शनिवार, 30 नवंबर 2013

मुखमैथुन की ही जिद बना दिया मुंह के कैंसर का मरीज


पत्नी की सेक्स की लत ने पति को बना दिया मुंह के कैंसर का मरीज

अहमदाबाद। शहर में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां रहने वाले एक धनाढ्य परिवार का युवक मुंंह के कैंसर की बीमारी से पीड़ित हो गया है। चिकित्सकों के बताए अनुसार उसे यह कैंसर मुखमैथुन के चलते हुआ है। चिकित्सकों ने जब युवक से पूछताछ की तो युवक ने बताया कि उसकी पत्नी हमेशा उससे मुखमैथुन की ही जिद करती थी।

यह घटना उन लोगों के लिए सबक है, जो अब तक सिर्फ यही सोचते हैं कि कैंसर बीड़ी-तंबाकू-सिगरेट या शराब के सेवन से ही होता है। वर्तमान समय में जिस तरह शारीरिक संबंधों के दौरान मुखमैथुन का प्रवत्ति बढ़ रही है, वह पूरे समाज के लिए एक चिंता का विषय है। अहमदाबाद के पॉश इलाके में रहने वाले प्रतीक शाह (परिवर्तित नाम) कुछ दिन पहले अचानक ही मुंह की एक अज्ञात बीमारी से पीड़ित हो गए। चिकित्सकों ने जब जांच की तो पाया कि उन्हें भी यह मामला शंकास्पद लगा। इसके बाद कैंसर स्पेशलिस्ट ने जांच की तो पता चला कि प्रतीक के मुंह में कैंसर हो चुका है।कैंसर स्पेशलिस्ट ने इसके तमाम कारणों की जांच की तो पाया कि इस कैंसर की वजह सिगरेट या शराब नहीं थी। जब उन्होंने प्रतीक से इस बारे में खुलकर बात करने की समझाइश दी तो प्रतीक ने उन्हें बताया कि उसकी पत्नी अक्सर उससे मुखमैथुन के लिए ही कहा करती थी। मुख-मैथुन की क्रिया पति-पत्नी में आम हो चुकी थी। इसका दुष्परिणाम यह रहा कि उसके मुंह में कैंसर हो गया।इस बारे में एचसीजी कैंसर इंस्टीट्यूट (गुजरात) के डायरेक्टर और मुंह व गले के कैंसर के स्पेशलिस्ट डॉ. कौस्तूभ पटेल ने बताया कि कुछ साल पहले तक मुख-मैथुन से कैंसर के 100 में से 2-3 मामले ही सामने आते थे, लेकिन अब यह आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है।
पत्नी की सेक्स की लत ने पति को बना दिया मुंह के कैंसर का मरीज
डॉ. कौस्तूभ के बताए अनुसार योनि में ह्यूमन पैपीलोमा वायरस यानि एच पी वी होते हैं। मुथमैथुन के दौरान ये वायरस पुरष के शरीर में तेजी से प्रवेश कर जाते हैं। और यही मुंह के कैंसर का कारण बनते हैं। हालांकि बीड़ी-तंबाकू-सिगरेट या शराब से होने वाले कैंसर की तुलना में इसका उपचार संभव है। हां, अगर सही समय पर इसका उपचार शुरू हो जाए तो।शोध से पता चला है कि तम्बाकू की तुलना में ओरल सेक्स से मुंह का कैंसर होने का खतरा कहीं ज्यादा होता है। वैज्ञानिकों ने भी चेताया है कि 50 से कम उम्र के लोगों में मुंह का कैंसर फैलने का सबसे मुख्य कारण ह्यूमन पैपीलोमा वायरस यानि एच पी वी है, जो ओरल सेक्स की वजह से होता है। पिछले कुछ दशकों में कैंसर के बढ़ने का कारण यही वायरस रहा है। 

पत्नी की सेक्स की लत ने पति को बना दिया मुंह के कैंसर का मरीज

इस सम्बंध में कोलम्बस के ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर गिलीसन का कहना है कि ओरल कैंसर के फैलने के लिए तम्बाकू से ज्यादा जिम्मेदार मौखिक सेक्स है। 
 
गौरतलब है कि ब्रिटेन में 12 और 13 वर्ष के बच्चों को इस घातक बीमारी से बचाने के लिए वैक्सीन का वितरण किया जा रहा है। यहां हर साल लगभग 1000 महिलाओं की मौत का कारण ये वायरस ही रहा है।असुरक्षित यौन संबंध एचआईवी/एड्स की वजह तो है ही, अब वह लिंग, गुदा और मुंह कैंसर का कारण भी बनता जा रहा है। महिलाओं में तेजी से बढ़ रहे सर्वाइकल कैंसर के रिवर्स इफेक्ट से पुरुष भी प्रभावित होने लगे हैं। महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर के लिए जिम्मेदार ह्यूमन पेपिलोमा वायरस पुरुषों में मुंह कैंसर, गुदा कैंसर  के अलावा  लिंग कैंसर की वजह बन रहा है।

असुरक्षित यौन संबंध एचआईवी/एड्स की वजह तो है ही, अब वह लिंग, गुदा और मुंह कैंसर का कारण भी बनता जा रहा है। महिलाओं में तेजी से बढ़ रहे सर्वाइकल कैंसर के रिवर्स इफेक्ट से पुरुष भी प्रभावित होने लगे हैं। महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर के लिए जिम्मेदार ह्यूमन पेपिलोमा वायरस पुरुषों में मुंह कैंसर, गुदा कैंसर  के अलावा  लिंग कैंसर की वजह बन रहा है।

पत्नी की सेक्स की लत ने पति को बना दिया मुंह के कैंसर का मरीज

पत्नी की सेक्स की लत ने पति को बना दिया मुंह के कैंसर का मरीज

कैंसर रजिस्ट्री के अनुसार वर्ष 2009 तक भारत में लिंग कैंसर के 755 मामले सामने आ चुके थे। इसमें सबसे अधिक 211 मामले दिल्ली से हैं। दिल्ली में प्रति एक लाख पुरुष पर लिंग कैंसर के शिकार लोगों की संख्या 0.9 है, जबकि पूरे देश में इससे कम केवल 0.5 है. लिंग कैंसर से मरने वाले लोगों की संख्या सबसे अधिक चेन्नई में है। वहां एक लाख लोगों में प्रति वर्ष 1.5 फीसदी लोग पेनाइल कैंसर से मरते हैं जबकि दिल्ली में इसकी संख्या 0.6 है। पश्चिमी देशों में एक लाख लोगों पर एक व्यक्ति को पेनाइल कैंसर होता है।
 
पत्नी की सेक्स की लत ने पति को बना दिया मुंह के कैंसर का मरीज

कैंसर विशेषज्ञों के अनुसार लिंग कैंसर की और भी वजहें हैं, लेकिन सबसे बड़ी वजह एचपीवी का प्रसार है। एचपीवी एक डीएनए आधारित वायरस है। यह पुरुषों के वीर्य में पाया जाता है। करीब 100 तरह के एचपीवी होते हैं, जिसमें एचपीवी 16 व एचपीवी 18 जैसे वायरस कैंसर रोग जनित हैं। भारत में एचपीवी से होने वाले सभी कैंसरों में एचपीवी 16 के अधिक सक्रिय होने का मामला सामने आया है।  sabhar : bhaskar.com

2 टिप्‍पणियां:

शादीशुदा पुरुष किशमिश के साथ करें इस 1 चीज का सेवन, होते हैं ये जबर्दस्त 6 फायदे

किशमिश के फायदे के बारे में आपने पहले भी जरूर पढ़ा होगा लेकिन यहां पर वैज्ञानिक रिसर्च पर आधारित कुछ ऐसे बेहतरीन फैक्ट बताए जा रहे हैं जो श...