Loading...

शनिवार, 31 अगस्त 2013

अपने ही बेटे को जंजीरों में बांधकर गुफा में कर दिया कैद

0

अपने ही बेटे को जंजीरों में बांधकर गुफा में कर दिया कैद
चीन में इन दिनों एक अंधे लड़के को जंजीर से बांधकर गुफा में बिना कपड़ों के रखने का मामला लोगों के बीच चर्चा का  विषय बना हुआ है। इसे आप निर्दयता कहें या एक मजबूरी का एक किस्सा, लेकिन हर नजर में यह मानवता के खिलाफ एक बड़ा अपराध है। दरअसल चीन के हेनान प्रांत में  एक पिता ने खुद के अंधे बेटे को एक गुफा में जंजीर से जकड़कर बिना कपड़ों के रखा हुआ है। बंधक 26 वर्षीय युवक जन्म से अंधा है और मानसिक रूप से विक्षिप्त भी है। उसके पिता चेंग युआन चाओ का कहना है कि उनके घर के नष्ट हो जाने के बाद उनके पास और कोई विकल्प नहीं बचा था। इसीलिए उन्होंने अपने अंधे बेटे को गांव से दूर एक गुफा में जंजीर से बांधकर रखा हुआ है। उसके पैर को चैन से बांधा हुआ है।  
अपने ही बेटे को जंजीरों में बांधकर गुफा में कर दिया कैद
हालांकि अपने बेटे को ऐसे हालत में कैद करना वे एक मजबूरी बताते हैं। उनका कहना है 'मेरे पास अपना कोई घर नहीं है। ऐसे में मैं अपने बेटे को कहां रखूं। मेरे पास इसके अलावा कोई चारा नहीं था। मैं एक दिन में तीन बार उसे खाना और पानी देने के लिए जाता हूं ताकि उसे भूख-प्यास न लगे। चैन से उसे इस वजह से बांधकर रखा हुआ है क्योंकि वह अपने आप को नुकसान पहुंचा सकता है।' बंधक के पिता का कहना है कि वह खुद भी अपने बेटे को इस हालत में नहीं दे्खना चाहते लेकिन उनके लिए यह एक मजबूरी है। पिता का कहना है कि 'वह (बंधक) कपड़े नहीं पहनता। यादि हम जबदस्ती उसे कपड़े पहना भी देते हैं तो वह उन्हें फाड़ देता है। हालांकि लोगों का भी यही कहना है कि यह महज एक मजबूरी है। यदि कोई पालतू पशु भी होता तो वह लड़के से ज्यादा बेहतर स्थिति में होता।'बंधक के पिता चेंग युआन चाओ का कहना है गरीबी इस सारे हालात की जड़ है। उनके पास न घर के लिए पैसै हैं न ही अपने बेटे के इलाज के लिए। यानी चेंग अपने बेटे को इस दयनीय हालत का कारण आर्थिक मजबूरी है।

 sabhar : bhaskar.com


0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting