Network blog

कुल पेज दृश्य

शुक्रवार, 18 मई 2012

हथेली में ये रेखा हो तो मिलता है बहुत सारा पैसा और नाम...

0





हाथों में दिखाई देने वाली रेखाएं और हमारे भविष्य का गहरा संबंध है। इन रेखाओं का अध्ययन किया जाए तो हमें भविष्य में होने वाली घटनाओं की भी जानकारी प्राप्त हो सकती है। वैसे तो हाथों की सभी रेखाओं का अलग-अलग महत्व होता है। किसी व्यक्ति को कितना मान-सम्मान और पैसा मिलेगा यह भी रेखाओं से मालुम हो जाता है।

मान-सम्मान और पैसों की स्थिति बताने वाली रेखा सूर्य रेखा कहलाती है। यदि किसी व्यक्ति के हाथ में ये रेखा दोष रहित हो तो उसे जीवन में भरपूर मान-सम्मान और पैसा प्राप्त होता है। सामान्यत: ये रेखा सभी के हाथों में नहीं होती है। कई परिस्थितियों में ये रेखा होने के बाद भी व्यक्ति को पैसों की तंगी भी झेलनी पड़ सकती है।

सूर्य रेखा रिंग फिंगर यानि अनामिका अंगुली के नीचे वाले हिस्से पर होती है। हथेली का ये भाग सूर्य पर्वत कहलाता है। यहां खड़ी रेखा हो तो वह सूर्य रेखा कहलाती है। यह रेखा सूर्य पर्वत से हथेली के निचले हिस्से मणिबंध या जीवन रेखा की ओर जाती है। सूर्य रेखा यदि अन्य रेखाओं से कटी हुई हो या टूटी हुई हो तो इसका शुभ प्रभाव समाप्त हो सकता है।

हथेली में सूर्य रेखा होना बहुत ही शुभ माना जाता है। जिस व्यक्ति के हाथ में यह रेखा दोष रहित होती है, वह निश्चित ही जीवन में कई उपलब्धियां प्राप्त करता है और पैसा भी कमाता है।

यदि किसी व्यक्ति के हाथ में ये रेखा न हो तो उसे समाज में मान-सम्मान बड़ी कठिनाइयों से प्राप्त होता है। साथ ही पैसा कमाने में भी कड़ी मेहनत करना पड़ती है। सूर्य रेखा का संबंध सूर्य देव से है। सूर्य मान-सम्मान का कारक ग्रह है। अत: सूर्य रेखा के दोषों को दूर करने के लिए सूर्य देव की आराधना करनी चाहिए।

हथेली में सूर्य रेखा न होने पर व्यक्ति को प्रतिदिन सुबह-सुबह सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए। अपने सामर्थ्य के अनुसार सूर्य देव के निमित्त गरीब लोगों को पीले रंग की वस्तुएं दान करनी चाहिए। शिवलिंग पर जल चढ़ाएं, इससे भी सूर्य संबंधी दोषों की शांति होती है। sabhar : baskar.com

0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting