अमेरिका की एक लोकप्रिय नेता हैं। हाल ही में ट्विटर ज्‍वाइन करने वाली हिलेरी के 6.5 लाख से ज्‍यादा फॉलोवर्स हैं। 
 sabhar : bhaskar.com


अमेरिका में बड़े सेक्स रैकेट का भांडाफोड़, टीनेजर्स से कराते थे गंदा धंधा

अमेरिका में बड़े सेक्स रैकेट का भांडाफोड़, टीनेजर्स से कराते थे गंदा धंधा

अमेरिका के इतिहास में अब तक का सबसे बड़े चाइल्ड सेक्स ट्रैफिकिंग का भांडाफोड़ हुआ है। एफबीआई ने अपनी कार्रवाई में 105 टीनेजर लड़कियों को सेक्स रैकेट के गर्त से बाहर निकाला है।
 चाइल्ड सेक्स ट्रैफिकिंग का यह जाल अमेरिका के 76 शहरों में फैला है। कार्रवाई में बचाई गई लड़कियों की उम्र 13 से 17 साल है। इन्हें प्रॉस्टिट्यूशन के लिए मजबूर किया जाता था।
एफबीआई ने छापे में प्रॉस्टिट्यूशन के धंधे से मोटी कमाई करने वाले150 दलालों को गिरफ्तार किया है।
एफबीआई के क्रिमिनल इन्वेस्टिगेटिव डिविजन के असिस्टेंट डायरेक्टर रोनॉल्ड होस्को ने सोमवार को बताया कि वेश्याओं के 150 दलाल टीनेजर बच्चों और एडल्ट लड़कियों के शारीरिक शोषण में शामिल हैं।

एफबीआई के एजेंट्स होटल के एक कमरे में चाइल्ड सेक्स ट्रैफिकिंग के शिकार बच्चों को पहचानने के लिए लड़कियों से मिले।
फबीआई का कहना है कि इनमें 60 फीसदी टीनेजर ऐसी हैं जो अपने रिश्तेदारों और नजदीकी संबंधियों के सौतेले व्यवहार से तंग होकर भाग निकली थीं और वे देह व्यापार की गर्त में गिर गईं। sabhar : bhaskar.com


कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

दुनि‍या भर में लोग यह मानते हैं कि इस्‍लामी संस्‍कृति के चलते ईरान में युवा खुलकर अपनी जिंदगी नहीं जी पाते हैं। लेकि‍न ऐसा नहीं है। ईरानी युवा, जि‍नमें लड़के-लड़कि‍यां दोनों शामि‍ल हैं, बिंदास लाइफ के पैरोकार हैं। वे न सिर्फ आजाद जिंदगी की पैरोकारी करते हैं, बल्‍कि खुद भी अपनी लाइफ बिंदास तरीके से जीते हैं। एक तरफ ईरान अमेरि‍का के सख्‍त खि‍लाफ है तो दूसरी तरफ ईरानी युवाओं के घरों और उनके कमरों में पश्‍चि‍मी संस्‍कृति का पूरा प्रभाव देखा जा सकता है। ईरान के कई फोटोग्राफरों ने युवाओं की इस बिंदास लाइफ को पहली बार दुनि‍या के सामने एक्‍सप्‍लोर कि‍या है। 
 
क्रि‍येटि‍व डायरेक्‍टर एनरि‍को बोसन के डायरेक्‍शन में ईरान के 15 फोटोग्राफरों ने ईरानि‍यन लि‍विंग रूम की यह तस्‍वीरें खींची हैं। इन तस्‍वीरों को फैब्रि‍का नाम की एक कि‍ताब में प्रकाशि‍त कि‍या गया है। वहीं ईरानी युवाओं के इस बिंदास अंदाज को देखते हुए कुछ कठमुल्‍लों ने इसपर बैन लगाने की मांग भी शुरू कर दी है। इन फोटोग्राफरों में मो.महदी अम्‍या, माजि‍द फराहनी, सानि‍या गोलजर, सनाज हाजि‍खानी, हामेद इलखान, अली कावेह, माहशि‍द महाबोबीफर, मेहदी मोरादपुर, सहर पि‍शसारेन, नागर सदेहवंदी, हाशेम शकेरी, सि‍ना शीरी, मुर्तजा सूरानी, नाजनीन, अली ताजि‍क शामि‍ल रहे। 
कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

यासमीन तो बगैर शराब पि‍ए ही अपने कमरे में डांस कि‍या करती हैं। 

कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

अपने घर में डांस करता एक जोड़ा। ईरान में इस तरह के डांस भी प्रतिबंधि‍त हैं।
कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

तेहरान में एक पार्टी में जाने के लि‍ए तैयार होती एक युवती। 
कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

जोराह सि‍गरेट की भी शौकीन हैं। इस तस्‍वीर में उन्‍होंने अपने दोस्‍तों के साथ पार्टी की और सि‍गरेट पी। हालांकि इस्‍लामी कानून के मुताबि‍क इस पार्टी में जो ड्रिंक सर्व हुई, उसमें एल्‍कोहल नहीं था। 

कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

ब्‍यूटी सैलून में अपना मोबाइल फोन चेक करतीं जोराह। ईरान में जब गर्मियां कम होती हैं तो जोराह और उनके जैसी कुछ हि‍म्‍मती महि‍लाएं इस्‍लामि‍क ड्रेस कोड के खि‍लाफ कपड़े पहनती हैं।  साघी अपने मॉडेस्‍ट आउटवि‍यर पहनकर शॉपिंग पर जाना पसंद करती हैं जबकि उन्‍हीं की उम्र की दूसरी लड़कि‍यां कि‍चन में खाना बनाना और बातें करना पसंद करती हैं। 
 कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

एक कैटलॉग में बालों का कलर देखतीं जोराह। हालांकि महि‍लाओं के लि‍ए नि‍कलने वाली मैगजीन पर रोक है

sabhar : bhaskar.com

सोनी का सबसे शाही फैबलेट हुआ लॉन्च, फोन के साथ मिलेगा FREE इंटरनेट

सोनी का सबसे शाही फैबलेट हुआ लॉन्च, फोन के साथ मिलेगा FREE इंटरनेट

सोनी ने आखिरकार अपना महत्वकांक्षी फोन एक्सपीरिया Z Ultra फोन भारत में लॉन्च कर ही दिया। इस फोन को लेकर कंपनी पहले से ही काफी उत्साहित लग रही थी। सोनी की एक्सपीरिया सीरीज दुनिया भर में पहले से ही काफी लोकप्रिय रही है। अब इस नए अल्ट्रा फोन के आने से सैमसंग और एचटीसी के हाई बजट स्मार्टफोन को कड़ी टक्कर मिलेगी। भारत के सभी स्टोर्स में ये फोन 2 अगस्त तक मिलने लगेगा।
इस फोन में सभी लेटेस्ट फीचर्स हैं। इस फोन में एक और खासियत है। कंपनी के साथ वोडाफोन का एक एग्रीमेंट है। अगर आप नया एक्सपीरिया ZU लेने वाले हैं तो आपको 2 महीनो के डाउनलोडिंग पीरियड के साथ वोडाफोन की तरफ से 8 GB डाटा फ्री मिलेगा। इस स्कीम के कारण नए एक्सपीरिया की सेल्स में भी काफी फर्क पड़ेगा। 
 सोनी का सबसे पहला और आकर्षक Z Ultra फैबलेट सबसे शानदार डिस्प्ले रेजोल्यूशन के साथ आता है। इसमें 1920*1080 पिक्सल का रेजोल्यूशन है। इतने हाई रेजोल्यूशन के साथ स्क्रीन पर HD ग्राफिक्स का मजा आप ले सकते हैं। इतने अच्छे डिस्प्ले के साथ इसमें गेमिंग का भी अपना अलग मजा होगा।इस फोन में स्नैपड्रैगन का लेटेस्ट 800 सीपीयू, क्वाड-कोर प्रोसेसर है। इसकी स्पीड 2.2 GHz की है, और साथ ही, 2 GB रैम। इस फोन को आप शानदार स्पीड वाला फोन भी कह सकते हैं। इतने पावरफुल प्रोसेसर और 2 जीबी रैम के साथ यह फोन गजब की तेजी दिखाएगा। अगर प्रोटेक्शन की बात की जाए तो इस फोन में स्क्रैच रेजिस्टेंस शैटरप्रूफ ग्लास है। मतलब अब फोन के गिर जाने पर भी आपका दिल नहीं टूटेगा। इसकी स्टाइलिश बॉडी बाकी एक्सपीरिया फोन की तरह ही लुभावनी और आकर्षक है। इसमें ऑन स्क्रीन की फीचर भी है।अगर पावर की बात की जाए तो इसमें 3050 mAh बैटरी है। इसका मतलब है कि इस फोन को बार-बार चार्ज करने से बचा जा सकता है। अगर आप किसी लंबी ट्रिप को प्लान कर रहे हैं तो यह फोन आपका अच्छा साथी बन सकता है।इस फोन में 16 GB की इंटरनल मेमोरी है। इसके अलावा इसकी मेमोरी को 64 GB तक बढ़ाया भी जा सकता है। अगर कनेक्टिविटी की बात की जाए तो इस फोन में सभी तरह के विकल्प मौजूद हैं। इसमें 2G, 3G, 4G, Wi-Fi और ब्लूटूथ 4.0 के साथ माइक्रो यूएसबी पोर्ट 2.0 भी है। अगर आप फोटोज खीचने के शौकीन हैं तो यह फोन आपको काफी पसंद आएगा। इस फोन में आठ मेगापिक्सल रियर कैमरा और दो मेगापिक्सल फ्रंट कैमरा है। यह फोन पूरी तरह से वाटर और डस्ट रेजिस्टेंस है यानी इसपर धूल और मिट्टी का कोई असर नहीं होता। अगर आप ट्रैकिंग और घूमने फिरने के शौकीन है तो यह फोन आपका अच्छा साथी हो सकता है। यह फोन फिलहाल तीन रंगों में उपलब्ध होगा ब्लैक, व्हाइट और परपल। इसके अलावा कंपनी ने ब्लूटूथ स्टीरियो हेड सेट और मैगनेटिक चार्जिंग डॉक भी लॉन्च किया है। सोनी कंपनी का कहना है कि यह फोन इस हफ्ते के अंत तक भारत के सभी बड़े स्टोर्स में उपलब्ध होगा। इसकी कीमत फिलहाल 46,999 से 44,999 के बीच रखी गई है। इसमें वायरलेस चार्जिंग फीचर भी है। 
sabhar : bhaskar.com

कोरोनावायरस / महामारी से लड़ने में रोबोट्स की मदद लेगा भारत, यह संक्रमितों तक खाना-दवा पहुंचाएंगे, टेम्परेचर और सैंपल लेने का काम भी करेंगे

दैनिक भास्कर Apr 06, 2020, 02:05 PM IST नई दिल्ली..  कोरोना से लड़ने के लिए चीन समेत दुनियाभर के कई देश रोबोट्स की मदद ले रहे हैं। यह ...