Loading...

शुक्रवार, 20 जनवरी 2012

बगीचे में चल रहा था 32 जोड़ों का इलू-इलू, पुलिस भी रह गई दंग

0




नागपुर. तेलंगखेड़ी बगीचे में प्रेमालाप में खोए युगलों के बीच उस समय भगदड़ मच गई, जब अपराध पुलिस शाखा के सामाजिक सुरक्षा दस्ते ने बगीचे में छापा मारा। 
 
कार्रवाई शाम करीब 7 बजे के दरमियान की गई। कार्रवाई में बगीचे के ठेकेदार गिट्टीखदान निवासी राजेश जानराव गोपाले को भी गिरफ्तार किया गया है।
 
बगीचे से करीब 32 युगलों को हिरासत में लिया गया। उसके बाद उन्हें अपराध पुलिस शाखा कार्यालय में लाया गया। यहां लाने के बाद युवकों और युवतियों को अलग- अलग कमरे में बैठा कर सभी के नाम लिखे गए। उसके बाद उन पर धारा 110 व 117 के तहत कार्रवाई की गई। 
 
उसके बाद उनके परिजनों के हवाले कर दिया गया। अपराध पुलिस शाखा ने जिस समय बगीचे में छापा मारा उन्हें शायद इतने लोगों के एक साथ मिलने की उम्मीद नहीं थी, इसलिए उन्हें दो बार में पुलिस वाहन में ले जाए जाने की चर्चा है। 
 
कोई जांच पड़ताल नहीं -सूत्रों की मानें तो तेलंगखेड़ी बगीचे से जिन युगलों को पुलिस कब्जे में ली थी, उन्हें छुड़ाने उनके परिजन ही आए थे या परिजन के रूप में दोस्त ही भाई और बहन बन कर आए थे। 
 
इसकी सत्यता की पुलिस ने कोई जांच पड़ताल नहीं की, जिससे पुलिस की इस कार्रवाई को महज खानापूर्ति माना जा रहा है। पता चला है कि सिर्फ दो युवतियों और दो युवकों को उनके माता- पिता छुड़ाने आए दिखाई दिए। 
 
भाई- बहन बता कर ले गए-सूत्रों के अनुसार बगीचे में पकड़े गए कई युगलों ने अपने परिचितों को फोन कर बुलाया था। किसी ने अपनी बहन तो किसी ने अपना भाई बता कर ले गए। 
 
पुलिस ने यह तक जांच नहीं की कि वह जिन युगलों को पकड़ी थी, उनमें कॉलेज के कितने छात्र और छात्राएं थीं? सूत्रों की मानें तो कुछ कॉलगर्ल भी इस कार्रवाई में पुलिस के हत्थे चढ़ी थीं। 
 
जांच होती तो शायद सूत्रों की बात सच साबित होती। लेकिन पुलिस ने ऐसी कोई जांच नहीं की दी। पुलिस ने कागजी कार्रवाई कर, सभी युगलों को हिदायत दे कर छोड़ दिया। 
 
यह कार्रवाई महज एक दिखावा माना जा रहा है। हालांकि सभी के चेहरे नकाब में ढंके थे। एक युवती रो रही थी, बाकी के चेहरों पर कोई डर नहीं दिखाई नहीं दे रहा था। पुलिस जिस तरह की कार्रवाई कर ऐसे मामलों पर अंकुश लगाना चाहती है, वह पूरी तरह लगा नहीं पाई। sabhar : bhaskar.com
 

 
 
 

0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting