Loading...

गुरुवार, 17 नवंबर 2011

जानिए कैसे,अब जल्दी ही पूरी होगी कभी बूढ़ा न होने की हसरत?

0






अब जल्द ही ,बढ़ती उम्र को रोक पाना हो जाएगा आसान  जवां रहने की चाहत किसे नहीं होती है ,चाहे वह प्राचीन काल के ऋषि मुनि हों या आज के आधुनिक वैज्ञानिक ,हर युग में सदैव जवां रहने और दिखने के लिए कुछ न कुछ उपाय या शोध किये जाते रहे हैं ,आयुर्वेद में भी रसायनों को चिर यौवन प्राप्त करने के लिए ही विकसित किया गया था। वर्तमान में भी वैज्ञानिक ऐसे तरीकों की तलाश में हैं , जो बढ़ती उम्र के प्रभाव को थोड़ा धीमा कर सके, या फिर शारीरिक क्षय की प्रक्रिया को रिवर्स कर दे।

यूनिवर्सिटी ऑफ  नार्थ केरोलीना के प्रोफे सर नोर्मन का कहना है, कि बढ़ती उम्र को धीमा करने की दिशा में किया जा रहा शोध बड़े ही सफल मुकाम पर है। अभी हाल ही में यूनाईटेड स्टेट्स में हुए शोध इस बात को दर्शा रहे हैं, कि बुजुर्गों की कोशिकाओं को स्टेम कोशिकाओं के रूप में पुन: विकसित कर बढ़ती उम्र को धीमा किया जा सकता है। अगर ऐसा हुआ तो यह एल्जाइमर,कैंसर एवं हृदय से सम्बंधित रोगों को मात देने में भी एक बड़ी कामयाबी होगी। 

लेकिन वैज्ञानिकों का यह भी मानना है, कि इस प्रकार के इलाज को विकसित करना एक कठिन कार्य है, तथा इससे मिलने वाले परिणामों की सख्त पड़ताल आवश्यक होगी। चिंता इस बात की है, कि यह बात तो महत्वपूर्ण है, कि इन कोशिकाओं को विकसित करना महत्वपूर्ण है ही, परन्तु इन्हें लेने वालों में कुछ संभावित खतरे भी हो सकते हैं। वर्ष 2010 में  चूहों पर किये गए अमेरीकी वैज्ञानिकों के अध्ययन ने टीलोमरेज नामक एंजाइम से चूहे की बढ़ती उम्र को रोकने में सफलता पायी थी, इसी प्रकार के एक दूसरे अध्ययन में जेनेटीकली मोड़ीफायड चूहे विकसित किये गए थे। ब्रिटिश जर्नल नेचर में प्रकाशित एक शोध पत्र के अनुसार हमारे शरीर में कुछ कोशिकाएं (सेनीसेंट सेल ) होती  हैं, जो अपने आप को पुनर्जीवित नहीं कर पाती हैं ,और यही कोशिकाएं बढ़ती उम्र के लिए जिम्मेदार होती हैं ,अगर इन कोशिकाओं को समय रहते समाप्त करने में पायी गयी सफलता हमें कैंसर ,हृदय रोग ,डेमेन्सीया जैसी बीमारियों को दूर  करने में मददगार सिद्ध होगी। वैज्ञानिक अब तक के इन शोध परिणामों से बड़े ही उत्साहित हैं ,और उनका कहना है, यदि इन शोधों पर पर्याप्त धन एवं प्रयास जारी रहा तो, वह दिन दूर नहीं ,जब हम जीवन को आगे बढाने के साथ साथ डाइबिटीज ,कैंसर एवं हृदय रोगों से असमय होनेवाली मृत्यु को टालने में कामयाब होंगे। sabhar : bhaskar.com

0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting