शनिवार, 19 नवंबर 2011

सिर्फ एक घंटे में कहीं भी हमला कर सकता है अमेरिका, मंत्री ने भारत को बताया दुश्‍मन





होनोलुलू. अमेरिका ने ध्वनि की रफ्तार से पांच गुनी तेजी से उड़ सकने वाले हाइपरसोनिक बम वाहक का सफल परीक्षण किया। अब अमेरिका दुनिया में कहीं भी एक घंटे के अंदर हमला बोल सकता है।

सेना ने गुरुवार आधी रात के बाद लगभग एक बजकर 30 मिनट पर काउअई स्थित सेना के प्रशांत मिसाइल रेंज प्रतिष्ठान से ‘एडवांस्ड हाइपरसोनिक वेपन’ का परीक्षण किया। पेंटागन प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मेलिंडा मोर्गन ने बताया कि हथियार का ‘ग्लाइड व्हीकल’ आधे घंटे से भी कम समय में 3700 किलोमीटर दूर पहुंच गया।  

इस साल के शुरू में ‘कांग्रेशनल रिसर्च सर्विस’ ने एक रिपोर्ट में कहा था कि एडवांस्ड हाइपरसोनिक वेपन विश्व में कहीं भी तत्काल हमले की क्षमता विकसित करने के सेना के कार्यक्रम का हिस्सा है। इससे अमेरिका विश्व में कहीं भी पारंपरिक हथियारों के साथ एक घंटे से भी कम समय में ठिकानों को निशाना बना पाएगा।   पेंटागन ने बताया कि एडवांस्ड हाइपरसोनिक वेपन (एएचडब्ल्यू) का डिजाइन धरती के वातावरण में लंबी दूरी तक उड़ान भरने के लिहाज से तैयार किया गया है। इसकी गति ध्वनि से पांच गुना ज्यादा है। इस परियोजना पर 1200 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं, जबकि इस इस बम वाहक के परीक्षण पर 6.9 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।  

अमेरिकी रक्षा मंत्री ने भारत को बताया खतरा
 
अमेरिका के नए रक्षा मंत्री लिओन पनेटा ने अपने एक भाषण में शुक्रवार को ‘चीन और भारत को अमेरिका का दुश्मन’ बताया है। हालांकि, रक्षा मंत्रालय ने इस बयान को ‘उनकी गलती बताते हुए कहा कि पनेटा का यह मतलब नहीं था।’ कनेक्टिकट में एक पोत कारखाने में भाषण के दौरान पनेटा ने कहा, ‘चीन और भारत सरीखे उभरते देशों से हमें खतरा है। हमें सावधान रहते हुए यह सुनिश्चित करना होगा कि उनसे मुकाबला करने के लिए हमारे पास हमेशा पर्याप्त सेना मौजूद रहे।’

पनेटा का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बहुपक्षीय स्तर पर संबंधों को बेहतर करने की बात कही थी। इसके बाद प्रेस सचिव जॉर्ज लिटिल ने कहा, ‘पनेटा भारत को खतरे के रूप में नहीं देखते हैं।’ sabhar: bhaskar.com

 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

शादीशुदा पुरुष किशमिश के साथ करें इस 1 चीज का सेवन, होते हैं ये जबर्दस्त 6 फायदे

किशमिश के फायदे के बारे में आपने पहले भी जरूर पढ़ा होगा लेकिन यहां पर वैज्ञानिक रिसर्च पर आधारित कुछ ऐसे बेहतरीन फैक्ट बताए जा रहे हैं जो श...