Loading...

बुधवार, 21 अगस्त 2013

यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट

0

यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट
दुनिया में आज भी अधिकांश देशों में बेटियों को सेक्शुअल फ्रीडम नहीं है, लेकिन कुछ ऐसे देश है जहां परंपरा से ही पिता अपनी बेटी को सेक्स संबंध बनाने के लिए खुली छूट देता है।इतना ही नहीं वह बेटी के लिए अपने फ्रेंड के साथ एकांत में खास पल बिताने के लिए शानदार हट भी उपलब्ध करवाता है।
यह सुनकर हम हैरान हो सकते हैं, लेकिन यह एक देश के समाज विशेष की परंपरा है। दुनिया के कुछ देशों  में इससे मिलती-जुलती समाज में प्रचलित सेक्स लाइफ की विचित्र परंपराएं प्रचलित हैं।
यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट

गुआम में कुछ लोगों का फुलटाइम प्रोफेशन कौमार्य भंग करना है। इतना ही नहीं इस काम के लिए युवतियां इन लोगों को पैसा भी चुकाती हैं। गुआन के कानून के अनुसार यहां कुंवारी लड़की को शादी करने की मनाही है। पहले उसे अपना कौमार्य भंग करवाना जरूरी है।
यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट
कीनिया के लोउ समाज में यह मान्यता प्रचलित है कि परिवार के व्यक्ति मौत होने पर उसकी विधवा को  दूसरे पुरुष के साथ हमबिस्तर होना होता है। यह पति की मौत के बाद शुद्धिकरण की प्रक्रिया है। इससे आगे की पीढ़ी बढ़ाई जाती है।

यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट

न्योतैमोरी : यह जापान में प्रचलित है, जिसमें महिला या पुरुष के शरीर (बॉडी सुशी) पर व्यंजन (सुशी) रखकर खाए जाते हैं। इसमें महिला या पुरुष के शरीर का अधिकांश हिस्सा नग्न होता है। इसके लिए महिला या पुरुष को तैयार होने के लिए पहले स्थिर रहने का कड़ा अभ्यास करना होता है। जापान की इस परंपरा ने दुनिया के मीडिया का ध्यान अपनी ओर खूब खींचा है।

यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट

 पापुआ न्यूगिनी में ट्रोब्रिआनडर्स जनजाति है। यहां छह से आठ साल की लड़कियों को सेक्स शुरू करना पड़ता है और लड़कों को 10 से 12 साल की उम्र में। हालांकि साथ में खाना खाने पीने के बावजूद भी उन्हें शादी करने की मनाही रहती है।
यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट
फैंग एक अफ्रीकी समाज है, जिनकी तरह-तरह की मान्यताएं प्रचलित हैं। उनकी एक मान्यता यह भी है कि वे दिन में सेक्स नहीं करते हैं और वे इसे अशुभ मानते हैं।
यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट

 नार्थ कोलंबिया में यह एक कॉमन प्रैक्टिस है कि यहां के किशोर गधी के साथ सेक्स करते हैं। इसे परंपरा और विधान के अनुसार सही माना है। माना जाता है कि एक लड़के का पुरुष बनने के सफर को तय करने के लिए ऐसा करना बेहतर है।

यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट
कंबोडिया में केरुंग समुदाय के लोग अपनी बेटियों को भरपूर सेक्शुअल स्वतंत्रता देते हैं। वे अपनी बेटियों को एकांत के पल बिताने के लिए अलग से झोपड़ी तैयार करके देते हैं, ताकि वे इसमें सो सकें और लड़कों से मिल सकें।
यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट
6- आयरलैंड में एक समाज जिसे इसि बेआग नाम से जाना जाता है। वे अपने बच्चों का पालन पोषण इस तरह करते हैं कि उसे सेक्स का बिल्कुल भी ज्ञान नहीं हो। यहां तक कि जब शादी हो जाती है तो सेक्स के दौरान पूरी तरह से कपड़े उतारे नहीं जाते हैं। इस समाज में शारीरिक संबंध बनाने के दौरान भी पूरे कपड़े उतारना वर्जित है।
यहां बेटी को मिलती है पिता से खुली छूट, एकांत के लिए देते हैं स्पेशल हट

 ब्लैक सी के किनारे विवादित क्षेत्र अबखाजियान में अबखाजियान रहते हैं। इनका संबंध काकेसियन एथनिक ग्रुप से है। यहां के युवा जवानी तक ब्रम्हचर्य का पालन करते हैं। शादी होने के बाद देर रात में ही सेक्स करते हैं। यही राज उनकी लंबी उम्र का भी है।
sabhar : bhaskar.com






0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting