गुरुवार, 19 सितंबर 2013

पांच हजार साल से बर्फ के नीचे दबा आदिमानव, जब वैज्ञानिकों के हाथ लगा

पांच हजार साल से बर्फ के नीचे दबा आदिमानव, जब वैज्ञानिकों के हाथ लगा

वह तकरीबन पांच हजार साल से चिरनिद्रा में सोया हुआ था। इटली के एल्प्स पर्वतों की बर्फ की चादर ओढ़े हुए उसका सारा शरीर प्राकृतिक रूप से ममी बन चुका था। जी हां, 'ओएत्सी द आइसमैन' के नाम मशहूर इस ममी को आज ही के दिन 22 साल पहले 19 सितंबर 1991 को नींद से जगाया था। दो जर्मन पर्यटकों को पर्वत की ओएत्स घाटी पर घूमते हुए वह मिल गया। इस घाटी की ऊंचाई 3210 मीटर थी। अगले दिन उसे निकालने का प्रयास किया गया, लेकिन खराब मौसम ने साथ नहीं दिया। 22 सितंबर को आखिरकार उसे सुरक्षित तरीके से निकाल लिया गया। इन्सब्रुक यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि यह ममी पाषाणयुग का है। उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। पाषाण युग का एक आदमी इतनी 5000 साल लंबी यात्रा करके उनके साथ आधुनिक काल तक चला आया। जैसे इतिहास उनके सामने से गुजर गया हो। 
 
जेनेटिक रिसर्च के बाद यूरोपिय एकेडमी ऑफ बोल्जानो, जारलांड यूनिवर्सिटी, कील यूनिवर्सिटी और बाकी सहयोगियों ने जून 2013 में बताया कि उन्होंने ओएत्सी के मस्तिष्क के ऊतक के बहुत ही छोटे सैंपल से प्रोटीन और उसका विश्लेषण किया। उनके परीक्षण से उस थ्योरी की पुष्टि हुई कि इस व्यक्ति की मौत मस्तिष्क की चोट के कारण हुई थी। 
पांच हजार साल से बर्फ के नीचे दबा आदिमानव, जब वैज्ञानिकों के हाथ लगा
पांच हजार साल से बर्फ के नीचे दबा आदिमानव, जब वैज्ञानिकों के हाथ लगा
पांच हजार साल से बर्फ के नीचे दबा आदिमानव, जब वैज्ञानिकों के हाथ लगा

पांच हजार साल से बर्फ के नीचे दबा आदिमानव, जब वैज्ञानिकों के हाथ लगा

sabhar : bhaskar.com

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

एक तस्वीर ने बदली जिंदगी / 4 साल पहले सड़क पर भीख मांगने वाली रीता आज हैं सेलिब्रिटी, इंस्टाग्राम पर हैं एक लाख से अधिक फॉलोवर

2016 में लुकबान के एक फेस्टिवल में शामिल होने पहुंचे फोटोग्राफर टोफर क्वींटो रीता की खूबसूरती से प्रभावित हुए टोफर ने तस्वीर खींचकर सोशल म...