Loading...

बुधवार, 25 सितंबर 2013

चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच

0

HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच
पिछले तीन दशकों में दुनिया ने चीन को तेजी से आगे बढ़ते हुए देखा है। पिछले 30 सालों में चीन की विकास दर 9 फीसदी तक गई। यह वाकई काबिलेगौर है। इन आंकड़ों की मानें तो जानकारों के मुताबिक, कुछ ही दशकों में चीन अर्थव्यवस्था के मामले में अमेरिका को भी पछाड़ देगा। चीन की सत्ता संभालने वाली नई सरकार ने विदेशी ताकतों के खतरे को भांपते हुए अपने रक्षा बजट में भारी बढ़ोतरी की है। इसके साथ ही पड़ोसियों से रिश्ते सुधारने पर जोर दिया है। तेजी से तरक्की करते हुए मुल्क की एक और तस्वीर भी है, जो चौंकाती है। भले अरबपतियों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। नई तकनीकें विकसित की जा रही हैं। गगनचुंबी इमारतों के जंगल खड़े किए जा रहे हैं।  इन सबके बीच एक चीन और भी, जो कहीं नए चीन से पिछड़ गया है।

 HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच
भले ही चीन में तेजी से अरबपतियों की जनसंख्या बढ़ रही हो, लेकिन सबसे बड़ा चौंकाने वाला तथ्य यह है कि अभी भी हमारे पड़ोसी मुल्क में दस करोड़ लोग रोज एक डॉलर यानी 62 रुपए पर जीने पर मजबूर है। 
HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच
भारत में मुंबई हमलों के आतंकी को मौत की सजा देने में चार साल लगाए हों। भले संसद हमले के दोषी अफजल गुरु को फांसी 13 साल में मिली हो। लेकिन चीन किसी भी अपराधी को नहीं माफ नहीं करता। चीन दुनिया के किसी भी मुल्क से चार गुना तेजी से हर साल मौत की सजा देता है। 

HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच

नूडल्स खाने और खिलाने की संस्कृति चीन से ही शुरू हुई थी। वहां इसके लिए पारंपरिक रूप से चोपस्टिक का इस्तेमाल किया जाता है। अनुमानित रूप से चीन में हर साल 45 बिलियन चोपस्टिक का इस्तेमाल होता है। 
HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच
भारत में पुनर्जन्म को लेकर कई तरह की मान्यताएं और पौराणिक कथाएं सुनने को मिलती हैं, लेकिन चीन की सरकार ने पुनर्जन्म लेने का दावा करने वालों से सख्ती से निपटती है। यहीं कारण है कि चीनी सरकार तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा  के अस्तित्व पर सवाल उठाती है। लामा खुद भी पुनर्जन्म की मान्यता पर बनाए जाते हैं।
HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच

चीन में दुनिया का सबसे बड़ा मॉल बनाया गया है। इस पर भी चौंकाने वाली बात यह है कि यह 99 फीसदी खाली पड़ा है। लोग इसे घोस्ट मॉल कहते हैं। 

HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच
 नोट देख कर दुनियाभर के लोग ठंडी-ठंडी आहें भरने लगते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि चीन में ही पहली बार नोट करेंसी का इजाद किया गया था। यह तकरीबन 1400 साल पुरानी बात है।
HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच
अब एक और हैरत की बात। चीन में अभी तकरीबन 3.5 करोड़ लोग गुफाओं में रहते हैं। हैरानी की बात यह है कि चीन के नए राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी अपने कॉलेज के दिनों में खदानों में काम करते थे और गुफाओं में रहते थे। 
HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच

अफ्रीकी और एशियाई देश हमेशा से ही साफ पानी की कमी की समस्या से जूझ रहे हैं। चीन के करीब 70 करोड़ लोग अब तक दूषित पानी पीने को मजबूर हैं।

HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच

चीन के कई हिस्सों में सूरज दस बजे तक उदय होता है, क्योंकि पूरा चीन पांच टाइम जोन में बंटा है।

HORRIBLE: चीन की तरक्की से होती है जलन तो जान लें एक और चीन का सच

सेन फ्रांसिस्को के वायु प्रदूषण का लगभग एक तिहाई हिस्सा चीन से आता है sabhar : bhaskar.com



0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting