Loading...

शनिवार, 21 सितंबर 2013

ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

0

SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

पौराणिक काल की एक कहानी में नचिकेता और यमराज का प्रसंग मिलता है। कथा के मुताबिक, ऋषि बाजश्रवा ने अपने पुत्र नचिकेता को गुस्से में यमराज को सौंप दिया। यमराज ने नचिकेता को यमलोक से जाने के लिए कहा, लेकिन नचिकेता ने जाने से मना किया। नचिकेता ने यमराज से तीन वर मांगे, जिसमें एक वरदान में उन्होंने पूछा कि इंसान की मृत्यु क्यों होती है। इस कठिन सवाल का जवाब भी यमराज नहीं देना चाहते थे, लेकिन बालक नचिकेता की जिद करने पर उन्होंने यह गूढ़ रहस्य खोला।

पौराणिक काल की यह कहानी मौत के बाद इंसान की मृत्युलोक पर वापसी की कोई राह नहीं दिखाती है। जो जन्मा है वह एक दिन जरूर मरेगा। बाइबल में ईसा मसीह अपनी मौत के दो दिन बाद दोबारा जी उठे थे। लोगों का कहना है कि वे ईश्वर के पुत्र थे ना कि कोई आम इंसान। इसके बावजूद हमारे आसपास कुछ ऐसी घटनाएं देखने और सुनने को मिलती हैं, जिसमें कई लोग मरने के बाद पुन: जी उठे।

हाल ही में एक वेबसाइट ने दस ऐसी कहानियों की सूची जारी की है। इसमें इंसान मरने के बाद फिर से जिंदा हो गया। कई मामले ऐसे थे, जिनमें मृत व्यक्ति अंतिम संस्कार के आखिरी पलों में जी उठा। आइए नजर डालते हैं ऐसी ही कुछ कहानियों पर..

SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

कोई भी नहीं चाहेगा कि जब वह किचन में जाए तो उसकी मृत दादी खाना बनाती दिखे। दरअसल एक चीनी परिवार के साथ कुछ ऐसा ही वाकया हुआ, जब ली जियूफेंग अपनी मौत के छह दिन बाद अपने ताबूत बाहर निकल आईं। जियूफेंग 95 वर्ष की उम्र में अपने बेडरूम में मृत पाई गईं थीं।

सिर में चोट लगने से जियूफेंग की मौत हुई थी। अंतिम संस्कार से एक दिन पहले घरवाले उस वक्त दंग रह गए, जब उन्हें ताबूत से लाश गायब मिली। गायब लाश को ढूंढते हुए घरवाले और रिश्तेदार किचन में पहुंचे, तो वहां जियूफिंग स्टूल पर खड़े होकर खाना बना रही थीं।

बाद में जियूफिंग ने घरवालों को बताया, "मैं लंबे समय के लिए सो गई थी। जागने के बाद मुझे काफी भूख लग रही, तो मैं किचन में खाना बनाने लगी।" 

SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

जिम्बाब्वे में एक वेश्या अपने क्लाइंट के साथ सेक्स करते हुए मर गई, लेकिन ताबूत में रखने के दौरान वह जीवित हो उठी। यह घटना बुलावायो की है। दरअसल वेश्यावृत्ति करने वाली यह महिला मेनर होटल में अपने क्लाइंट के साथ सेक्स कर रही थी और तभी उसकी मौत हो गई। इस घटना से सहमे क्लाइंट ने पुलिस को फोन किया। कुछ ही देर में चिकित्सकों की एक टीम वहां पहुंची और लाश को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने लगी। लेकिन जैसे ही वे मृत महिला को ताबूत में रखने लगे, महिला जीवित हो उठी। स्थानीय न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक जीवित होते ही महिला चिल्लाने लगी। वह कह रही थी, "तुम मुझे मारना चाहते हो...तुम मुझे मारना चाहते हो।"

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बुलावायो 24न्यूज को बताया, "यह घटना पूरी फिल्मी थी। लोग अलग-अलग दिशा में भाग रहे थे। यह बहुत ही डरावना दृश्य था क्योंकि सभी को यकीन हो चुका था कि वह मर चुकी है। निश्चित ही चमत्कार हुआ था।

SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

एक महिला दो बार मरने के बाद भी जीवित हो उठी। रूस में रहने वाली 61 वर्षीय ल्यूमिला को डॉक्टरों द्वारा दो बार मृत घोषित किया गया था, लेकिन हर बार उन्होंने मौत को मात दे दी। ल्यूमिला स्टेब्लिस्काया इस दौरान तीन दिनों तक शून्य से कम तापमान वाले मुर्दाघर में लाशों के बीच रहीं।
 SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी
दक्षिण अफ्रीका का एक मृत व्यक्ति उस समय जी उठा, जब उसे मुर्दाघर के फ्रिज में रखा गया था। इस व्यक्ति की मौत अस्थमा के कारण हुई थी और 21 घंटे बाद वह फिर से जी उठा।

मुर्दाघर के मालिक अयांडा मकोलो के मुताबिक उन्होंने एक परिवार की सूचना के बाद मृतक की लाश लेने के लिए स्टाफ को भेजा। एक दिन बाद जब उनके स्टाफ ने लाश को फ्रीजर में रखा, तो उसमें से किसी के चिल्लाने की आवाज सुनाई दी।

अयांडा ने इस घटना के बारे में बताया, "मुझे इस घटना पर विश्वास नहीं होता। मैं भी डर गया था, लेकिन वहां मेरे स्टाफ मेंबर्स मौजूद थे और उनके सामने मुझे निडर बने रहना था। मैंने पुलिस को बुलाया। जैसे ही पुलिस आई तो हमने एक साथ जाकर फ्रीजर खोला। उसमें से लाश की जगह जीवित व्यक्ति निकला।"

बाद में उसे नजदीकी अस्पताल भेजा गया, जहां डॉक्टर्स ने उसकी स्थिति सामान्य बताई।
SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी
लुज मिलाग्रोस - एक नाम जिसका हिंदी में मतलब है, 'चमत्कारी रोशनी'। यह एक साल की बच्ची का नाम है, जिसकी कहानी अनोखी है। समय से तीन महीने पहले पैदा हुई इस बच्ची में जीवित होने का कोई भी लक्षण नहीं था। पैदा होते ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित करके मुर्दाघर भेज दिया। तकरीबन 12 घंटे बाद ताबूत के अंदर से बच्ची के रोने की आवाज सुनाई दी। वह बर्फ की तरह ठंडी, लेकिन ज़िंदा थी। बाद में इस बच्ची के माता-पिता ने उसका नाम लुज मिलाग्रोस रखा।
SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी
एक महिला, जिसे मृत घोषित कर दिया गया था, जब उसे प्लास्टिक में लपेटकर मुर्दाघर में भेजा गया, तो वह उसकी सांसें चलने लगीं। खबरों के मुताबिक, ब्राजील में रहने वाली 60 वर्षीय इस महिला की पल्मोनरी इन्फेक्शन के कारण एक अस्पताल में मौत हो गई। मौत के बाद उसे प्लास्टिक बैग में लपेटकर मुर्दाघर भेज दिया गया। लेकिन जब उसकी बेटी रोसनगेला कैलेस्ट्रीनो अपनी मां को आखिरी आलिंगन देने पहुंची, तब आश्चर्यचकित करने वाली घटना घटी। अचानक महिला ज़िंदा हो उठी। शुरुआत में डॉक्टरों को यकीन नहीं हुआ, लेकिन बाद में उन्हें मालूम चला कि महिला पूरी तरह मृत नहीं हुई थी। डॉक्टरों ने तुरंत उसे मुर्दाघर से निकालकर लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा।
SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

ब्राजील के उत्तरी बेलेम इलाके में एक दो साल के बच्चे केल्विन को निमोनिया हो गया था। इलाज के लिए बच्चे को अस्पताल ले जाया गया जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया| उसका मृत शरीर लेकर परिजन वापस आ गए| जब उसे अंतिम संस्कार के लिए ताबूत पर लिटाया गया तभी अचानक वह उठ बैठा और अपने पिता से पानी मांगने लगा यह देख वहां मौजूद लोगों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, लेकिन कुछ देर बाद यह खुशी फिर से गम में बदल गई| केल्विन दुबारा ताबूत पर लेट गया और फिर से मर गया।

केल्विन के पिता एंटोनियो ने कहा, "जब केल्विन ताबूत पर उठकर बैठा तो हमें लगा कि भगवान की दुआ से हमें बेटा वापस मिल गया। मुझसे पानी भी मांगा। हम बहुत खुश थे, लेकिन तभी वह वापस लेट गया और उसकी सांसें बंद हो गईं। थोड़ी देर तक तो इंतज़ार करते रहे लेकिन वह दोबारा नहीं उठा। इसके बाद एंटोनियो अपने बेटे को लेकर फिर अस्पताल गए, जहां डॉक्टरों ने कहा कि उसकी सांसे अब पूरी तरह बंद हो चुकी हैं। बाद में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।" यह पिछले साल की घटना है।

SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

49 वर्षीय फिगिल्यू मुखाफेज्यानोव को डॉक्टरों ने ग़लती से मृत घोषित कर दिया था। लेकिन कुछ ही घंटों में वह फिर से जी उठी। यह जानकर फिगिल्यू चिल्लाने लगी कि उसके रिश्तेदार कुछ ही देर में उसे जलाने वाले थे। रूस के कजन में रहने वाली इस महिला को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन इस बार वाकई में उसकी मौत हो गई थी।
SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

पश्चिमी वर्जीनिया में रहने वाली वाल थॉमस को डॉक्टर्स चमत्कार कहते हैं। डॉक्टरों को भी यकीन नहीं है कि वह जीवित कैसे है। थॉमस को दो बार दिल का दौरा आया 17 घंटों तक उसका ब्रेन डेड रहा। उसकी पल्स भी पूरी तरह रुक चुकी थी। थॉमस को अस्पताल लाया गया, जहां उसे एक खास लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया। इस मेडिकल सिस्टम में हाइपोथर्मिया के मरीज को रखा जाता है। 24 घंटों तक थॉमस के शरीर को गर्मी पहुंचाई गई। लेकिन इसके बावजूद उसके शरीर में कोई बदलाव नहीं हुए। जब थॉमस के घरवाले उसे मुर्दाघर ले जाने की तैयारी कर रहे थे, तभी वह जीवित हो उठी और बातें करने लगी।

SCARY: ताबूत से निकली और किचन में खाना बनाने लगी DEAD दादी

जिम्बाब्वे निवासी 34 वर्षीय ब्रिटन डामा जेंथ भी मौत के बाद जीवित हो उठे थे। sabhar : bhaskar.com

0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting