Loading...

गुरुवार, 18 जुलाई 2013

खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें

0

खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें


आगरा. ताजनगरी से सौ किलोमीटर दूर मैनपुरी के औंछा इलाके में हर कोई दंग है। यहां श्रंगी ऋषि के आश्रम की खुदाई के दौरान विशालकाय नर कंकाल मिला है।
इसकी लंबाई 11 फुट है और चौड़ाई सामान्‍य व्‍यक्ति से चार गुना ज्‍यादा है। इस कंकाल पर अघोरी और तांत्रिकों की नजर लग गई है। वे इसकी खोपड़ी पाने के लिए 15 लाख रुपए तक की बोली लगा चुके हैं। 
आश्रम के साधु-संतों ने इसकी रक्षा के लिए इसे मिट्टी के नीचे दबा दिया था। लेकिन, दोबारा खोदने पर इसकी खोपड़ी नहीं मिल रही है। भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण की टीम आगरा से इसकी जांच करने के लिए जाएगी।
राज्‍य पुरातत्‍व विभाग में शोध प्रवक्‍ता मृत्‍यंजय मंडल कहते हैं कि यह विशालकाय नर कंकाल चौंकाने वाला है। उन्‍होंने कहा कि इतना बड़ा नरकंकाल शायद अब तक नहीं देखा गया है। 
 खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें
दरअसल, श्रंगी ऋषि के आश्रम में मंदिर निर्माण के लिए खुदाई चल रही थी। तभी ताम्र पत्र, त्रिशूल, पत्‍थर के औजार सहित नरकंकाल मिला था। ग्रामीणों का मानना है कि यह कंकाल सदियों पुराना है। पहली बार देखने पर विश्‍वास नहीं होता है कि यह नर कंकाल है, लेकिन पूरा कंकाल देखकर यकीन हो जाता है।
 खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें
नर कंकाल की सुरक्षा के लिए जिलाधिकारी ने दो सिपाहियों की तैनाती का आदेश दिया है, लेकिन पिछले एक सप्‍ताह से यहां सुरक्षा नहीं है। ऐसे में आश्रम के पुजारियों ने ग्रामीणों के सहयोग से उसे मंदिर परिसर में ही दफ़न करा दिया था। तब से लेकर अब तक ग्रामीण पुजारियों के साथ मिलकर उसकी सुरक्षा कर रहे हैं।
खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें

हालांकि, मंगलवार को जब दोबारा खोदकर देखा गया तो उसकी खोपड़ी नहीं मिली। आशंका जताई जा रही है कि खोपड़ी शायद मिट्टी के अंदर हो या चोरी कर ली गई हो।
खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें
सदियों पुराने इस नर कंकाल की सूचना पर अघोरी और तांत्रिक सक्रिय हो गए हैं। संतों का कहना है कि तांत्रिक इस कंकाल की खोपड़ी और अन्य कंकालों को कब्जाने के लिए ग्रामीणों को लाखों रूपए का लालच दे रहे हैं।
खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें
कई रात के अंधेरे में जमीन में दफ़न इस कंकाल को चुराने का प्रयास भी कर रहे हैं। ग्रामीण ऐसे अघोरियों को लगातार भगा रहे हैं।
 पुरातत्वविद् मानते हैं कि मूर्तियों और पत्थरों पर जिस तरह की आकृतियां बनाई गई हैं, वह सभी ऋषि परंपरा से जुड़ी हुई हैं। वहीं सबसे ज्यादा जिज्ञासा नर कंकाल को लेकर है।पुरातत्वविद् मंडल ने बताया कि नरकंकाल किसी ऋषि का हो सकता है, जो तपस्या के दौरान मिट्टी में दब गए हों। यह भी हो सकता है कि किसी ऋषि द्वारा समाधि ली गई हो। फॉरेंसिक जांच से पता चल पाएगा कि यह कितना पुराना है।औंछा के आसपास श्रंगी ऋषि के अलावा मार्कण्डेय, मयन और ओम ऋषि द्वारा की गई तपस्या के टीले भी अभी अवशेष के रूप में बचे हुए हैं।

sabhar  : bhaskar.com



Read more

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting