Loading...

रविवार, 18 सितंबर 2011

क्या मनुष्य एक समय में दो स्थानों पर भिन्य भिन्य अवस्थाओ में रह सकता है

0

जी हाँ हमारे ग्रंथो में यह वर्णन मिलता है की माया स्वरुप रावण दिखाई दिया या कृष्ण अपनी गोपिकाओ के साथ एक समय में ही रासलीला एक साथ करते थे | इसे विज्ञान की भी स्वीकृति मिल गयी है , यह सफलता वैज्ञानिकों को एक प्रयोग के दौरान संयोग से मिल गयी | वैज्ञानिकों ने पाया की एक यन्त्र एक ही समय में दो भिन्य भिन्य अवस्थाओ में बना रह सकता है, इस तरह यह मशहूर वैज्ञानिक आईंस्टीन के विचारों को सही साबित करती है जिसे उन्होंने खुद ही खारिज कर दिया था | यह मशीन चाँदी के बेहद पतले बेफर से बनाई गयी है , इंसान के द्वारा बनाया गया यह पहला यन्त्र है , जो रहस्मयी क्वांटम ऊर्जा के द्वारा संचालित होता है |क्वांटम थयूरी के अनुसार कोई सूछ्म बस्तु अलग अलग ऊर्जा अवशोषित करती है | वह एक जैसी कभी नहीं रह सकती और एक ही समय में दो भिन्य भिन्य स्थानों पर हो सकती है | आने वाले दिनों में इसे इंसान पर आजमाया जा सकता है | सन्दर्भ- विज्ञान प्रगती

0 टिप्पणियाँ :

एक टिप्पणी भेजें

 
Design by ThemeShift | Bloggerized by Lasantha - Free Blogger Templates | Best Web Hosting