सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

January 1, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सबसे ज्यादा यहां होता है यौन शोषण

यूं तो महिलाओं के लिए कोई भी जगह सुरक्षित नहीं लेकिन अन्या जगहों की तुलना में ऑफिस को ज्यादा सुरक्षित समझा जाता है। 
लेकिन चाइना डेली के अनुसार चीन में लगभग 10 से 20 करोड महिलाएं कार्यक्षेत्र पर यौन शोषण का शिकार हुई है। वहां पर ज्यादातर महिलाओं का यौन शोषण ऑफिस में होता है।
 यौन शोषण की शिकार ये महिलाएं कोर्ट में जाने की बजाय विशेषज्ञों की सलाह लेती हैं। बहुत कम महिलाएं इन मामलों की रिपोर्ट दर्ज कराने का साहस दिखा पाती हैं।
वर्ष 2007 के बाद से यौन शोषण की 183 शिकायतें मिली हैं। केंद्र ने अब तक ऎसे 47 मामले निपटाए हैं, जिनमें से 34 फीसदी कार्यक्षेत्र से जुडे थे।  sabhar : bhaskar.com

बिपाशा का टॉपलेस वीडियो लीक होने पर खूब मचा था हंगामा

अभिनेत्री बिपाशा बसु का आज 31 वां जन्मदिन है |अपनी बोल्डनेस से सबको हैरान करने वाली बिपाशा के हॉट टॉपलेस एड ने खूब चर्चा बटोरी थी|उन्हें इस विज्ञापन की वजह से काफी आलोचना भी झेलनी पड़ी थी| बिपाशा पर फिल्माया गया यह उत्तेजक विज्ञापन पिछले साल भी सुर्ख़ियों में आया था|



पिछले साल इस वीडियो के नेट पर आ जाने के बाद बिपाशा के मैनेजर को यह सफाई देनी पड़ी थी कि यह 1999 में फिल्माया गया था जब बिप्स न्यूयॉर्क की फोर्ड मॉडलिंग एजेंसी के लिए काम करती थीं|



यह इंटरनेशनल असाइनमेंट के तौर पर फिल्माया गया था जिसका उपयोग इंटरनेशनल मार्केट के लिए किया जाना था मगर यह लीक हो गया|इस वीडियो में बिपाशा को शादी के लिए तैयार होते हुए एक राजकुमारी की तरह दिखाया गया है|इसमें विवेक ओबेरॉय भी नजर आए हैं| 
sabhar : bhaskar.com

स्टीव जॉब्स के होने और न होने का साल

कंप्यूटर युग ने नई तकनीक और खोज के संसार में एक कद्दावर चेहरे को 2011 में 56 साल की छोटी उम्र में मरते देखा. एप्पल को जन्म देने वाले स्टीव जॉब्स की अक्टूबर में मौत तकनीकी दुनिया के लिए बहुत बड़ा सदमा रही. स्टीव जॉब्स की मौत ऐसे वक्त में हुई जब एप्पल, दिग्गज तेल कंपनी एक्सॉन मोबिल को टक्कर देते हुए दुनिया की सबसे प्रभावशाली कंपनियों में शुमार हुई और उनकी कामयाबियों की तुलना अमेरिका के सर्वकालिक बड़ी खोज करने वाले थॉमस एडिसन और हैरिसन फोर्ड से की जा रही थी. जॉब्स की मौत के बाद के हफ्तों में अनगिनत बार कंप्यूटर, संगीत, डिजिटल सिनेमा, स्मार्ट फोन और टैबलेट कंप्यूटर में उनके लाए बदलावों की चर्चा होती रही. पर सोचने वाली बात यह थी कि एप्पल और तकनीक की दुनिया में स्टीव जॉब्स की दृष्टि और सोच शामिल नहीं हुई होती तो क्या होता. जॉब्स की मौत के बाद एप्पल के शेयरों की कीमत में भारी गिरावट जरूर आई लेकिन जल्दी ही यह ऊपर चढ़ गया. निवेशकों को जल्दी ही पता चल गया कि दूरदर्शी जॉब्स ने अपने पिछले कई साल अपनी विरासत को संभालने वाले हाथों को तैयार करने में खर्च किए हैं. जॉब्स ने पहले से ही आने वाले समय के लि…

समुद्र में लौट रहे हैं मूंगे के जंगल

बढ़ती आबादी की जरूरतों को पूरा करने के लिए समुद्री संसाधनों का भी इस्तेमाल बढ़ गया है, जिसकी वजह से समुद्र में कोराल समाप्त हो रहे हैं. एक जर्मन वैज्ञानिक से प्रेरणा लेकर अब उसे बचाने का काम चल रहा है. साइनायड फिशिंग और पानी के बढ़ते तापमान के कारण इंडोनेशिया के बाली में कोरल या मूंगे कम हो रहे थे, लेकिन एक गोताखोर ने जर्मन वैज्ञानिक की किताब बायोरॉक से प्रभावित होकर एक परियोजना बनाई है, जिसे दुनिया भर में लागू किया जा रहा है. जिन 20 देशों में इस पर अमल हो रहा है उनमें दक्षिण पूर्व एशिया, कैरिबियन, हिंद महासागर और प्रशांत सागर के देश शामिल हैं. बाली के उत्तरी तट पर पेमुतेरान के नीले पानी में इस परियोजना को 2000 में शुरू किया गया था. वहां क्रैब नाम का एक लोहे का फ्रेम है, जिसे विभिन्न प्रकार के कोरल से ढक दिया गया है, जिसमें सैकड़ों मछलियों ने अपना घर बना लिया है. मूंगे छोटे समुद्री जीव होते हैं जो लाखों की संख्या में समूह में रहते हैं और अपने इर्द गिर्द सख्त शंख बना लेते हैं जो पत्थर जैसे और अलग अलग रंगों के होते हैं. इन्हें तराश कर और चमका कर मूंगे के जेवर भी बनाए जाते हैं. अपने प्रयासो…

अदृश्यता पैदा करने के करीब पहुंचे अमेरिकी वैज्ञानिक

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के वैज्ञानिक अदृश्य तकनीक की मदद लेते हुए एक जबरदस्त संचार सिस्टम बनाने में जुटे हैं. इसके 'टाइम क्लोक' यानी समय का आवरण कहा जा रहा है. सब कुछ आंखों के सामने होगा लेकिन किसी को भनक तक नहीं लगेगी. बनाई गई मशीन प्रकाश के बहाव को ऐसे परिवर्तित कर रही है कि इंसानी आंखें इस परिवर्तन को पकड़ ही नहीं पा रही है. विज्ञान मामलों की पत्रिका नेचर में इस बारे में एक रिपोर्ट छपी है. रिपोर्ट के मुताबिक प्रकाश की कुछ खास रंग की किरणों में बदलाव करने पर इंसान की आंख को बेवकूफ बनाया जा सकता है. वैज्ञानिकों को लगता है कि इस तकनीक की मदद से इंसान के सामने बिना किसी नजर में आए काफी कुछ किया जा सकेगा. न्यूयॉर्क की कोरनेल यूनिवर्सिटी की मोटी फ्रीडमन कहती हैं, "हमारे नतीजे दिखाते हैं कि हम अदृश्यता पैदा करने वाला उपकरण बनाने के काफी करीब पहुंच रहे हैं." प्रयोग के तहत अलग अलग आवृत्ति वाली प्रकाश की किरणों को भिन्न भिन्न रफ्तार से आगे बढ़ाया जाता है. प्रयोग के लिए कई लैंसों का इस्तेमाल किया गया. सबसे पहले हरे रंग के प्रकाश को फाइबर ऑप्टिक केबल से गुजारा गया. फिर प्रकाश अलग…

जब पूल पार्टी में जवान छात्र-छात्राओं ने जमकर मचाया था हुड़दंग

पिछले साल स्कूल स्टूडेंट्स द्वारा आयोजित एक पार्टी में जब हजारों की संख्या में युवक-युवतियां पहुंच गए तो स्थिति नियंत्रण से बाहर हो गई। इस पूल पार्टी को कोलोरेडो स्टेट यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स के लिए आयोजित किया गया था। फेसबुक पर प्रचार के कारण इसमें हजारों की संख्या में युवक-युवतियां पहुंच गए और उन्होंने वहां जमकर हुड़दंग मचाया। यह पूल पार्टी (स्वीमिंग पूल पार्टी) फोर्ट कोलिंस अपार्टमेंट कॉंपलेक्स में पिछले साल अगस्त महीने में आयोजित की गई थी। फेसबुक पर इस पार्टी के पेज पर लगभग 3000 लोगों ने आने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था। लेकिन पार्टी में लगभग 4000 लोग पहुंच गए। दोपहर बाद पुलिस को आस-पास के लोगों ने ख़बर द्वारा ख़बर मिली कि पार्टी में शराब परोसी जा रही है और स्थिति बिगड़ सकती है। दोपहर 3 बजे पहुंच कर पुलिस ने पार्टी को रूकवाया और 4 लोगों को गिरफ्तार किया, जिनमें से 2 यूनिवर्सिटी फुटबॉल टीम के खिलाड़ी भी हैं। पार्टी में हुड़दंग मचाने के कारण घायल 10 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी गिरफ्तार युवकों को अधिक शराब पीने के मामले में गिरफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार जब वे पार्टी…

जानबूझ कर हजारों लोगों में फैलाया एड्स

लंदन.अमेरिका में एक एचआईवी संक्रमित व्यक्ति ने जानबूझ कर असुरक्षित यौन सम्बन्ध स्थापित कर हजारों लोगों में एड्स फैला दिया है।


51 साल के डेविड डीन स्मिथ ने खुद मिसिगन पुलिस स्टेशन जा कर कबूल किया कि वह पिछले कई सालों में 3000 आदमियों और औरतों के साथ सोया है। मामले की जांच कर रहे एक जासूस ने बताया "उसका कहना है कि उसने ऐसा जानबूझ कर किया ताकि इस बीमारी से और लोग मरे।"

हालांकि अबतक यह नहीं पता चल पाया है कि स्मिथ को अपने एचआईवी संक्रमित होने का पता कब चला। उसने दावा किया है कि जब वह कई साथियों के साथ असुरक्षित यौन सम्बन्ध बना रहा था,इसका उसे इल्म था।

डेली मेल अखबार के मुताबिक उसने दावा किया है कि पीड़ितों की संख्या हजारों में हो सकती है। फिलहाल उसे मुक़दमे के लिए अदालत लाया गया हैऔर उसपर अनभिज्ञ साथी के साथ 'एड्स सेक्सुअल पेनेट्रेशन' के दो काउण्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। sabhar : bhaskar.com

सैफ की बेटी का यह खूबसूरत अंदाज देख दंग हैं सभी

बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान की बेटी सारा अली खान ने पहली बार एक मैगज़ीन के कवर पेज पर छपकर सबको चौंका दिया है| सारा ने इस मैगज़ीन के कवर पेज पर अपनी माँ अमृता सिंह के साथ पोज किया है जो कि सैफ की पूर्व पत्नी हैं| क्रीम कलर के लहंगे में सजी सारा बेहद खूबसूरत नजर आ रही हैं|



तस्वीर काफी रॉयल और क्लासिक नजर आ रही है जिसमें अमृता बैठीं हैं और सारा उनके पीछे खड़ी हुई हैं| तस्वीर को देखकर आपको अंदाजा हो जाएगा कि सारा के नैन नक्श माँ पर गए हैं जबकि उनमें अपने पिता जैसा चार्म है| उनमें नेक्स्ट सुपर स्टार बनने के सारे गुण मौजूद नजर आ रहे हैं|सारा को देखकर लग रहा है कि उन्हें सजना संवरना काफी पसंद है|



हाल ही में अपनी बेटी के बारे में एक अख़बार को बताते हुए अमृता ने कहा, सारा अभी 16 साल की हैं, वह बहुत ही अच्छी साइन्स स्टूडेंट हैं और डॉक्टर बनना चाहती हैं| उनके लिए आनेवाला साल बहुत ही महत्वपूर्ण होगा|



अमृता ने यह भी बताया कि अमृता को डिजायनर कपड़े पहनना बहुत पसंद है और उनके पास इसका बहुत बड़ा कलेक्शन है| अब देखना ये है कि सारा भी अपने माँ बाप की तरह एक्टर बनने की राह पकड़ती हैं या फिर अपना डॉक्टर…

जिंदगी जीना चाहती है सनी लेकिन पोर्न फिल्में पीछा नहीं छोड़ रही

सनी लियोन लंबे समय से पोर्न फिल्मों में काम कर रही हैं। लेकिन अब वह इन फिल्मों से उब गई हैं। वह भारत बॉलीवुड में एंट्री के लिए आई थी।
वह बॉलीवुड की फिल्मों में काम करके अपनी छवि बदलना चाहती हैं। लेकिन उनका पिछला करियर उनका पीछा नहीं छोड़ रहा है। दरअसल , सनी बॉलीवुड की फिल्मों के लिए कपड़े नहीं उतारना चाहतीं , लेकिन पूजा भट्ट सनी के पॉर्न स्टार के स्टेटस को कैश करना चाहती हैं और यही वजह है कि उन्होंने इस फिल्म में उन्हें लेने का मन बनाया है।
ऐसे में वह चाहती हैं कि सनी फिल्म के फर्स्ट सीन में ही न्यूड पोज दें। लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि सनी ने अभी फिल्म साइन नहीं की है और वह शर्तों से हट सकती हैं। अगर सनी न्यूड होने के लिए तैयार नहीं होती हैं , तो वह फिल्म से बाहर भी हो सकती हैं।  sabhar : bhaskar.com

चुकंदर के रस से बुजुर्ग भी हो जाते हैं जवान

शरीर विज्ञानी कहते हैं कि इंसानी शरीर के लिए फलों और सब्जियों का भोजन ही सबसे बढिया होता है। इस बात को एक हालिया रिसर्च से और भी अधिक बल मिलता है। कुदरत ने हमारी धरती पर एक से बढ़कर एक स्वादिष्ट और गुणकारी फल और शाक-सब्जियों को पैदा किया है। जमीन के अंदर पैदा होने वाला चुकंदर हमारी सेहत के लिये बेहद गुणकारी कंद है। चुकंदर के गुणों पर किए गए हालिया रिसर्च के नतीजे काफी उत्साहवर्धक हैं।

रिसर्च के नतीजों के मुताबिक चुकंदर का रस बुजुर्गो को ऊर्जावान बना सकता है। एक नए अध्ययन के मुताबिक यह रस बुजुर्गो के जीवन में फिर से जवानों के जैसी सक्रियता बढ़ा देता है।

अध्ययन के मुताबिक बुजुर्गो को चुकंदर का रस पीने के बाद हल्का-फुल्का व्यायाम करने के लिए कम ऊर्जा की आवश्यकता होती है। उन्हें पैदल चलने के लिए जितना प्रयास करना पड़ता है, चुकंदर का रस पीने से उसमें 12 प्रतिशत तक की कमी आ जाती है।

"जर्नल ऑफ एप्लाइड फि जियोलॉजी" में ब्रिटेन के एग्जिटर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के हवाले से कहा गया है कि चुकंदर का रस पीने के बाद बुजुर्ग वह काम भी कर सकते हैं, जिनके लिए वैसे कोशिश भी नहीं करते हैं।
चु…

2050 की दुनिया

आने वाली दुनिया कैसी होगी। सबकी अपनी कल्पनाएं और अंदाजे हैं। विज्ञान दुनिया को नए तरीके से देख रहा है। फिल्मी दुनिया की अपनी फंतासियां हैं। बात हो रही है 2050 की। आज की कल्पनाएं निश्चित तौर पर आने वाले वक्तके धरातल पर होंगी। संभव है दिमाग को कम्प्यूटर की फाइल के तौर पर सुरक्षित रखा जाए। यह भी मुमकिन है कि आदमी गायब होना सीख ले। 

यह है फ्यूचरोलॉजी
ऎसा नहीं है कि भविष्य दर्शन केवल फिल्मकारों की कल्पना तक सीमित है। वैज्ञानिक भी इसमें खासी रूचि ले रहे हैं। तथ्यों और पूर्वानुमानों के सामंजस्य को विज्ञान की कसौटी पर परख कर भविष्य की कल्पना एक नए विज्ञान की राह खोल रही है। यह विज्ञान है फ्यूचरोलॉजी यानी भविष्य विज्ञान। क्या भविष्य में चांद पर बस्ती बसेगी। क्या हमारा परिचय धरती से परे किसी दूसरी दुनिया के प्राणियों से होगा। क्या इंसान मौत पर विजय पाने में कामयाब हो जाएगा। नामुमकिन सी लगने वाली ऎसी कल्पनाओं का वैज्ञानिक अध्ययन भी फ्यूचरोलॉजी के तहत किया जा रहा है। जिस तरह से मौसम-विज्ञानी भविष्य में मौसम का, अर्थशास्त्री भविष्य की विकास दर और इतिहासकार अतीत की घटनाओं का तार्किक आकलन पेश करते हैं…

ऑलिव ऑयल से तीन हफ्ते में दूर हो जाएंगी झुर्रिया

जापान के स्‍वास्‍थ्‍य विज्ञानियों का मानना है कि ऑलिव ऑयल के अंदर मौजूद फ्लेवसेनॉयड्स स्‍कवेलीन और पोरीफेनोल्‍स एंटीऑक्‍सीडेंट्स हैं, जो फ्री रैडिकल्‍स से सेल्‍स को डैमेज होने से बचाते हैं। अगर इसे भोजन में शामिल किया जाए तो इससे ब्‍लडप्रेशर को नियंत्रित रखा जा सकता है। इसका इस्‍तेमाल उबटन, फेसमास्‍क आदि के रुप में भी किया जाए  यह त्‍वचा को झुर्रियों से बचाता है।   
हफ्ते में तीन बार  हफ्ते में तीन बार नींबू में रस में ऑलिव ऑयल मिला कर चेहरे की मालिश करें, इससे न सिर्फ झुर्रियां भागेगीं बल्कि चेहरे की रंगत में भी निखार आएगा। साथ ही बालों में लगाने से इनकी अच्‍छी कंडीशनिंग भी हो जाती है। उलझे बालों की समस्‍या भी सुलझेगी।
दूर होगी डैंड्रफ की समस्‍या थोडा सा ऑलिव ऑयल अपने होथों में लें और उन्‍हें रुखे और बेजान बालों पर लगाएं, इससे आपके बाल सिल्‍की हो जाएंगे। और अगर आपको डैंड्रफ की समस्‍या है तो वही भी कम हो जाएगी।
चेहरा निखर जाएगा  चेहरे को सादे पानी से अच्‍छी तरह से धो लें। अब ऑलिव ऑयल से मसाज करें। इसके बाद आधा चम्‍मच चीनी लेकर चेहरे पर रगड़े। अंत में गुनगुने पानी में एक मुलायम कपड़ा भिगोकर …

यहां पैदा होते ही कुचल कर मार दिए जाते थे कैदियों के बच्चे

न्यूज डेस्क.नोर्थ कोरिया के 'प्यारे नेता' किम जोंग इल के निधन ने एकाएक पूरी दुनिया का ध्यान इस द्वीप की ओर आकर्षित कर दिया है। इस देश के प्रमुख नेता की मृत्यु ने एक बार फिर नोर्थ कोरिया के उस कड़वे सच की यादें ताजा कर दी हैं।
उत्तर कोरिया अपने राजनीतिक कैदियों को अमानवीय प्रताड़ना दिए जाने की बात पर बदनाम हुआ था। 21वीं सदी की शुरुआत में नोर्थ कोरिया का यह कड़वा सच उजागर हुआ था।
नोर्थ कोरिया के उत्तर-पूर्वी छोर पर स्थित हेंगयोंग शहर में एक खुफिया कैंप चलाया जाता था, जहां राजनीतिक कैदियों को रखा जाता था। कैंप 22 नाम से मशहूर यह जेल चीन और रूस की सीमा करीब स्थित थी।
इस खतरनाक जेल से छूटे कैदियों के बयानों ने नोर्थ कोरिया में हो रहे अमानवीय आचरण का सच उजागर किया था। ब्रिटिश अखबार द गार्जियन ने अपनी एक रिपोर्ट में उत्तर कोरिया के खुफिया कैंप 22 का खुलासा किया था।
अखबार ने दावा किया था कि हर साल इस कैंप में हजारों लोग अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं। इस कैंप में सुरक्षाकर्मी कैदियों के बच्चों की पैदा होते ही पैरों से कुचलकर मार डालते हैं।
गार्जियन के मुताबिक इन कैंपों में विद्रोहियों को गैस…

दीवार फांदकर गर्ल्स हॉस्टल में घुसा इंजीनियरिंग का छात्र लेकिन...!

जोधपुर.नववर्ष के स्वागत की रात 31 दिसंबर को एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज का एक छात्र एक गर्ल्स हॉस्टल की दीवार फांद कर अंदर कूद गया और एक कमरे में घुस गया। हॉस्टल की एक छात्रा की शिकायत पर चीफ वार्डन डॉ. एसएस गहलोत हॉस्टल पहुंचे और छात्र को रूम से बाहर निकाला। उस समय रूम में उसके साथ चार छात्राएं मौजूद थीं।

कॉलेज के डीन प्रो. डीजीएम पुरोहित ने बताया कि इस मामले में हॉस्टल वार्डन की ओर से लिखित में शिकायत आने पर ही कार्रवाई की जा सकेगी। हॉस्टल वार्डन के मंगलवार को छुट्टी से लौटने पर कार्रवाई शुरू होने की संभावना है।

शनिवार की रात एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज का एक छात्र कॉलेज के एयरफोर्स रोड स्थित एक गर्ल्स हॉस्टल की दीवार फांद कर हॉस्टल में घुस गया। वह छुपते-छुपाते हॉस्टल के एक कमरे में पहुंच गया। इस हॉस्टल में फर्स्ट ईयर में पढ़ने वाली छात्राएं रहती हैं।

एक अन्य कमरे में रहने वाली छात्रा को जब इस बात का पता चला तो वह डर गई और उसने चीफ वार्डन डॉ. एसएस गहलोत को फोन कर दिया। प्रो. गहलोत रात को हॉस्टल पहुंचे और चौकीदार के साथ जाकर कमरा खुलवाया। रूम में उस छात्र के साथ हॉस्टल की चार छात्राएं मौजू…

मुंबई गोराई बीच पर तीखा जहर

सुशील गंगवार - मीडिया दलाल डाट.कॉम -----------

साल २०११ की अंतिम रात और नए साल का जश्न  ने मुझे पागल बना दिया था मै किसी नशे में नहीं डूबा था  मै डूबा था पत्रकारिता के गहरे नशे में जिसने  मुझे मजबूर कर दिया, मुंबई गोराई बीच  के  तीखे जहर को करीव से जानने  के लिए ?  मुझे  रास्ते में रोक कर पूछा  जाता की रूम और लड़की चाहिए ? लोग हमें  शक्ल चूतिया  समझते है|

 मैंने कहा भाई ये बताओ कमरा - लड़की एक रात के लिए कितने में  दोगे तो वह दलाल फटाक से बोला साव हम रूम तो ५०० में देगे ,मगर लड़की देखने के बाद रेट तय होगा | हम बोले तुम पांच मिनट रुको हम अभी आते है और मै आगे बढ गया |
नीचे से ऊपर की तरफ से जाता हुआ रास्ता हमें उस और ले गया जहा हमें जाना था | ऊपर से खड़े होकर ठंडी पानी की  हवा, हमें गर्म करने पर मजबूर कर रही थी | वक़्त करीव रात के १२ बजे ,हम मुंबई गोराई बीच पहुचे तो देखा  रात जवान  हो रही थी |

सभी लोग इंग्लिश म्यूजिक पर  अपनी महबूबा के साथ  बहक -बहक कर मदहोश हो रहे थे |  हर किसी के हाथ में  शबाब और कवाब साफ़ साफ़ झलक रहा था | वह नए साल के जश्न में झूम रहे थे हमने भी अपनी गर्दन को तेदा मेदा …