Loading...

शनिवार, 31 अगस्त 2013

अंधेरे कमरे में बिना कपड़ों के थे आसाराम- 'रेप' की शिकार लड़की की खौफनाक आपबीती

0

अंधेरे कमरे में बिना कपड़ों के थे आसाराम- 'रेप' की शिकार लड़की की खौफनाक आपबीती

नई दिल्ली. पुलिस से बचने के लिए यहां-वहां फिर रहे कथावाचक आसाराम बापू खुद को बेकसूर बता रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि कांग्रेस के शीर्ष नेताओं (सोनिया-राहुल) के इशारे पर उनके खिलाफ साजिश रची गई है। लेकिन इस मामले में पीड़ित लड़की की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर में आसाराम पर बेहद गंभीर आरोप लगाए गए हैं।
 
पीड़ित लड़की की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर में लड़की ने जो आपबीती बताई है, उसके मुताबिक, 'उसने (आसाराम) ने कमरे (जोधपुर आश्रम के) की लाइट बंद कर दी और मुझे पीछे बुला लिया। उन्होंने कमरा बंद कर दिया और मेरे साथ छेड़खानी करने लगे। जब मैंने चिल्लाना शुरू किया तो मेरे माता-पिता को मारने की धमकी देने लगे और मेरा मुंह बंद कर दिया। उन्होंने मुझे चूमा और आपत्तिजनक तरीके से मुझे छुआ। मेरे पूरे शरीर को वे सहला रहे थे और मुझसे ओरल सेक्स के लिए कहा। वे बिल्कुल नंगे थे। उन्होंने जबर्दस्ती करते हुए मेरे भी कपड़े उतारने की कोशिश की और मैं रोने लगी। मैं रोने लगी। उन्होंने फिर से मेरा मुंह बंद कर दिया। उन्होंने मेरे साथ एक घंटे से ज्यादा समय तक यह सब किया। जब मैं कमरे से बाहर जाने लगी तो उन्होंने एक बार फिर मुझे मुंह न खोलने के लिए धमकाया।' 
अंधेरे कमरे में बिना कपड़ों के थे आसाराम- 'रेप' की शिकार लड़की की खौफनाक आपबीती
बाबा बोले-मैं भगवान, तबाह कर दूंगा 
 
पीड़ित लड़की ने पुलिस को दी गई शिकायत में बताया कि बाबा ने उससे कहा था कि वह शाक्तिशाली पुरुष हैं। इतना ही नहीं उन्‍होंने अपनी तुलना भगवान से करते हुए कहा कि आज के भगवान हैं। अगर उसने इस कमरे के भीतर हुई कोई भी बात किसी को भी बाहर जाकर बताई तो वह उसे और उसके पूरे परिवार को तबाह कर दूंगा।
 
लड़की ने बताया कि वह उस वक्‍त काफी घबरा गई थी और उसने उस घटना के बारे में उस वक्‍त किसी को कुछ नहीं बताया, लेकिन जब वह घर अपने माता-पिता के साथ वापस घर उत्‍तर-प्रदेश अपने घर लौट गई तो उसने अपने परिजनों को पूरी घटना की जानकारी दी। इसके बाद 19 अगस्‍त को दिल्‍ली के कमला मार्केट थाने में मामला दर्ज कराया।

अंधेरे कमरे में बिना कपड़ों के थे आसाराम- 'रेप' की शिकार लड़की की खौफनाक आपबीती

कैसे जोधपुर आश्रम पहुंची लड़की 
 
यौन उत्पीड़न की शिकार लड़की ने अपने बयान में पुलिस को बताया कि वह शाहजहांपुर, उत्तर प्रदेश की रहने वाली है और मध्‍य प्रदेश के छिंदवाड़ा में आसाराम के ही गुरुकुल में 12 वीं पढ़ती है और वहीं हॉस्टल में रहती है। एक दिन अचानक उसकी तबियत खराब हो गई। हॉस्टल वॉर्डन ने 7 अगस्‍त को उसके माता-पिता को उत्‍तर प्रदेश से बुलाया गया। उन्‍हें बताया गया कि उनकी बेटी तबीयत ठीक न होने की वजह से उसे अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने अखबार को बताया है कि लड़की के पिता को बताया गया कि उनकी बेटी का सीटी स्‍कैन कराया जा रहा है और ऐसा लगता है कि उस पर भूत-प्रेत का साया है।
 
आश्रम से बेटी की तबीयत की जानकारी मिलने पर अगले दिन की लड़की के माता-पिता अपनी बेटी का हाल जानने के लिए आश्रम पहुंचे। जब लड़की के माता-पिता आश्रम पहुंचे, तो उन्‍होंने अपनी बेटी को तंदुरुस्‍त और स्‍वस्‍थ्‍य पाया। आश्रम के वार्डन ने लड़की के माता-पिता को बताया कि आसाराम बापू ने लड़की के लिए एक मंत्र भेजा था, जिससे उनकी बेटी होश में आई। वार्डन ने उन्‍हें कहा कि वह अपनी बेटी को आसाराम बापू के जोधपुर स्थित आश्रम में ले जाए। जहां पर आसाराम बापू उनकी बेटी के लिए खुद धार्मिक अनुष्‍ठान करेंगे। पुलिस के मुताबिक लड़की के परिजनों ने अपने बयान में बताया कि वार्डन ने उन्‍हें कहा कि वह बिना देरी किए वहां जाए क्‍योंकि यह अनुष्‍ठान खुद बापू करने वाले हैं।
 
 
14 अगस्‍त को लड़की अपने माता-पिता के साथ जोधपुर पहुंचे। जहां पर आसाराम बापू के सेवक ने उन्‍हें एक कमरा दिया और कहा कि अनुष्‍ठान कल होगा। लड़की ने अपनी शिकायत में बताया कि 15 अगस्‍त की शाम को वह आसाराम बापू से मिलने के लिए उनके आश्रम पहुंची। इसके बाद आसाराम बापू ने उसे कमरे के अंदर बुलाया और उसके परिजनों को कहा कि वह बाहर इंतजार करें।
 
लड़की ने पुलिस को बताया कि आसाराम बापू ने उससे उसकी पढ़ाई के बारे में पूछा। बापू ने उससे बातों-बातों में कहा कि वह इस संस्‍था की प्रवक्‍ता बन सकती है। इसके बाद आसाराम बापू ने अपने सेवक को कहा कि वह उसके माता-पिता से कहे कि वह चले जाएं क्‍योंकि अनुष्‍ठान में काफी समय लगेगा। इसके बाद आसाराम लड़की को कमरे में ले गए। 

लड़की को नहीं थी कोई बीमारी, साजिशन बुलाया आश्रम! 
 
पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि आसाराम पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली छिंदवाड़ा गुरुकुल की नाबालिग छात्रा को कोई बीमारी नहीं थी, बल्कि पूरी साजिश उसका आसाराम के समक्ष समर्पण कराने की थी। अब तक की पुलिस जांच के मुताबिक गुरुकुल वार्डन ने बीमारी के बहाने ही उसके परिजनों को बुलाया था, मगर बाद में भूत-प्रेत का साया बताकर आसाराम से अनुष्ठान कराने का दबाव बनाया था।
 
छिंदवाड़ा में छानबीन करने गई जोधपुर पुलिस टीम को उसकी बीमारी का कोई सबूत नहीं मिला और न ही गुरुकुल प्रबंधन ने उसके उपचार का कोई रिकॉर्ड दिया। खुद पीडि़ता व उसके परिजनों ने भी अपने बयान में यही कहा था कि उसे सिर्फ एक दिन चक्कर ही आया था। इसी के इलाज के बहाने आसाराम ने उसमें दैवीय शक्तियां समाहित करने की बात कहते हुए गलत हरकतें की थी।
 
 
जोधपुर कमिश्नरेट के डीसीपी अजयपाल लांबा ने बताया कि गुरुकुल में पीड़िता के बीमार होने का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला है। ऐसी बातें सामने आई है कि यह हरकत समर्पण कराने जैसी कोशिश थी। आसाराम व उनके सहयोगियों के खिलाफ गुजरात के दो थानों में हत्या के प्रयास, मारपीट व जमीन विवाद के 16 मुकदमे दर्ज हैं, वह रिकॉर्ड भी मंगवाया गया है।
अंधेरे कमरे में बिना कपड़ों के थे आसाराम- 'रेप' की शिकार लड़की की खौफनाक आपबीती

कोर्ट से लगा झटका 
 
यौन शोषण के आरोपी कथावाचक आसाराम बापू को गुजरात हाई कोर्ट से झटका लगा है। आसाराम ने कोर्ट का रुख देख ट्रांजिट बेल की अर्जी वापस ले ली है। अब आसाराम के सिर पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है।आसाराम की तरफ से शुक्रवार को ही ट्रांजिट बेल की अर्जी दाखिल की गई। अदालत ने क‍हा कि आसाराम के खिलाफ गंभीर आरोप हैं और ऐसे में जमानत मिलना संभव नहीं है। अदालत ने यह भी कहा कि अगर अर्जी वापस नहीं ली जाती है तो यह खारिज कर दी जाएगी। आसाराम को शुक्रवार को जोधपुर में जांच अधिकारी एसीपी चंचल मिश्रा के समक्ष पेश होना है। लेकिन उन्‍होंने 15 दिन की मोहलत मांग ली है। पुलिस ने वक्‍त देने से इनकार कर दिया है। उनकी गिरफ्तारी के लिए एसीपी मिश्रा के नेतृत्व में तीन थानेदारों की टीम बना दी गई है। शनिवार सुबह आसाराम जहां भी होंगे, उन्हें गिरफ्तार करने के लिए टीम रवाना हो जाएगी। 
 
छिंदवाड़ा के गुरुकुल की वार्डन शिल्पी, संचालक शरदचंद्र और आसाराम के प्रमुख सेवादार शिवा को भी गुरुवार रात तक पुलिस के समक्ष पेश होना था। ये तीनों भी पेश नहीं हुए। पुलिस तीनों की गिरफ्तारी के लिए भी टीमें भेजेगी। आसाराम पर कार्रवाई को लेकर शुक्रवार को संसद में हंगामा हुआ। जदयू नेता शरद यादव ने तत्‍काल कार्रवाई की मांग की।  sabhar : bhaskar.com



0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting