सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

September 5, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

हर भारतीय पर ८५०० रुपये का कर्ज

एक अरब से अधिक आबादी और ३७ % गरीबी के बीच भारत के हर नागरिक पर करीब ८५०० रुपये का विदेशी कर्ज है यानी अगर कोई बच्चा जन्म लेता है तो वह भी करीब इतने कर्ज के बोझ से दबा होगा एक आर्थिक समीछा के अनुसार भारत का विदेशी कर्ज मार्च २००९ तक २२४ अरब डालर था यदि इसका एक ब्यक्ति का आधार बनाया जाय तो हर नागरिक पर करीब ८५०० रुपये का कर्ज बैठेगा