शनिवार, 28 सितंबर 2013

ये हैं सात जानलेवा पाप, इनकी सजा से नहीं बच सकते खुदा के फरिश्ते भी

ये हैं सात जानलेवा पाप, इनकी सजा से नहीं बच सकते खुदा के फरिश्ते भी

धरती पर ऐसा कोई इंसान नहीं है, जिसने जाने-अनजाने पाप न किया हो। बाइबिल के अनुसार, सिर्फ जीसस क्राइस्ट ही एक ऐसे व्यक्ति हैं, जिनसे कोई पाप नहीं हुए। पवित्र बाइबिल में पाप करने को भगवान से घृणा करना माना गया है। 
 
 
ब्रेड पिट और मॉर्गन फ्रीमैन अभिनीत 1995 में आई हॉलीवुड फिल्म 'सेवन' ऐसे सात पापों की कहानी कहती है, जिसका जिक्र बाइबल में किया गया है। फिल्म सीरियल किलिंग पर आधारित है, जिसमें हत्यारा एक के बाद एक हत्याओं को अंजाम देता है। यह सिरफिरा हत्यारा बाइबिल द्वारा बताए गए सात पापों के आधार पर अपना शिकार चुनता था और धार्मिक किताब में उल्लेखित सजाएं देता था। 
 
 
कई लोग अक्सर सवाल करते हैं कि बाइबिल में सात पापों की ही जिक्र क्यों किया गया। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि सात शब्द ईश्वर को सबसे प्रिय है। माना जाता है कि सात दिन में ही पूरी सृष्टि का निर्माण हुआ था। सप्ताह में सात दिन होते हैं, भगवान सातवें दिन आराम करते हैं। ये सात पाप कौन से हैं, जिनसे सभी को बचना चाहिए। इजरायल का बुद्धिमान बादशाह हजरत सोलोमन नीतिवचन की पुस्तक का जिक्र करते हुए चेतावनी देता है।
 LUST लस्ट (लालसा, हवस)
 
लालसा तीव्र इच्छा को जन्म देती है। यह पाप यौन इच्छाओं की पूर्ति के लिए किया जाता है। फिर भी इसे सही मायनों में किसी चीज की तीव्र अभिलाषा से जोड़ा जाता है। यह पैसे, पद, शक्ति और प्रसिद्धि आदि के लिए भी हो सकता है। ऐसे व्यक्ति को सजा के तौर पर उस पर गंधक लपेट कर आग में जलने के लिए छोड़ दिया जाता है। 
 ये हैं सात जानलेवा पाप, इनकी सजा से नहीं बच सकते खुदा के फरिश्ते भी
Gluttony ग्लूटोनी (अत्यधिक खाना)
 
ग्लूटोनी लैटिन भाषा के ग्लूटाइर से बना है। इसका मतलब निगलना है। इसमें व्यक्ति अपनी सीमा से अत्यधिक खाने पर पाप का भागी बनता है। बाइबिल में इसे इसलिए भी बुरा माना गया है क्योंकि अत्यधिक खाने वाला व्यक्ति किसी जरूरतमंद का हक छीन रहा है। ऐसे व्यक्ति को स्वार्थी भी कहा जाता है। 
 इस पाप को करने के बाद ईश्वर आपको छोड़ेगा नहीं। वह आपको इसकी सजा चूहे, मेंढ़क और सांप खिला कर देगा।
ये हैं सात जानलेवा पाप, इनकी सजा से नहीं बच सकते खुदा के फरिश्ते भी

Greed ग्रीड (लालच)
 
इस पाप को लस्ट और ग्लूटोनी से भी ज्यादा बुरा माना है। इसे करने वाले व्यक्ति को अत्यधिक महत्वकांक्षी और भौतिक सुख-सुविधाओं का गुलाम माना जाता है। इस तरह के लोग पाप करने के दौरान ईश्वर की भी अनदेखी करते हैं। ऐसे पापियों को खौलते हुए तेल में डाला जाएगा। यह तेल सबसे महंगा और अच्छा होगा, जिसे पैसे से खरीदना होगा।
ये हैं सात जानलेवा पाप, इनकी सजा से नहीं बच सकते खुदा के फरिश्ते भी
Sloth स्लोथ (आलस्य)
 
आलस्य करने वाले को भगवान बुरी नजर से देखते हैं। इसे कभी-कभी शारीरिक आलस्य से लेकर आध्यात्मिक आलस्य से जोड़ा जाता है। जब व्यक्ति के अंदर आलस्य आ जाता है वह धर्म, ईश्वर और आध्यात्म से विमुख हो जाता है। ईसाई धर्म का मानना है कि आलसी व्यक्ति भगवान और अनुग्रह को भूल जाता है। 
 
ऐसे लोगों को सजा देने के लिए ईश्वर उन्हें सांप के बिल में डाल देता है, जहां पापी अपनी जान बचाने के लिए काफी हाथ-पैर मारता है।
ये हैं सात जानलेवा पाप, इनकी सजा से नहीं बच सकते खुदा के फरिश्ते भी

Wrath  रैथ (क्रोध)
 
इस पाप में व्यक्ति अनियंत्रित भावनाओं से गुस्सा और घृणा को जन्म देता है। क्रोध आत्म-घातकता, हिंसा और घृणा का रूप है। सिर्फ इसी पाप के कारण इंसान सदियों से युद्ध करता आ रहा है। ऐसे लोग अपने आसपास भय का वातावरण बनाते हैं और लोग इनसे कटने लगते हैं।
 
ऐसे पापी को सजा के तौर पर जिंदा ही छोटे-छोटे टुकड़ों में काट दिया जाएगा।

ये हैं सात जानलेवा पाप, इनकी सजा से नहीं बच सकते खुदा के फरिश्ते भी

Envy  एन्वी (ईर्ष्या)
 
ग्रीड और लस्ट मिल कर लालची इच्छा को जन्म देते हैं। ईर्ष्या किसी भी व्यक्ति के पद, योग्यता, पैसे को देख कर जन्म लेती हैं। ऐसे व्यक्ति को सजा के लिए एकदम ठंडे पानी में रखा जाता है। 

ये हैं सात जानलेवा पाप, इनकी सजा से नहीं बच सकते खुदा के फरिश्ते भी

Pride प्राइड (घमंड)
 
अभिमानी आंखें हमारे आसपास के सभी लोगों के पास होती हैं। घमंड के नशे में चूर लोग अपने से कमतर आदमी को अजीब नजरों से देखते हैं। यह वह पहला अपराध है, जो मानव सभ्यता की शुरुआत में किया गया था। सुबह के समय चमकने वाला तारा ल्यूसिफर को उसके घमंड के लिए शैतान और दानव का दर्जा दिया गया था। 
 
बाइबिल में इस घटना पर एजेकेल 28:17 में जिक्र किया गया है, सुंदरता ने तुम्हारा हृदय अभिमान से भर दिया है। अपना वैभव देखकर तुम अपनी बुद्धि भ्रष्ट कर चुके हैं। इसलिए मैं तुम्हे धरती पर गिरा रहा हूं।
 
घमंड को सभी पापों की जड़ माना गया है। इसलिए इसे पहला स्थान दिया गया। sabhar : bhaskar.com



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

शादीशुदा पुरुष किशमिश के साथ करें इस 1 चीज का सेवन, होते हैं ये जबर्दस्त 6 फायदे

किशमिश के फायदे के बारे में आपने पहले भी जरूर पढ़ा होगा लेकिन यहां पर वैज्ञानिक रिसर्च पर आधारित कुछ ऐसे बेहतरीन फैक्ट बताए जा रहे हैं जो श...