Loading...

बुधवार, 9 मई 2012

कैप्सूल में बच्‍चों का मांस

0



दक्षिण कोरिया में कस्टम अधिकारियों ने बच्चों के मांस से भरे हुए हजारों कैप्सूल बरामद किए हैं। दक्षिण कोरिया में इन कैप्सूलों की काफी डिमांड थी। इन कैप्सूलों को यह बताकर बेचा जाता था कि इनसे सभी तरह की बीमारियां ठीक हो जाती हैं।

इस संगीन अवैध व्यापार को चीन से चलाया जा रहा था। सुनियोजित तरीके से चलाए जा रहे इस व्यापार में गर्भपात करवाए गए बच्चों और छोटे मृत बच्चों को मेडिकल संस्थानों द्वारा खरीद लिया जाता था। छोटे बच्चों की लाशों को इस व्यापार में जुड़े लोगों के घरों में रेफ्रीजेटर्स में इकट्ठा किया जाता था।

आवश्यकता पड़ने पर बच्चों की लाशों को क्लीनिक में ले जाता और मेडिकल माइक्रोवेव्स में सुखाया जाता। जब लाश की त्वचा पूरी तरह सूख जाती तो इन्हें पाउडर की तरह पीस लिया जाता। इस प्रक्रिया के बाद इस पाउडर को अन्य दवाइयों के साथ मिलाकर कैप्सूल बना लिए जाते।

शुरूआती जांच में यह सामने आया है कि चीनी अधिकारियों को बच्चों के मांस से भरे कैप्सूलों के निर्माण और अवैध तस्करी का अंदेशा था। गौरतलब है कि चीन में इससे पहले भी मानव अंगों से दवाइयां और शक्तिवर्धक मेडिकल उत्पाद बनाए जाने के मामले सामने आ चुके हैं।

दक्षिण कोरियाई कस्टम एजेंट्स के अनुसार पिछले वर्ष अगस्त महीने से लेकर अभी तक तस्करी के 17,000 ऐसे मामले सामने आए हैं, जिसमें शक्तिवर्धक दवाइयों की तस्करी की जा रही थी।
 
 
sabhar : bhaskar.com

0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting