मंगलवार, 22 नवंबर 2011

होटल का किराया बचाने के लिए बोनी के घर ठहरीं श्रीदेवी और हो गया प्यार




विवाह एक तरह से दूसरा जन्म होता है, जहां से स्त्री-पुरुष मिलकर नया जीवन शुरू करते हैं। चाहे धर्म-वर्ग कोई भी हो, इसका सामाजिक, सांस्कृतिक और भावनात्मक अर्थ एक ही रहा है। पर समय के साथ अब विवाह का अर्थ भी बदलने लगा है। लिव-इन रिलेशनशिप, यानी बिना शादी साथ रहने का रिवाज दिनोदिन बढ़ रहा है।
हालांकि अभी यह महानगरों के गिने-चुने लोगों तक ही सीमित है, लेकिन फिल्म इंडस्ट्री में ख़ूब फलफूल रहा है। बॉलीवुड में कई जोड़े लिव-इन रिलेशनशिप में हैं। मशहूर अभिनेता कबीर बेदी को इस प्रथा का जनक माना जाता है, जिन्होंने 3 शादियां कीं और दो स्त्रियों के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहे। उनका पहला लिव-इन रिलेशनशिप परवीन बॉबी के साथ था।
सन् 2006 से वे सोशल रिसर्चर परवीन दुसांज के साथ रह रहे हैं। कबीर बेदी कहते हैं- ‘मेरे जीवन में कई स्त्रियां आईं, पर यह मेरा शौक़ नहीं था, परिस्थितियां ही कुछ ऐसी बनीं कि विवाह निभ नहीं पाए। अब सोच ऐसी बन गई है कि रिश्ते पर विवाह की मुहर जरूरी नहीं लगती।’ कबीर बेदी के ही जमाने में डैनी और किम तथा कमल हासन और सारिका भी रहते थे। कमल-सारिका न सिर्फ़ साथ रहे, बल्कि 1996 में दूसरी बेटी की पैदाइश के 2 साल बाद उन्होंने शादी की।
इनके बाद से लिव-इन रिलेशनशिप अपनाने वाले जोड़े दर्जनों हैं, जिनमें से कुछ शादी के बंधन में बंध गए, तो कुछ जोड़े टूट गए या फिर कोई और जोड़ीदार ढूंढ़ लिया। शादी करने वाली जोड़ियों में श्रीदेवी-बोनी कपूर, अर्चना पूरनसिंह-परमीत सेठी, मनोज बाजपेयी-नेहा (फिल्म ‘क़रीब’ की हीरोइन), लारा दत्ता-महेश भूपति और कोंकणा सेन शर्मा-रणवीर शौरी के नाम प्रमुख हैं।
टूट चुकी जोड़ियों में नीना गुप्ता-विवियन रिचर्डस, लारा-केली दोरजी, सोनाली कुलकर्णी-मकरंद देशपांडे, कंगना राणावत-आदित्य पंचोली, नाना पाटेकर-दीप्ति नवल, विक्रम भट्ट-अमीषा पटेल, आफताब शिवदासानी-आमना शरीफ जैसे कई नाम हैं। कई लोगों ने एक जोड़ीदार छोड़कर दूसरा जोड़ीदार ढूंढ़ा है।
विक्रम भट्ट पहले सुष्मिता सेन के साथ रहते थे, फिर करीब डेढ़ साल तक अमीषा के साथ रहे। अमीषा पटेल भी विक्रम भट्ट से अलग होने के बाद कुछ समय आप्रवासी भारतीय बिजनेसमैन कानव पुरी के साथ रहीं। सुष्मिता तो विक्रम भट्ट के बाद संजय नारंग, रणदीप हुड्डा, मुदस्सर अजीज सहित कइयों के साथ रहीं।
बिपाशा बसु दो लोगों के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रह चुकी हैं, पहले डिनो मोरिया के साथ और फिर जॉन अब्राहम के साथ, जिनसे हाल में उनका ब्रेकअप हो चुका है। डिनो मोरिया भी बिपाशा के बाद कुछ समय लारा दत्ता के साथ और बाद में नंदिता मेहतानी के साथ रहे थे।
इसी तरह करीना कपूर भी वर्षो तक शाहिद कपूर के साथ थीं और अब सैफ़ अली की बिन ब्याही पत्नी हैं। उनके पार्टनर सैफ़ भी इस मामले में पीछे नहीं हैं। पहले अमृता सिंह के घर में रहे, जिनसे उनकी शादी भी हुई थी। कुछ समय वे इटालियन प्रेमिका रोज़ा के साथ रहे, जो हीरोइन बनने के लिए यहां स्ट्रगल कर रही हैं।
रोज़ा के बाद उनके जीवन में करीना आईं। सैफ़-करीना के अलावा इन दिनों विद्या बालन-सिद्धार्थ राय कपूर, श्रुति हासन-सिद्धार्थ, देव पटेल-फ्रीडा पिंटो, पूजा बेदी-हिलाल आदि कई जोड़े लिव-इन रिलेशन में हैं। जो लिव-इन रिलेशन में नहीं हैं, उनमें से भी ज्यादातर इसका समर्थन करते हैं। तुषार कपूर कहते हैं- ‘इंसान को पूरी तरह जानने के लिए, शादी से पहले उसके साथ रहना जरूरी होता है।’ एशा देओल और अमृता राव जैसी अनुशासित हीरोइनें भी इसका समर्थन करती हैं।
हालांकि कई बार मजबूरी के चलते भी लोग इसे अपनाते देखे गए हैं। ख़ासकर महानगरों में छत की खोज में लोग एक छत के नीचे आ मिलते हैं। कहते हैं, श्रीदेवी होटल का किराया बचाने को बोनी कपूर के घर में ठहरती थीं, जिस कारण उनके बीच अफेयर हो गया। कंगना का मुंबई में कोई ठिकाना नहीं था, सो स्ट्रगल के दौरान आदित्य पंचोली के फ्लैट में ठहरीं और रिश्ता पनप गया।
लारा-केली, सुष्मिता-रणदीप, कोंकणा-रणवीर शौरी आदि कई स्टार इसी तरह लिव-इन रिलेशन में चले गए, तो करियर चमकाने की ख़ातिर भी लोगों को लिव-इन रिश्ता अपनाते देखा गया है। sabhar : bhaskar.com
 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

शादीशुदा पुरुष किशमिश के साथ करें इस 1 चीज का सेवन, होते हैं ये जबर्दस्त 6 फायदे

किशमिश के फायदे के बारे में आपने पहले भी जरूर पढ़ा होगा लेकिन यहां पर वैज्ञानिक रिसर्च पर आधारित कुछ ऐसे बेहतरीन फैक्ट बताए जा रहे हैं जो श...