Loading...

रविवार, 22 दिसंबर 2013

पति को बचाने के लिए नंगे पैर दौड़ी 66 साल की महिला, जीतने पर मिले पांच हजार

0

पति को बचाने के लिए नंगे पैर दौड़ी 66 साल की महिला, जीतने पर मिले पांच हजार

बारामती. केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार का जन्मदिन था। उनके गृह जिले बारामती में इस मौके पर दौड़ आयोजित की गई। तीन किमी की रेस। बड़ी संख्या में युवा और गांव के लोग शामिल हुए। हरी झंडी दिखाई गई। लोग दौड़ पड़े। जूते और ट्रैक सूट पहनी भीड़ को पार करते हुए एक महिला तेजी से आगे निकली। और जीत दर्ज करके ही मानी।
विजेता के नाम का ऐलान हुआ। लताबाई करे। उम्र 66 साल। साड़ी पहनकर नंगे पैर दौडऩे वाली। दौड़ शुरू होते ही लताबाई की चप्पल टूट गई थी। पर वह रुकीं नहीं। नंगे पैर दौड़ती रहीं। फिनिश लाइन पर पहुंचते-पहुंचते उनकी सांसें फूल चुकी थीं। पर यह जीत बेहद जरूरी थी।

दिल की बीमारी है लताबाई के पति को
ये दौड़ लता की नहीं उनके पति की जिंदगी की थी। जो अस्पताल में भर्ती हैं। उन्हें दिल की बीमारी है। इलाज के लिए 15 हजार रुपए की जरूरत है। दौड़ जीतकर 5 हजार रुपए मिले। बाकी 10 हजार का इंतजाम करना बाकी है। लताबाई बुलढाणा जिले के मेहकर गांव की रहने वाली हैं। पैसे के लिए सबके पास गई थीं पर कोई क्यों सुनता। तीन बेटियों की शादी में जमापूंजी पहले ही खर्च हो चुकी थी। इकलौता बेटा सुनील मजदूरी करता है। तभी इस दौड़ का पता चला तो जी-जान लगा के दौड़ गईं।
sabhar : bhaskar.com

0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting